इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

The Bird Crow Importance | Kaag Ka Mahattav | कौवा पक्षी का महत्तव



       कौआ : आपके गृह में किसी अतिथि के आगमन की सुचना कौआ के आने से हे होती है. इसके अलावा ये भी माना जाता है कि कौआ पितरो के आश्रम का स्थल है. कौआ का रंग गहरा काला और इसकी लम्बाई लगभग 20 इंच होती है, इनमे नर और मादा दोनों एक ही प्रकार के दिखाई देते है. कौआ में एक खास बात ये है कि ये कभी भी अकेले भोजन नही करता है, यह हमेशा अपना भोजन अपने किसी साथी के साथ मिल बाँट कर ही खाता है. और अगर किसी कौआ की मृत्यु हो जाती है तो उस दिन उसका कोई भी साथी भोजन नही करता है.
CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
 
The Bird Crow Importance Kaag Ka Mahattav
The Bird Crow Importance

कौआ में और भी अनेक ख़ास बाते है जैसेकि कौआ मिलों तक बिना थके उडान भर सकता है. ये भी माना जाता है कि कौआ को भविष्य में होने वाली सारी घटनाओ का पहले से ही अंदाजा हो जाता है. इसके अलावा श्राद्ध पक्ष में तो कौआ का महत्व ओर भी अधिक बढ़ जाता है क्योकि मान्यता है कि इस पक्ष में कौआ को खाना खिलने का अर्थ है के आप अपने पितरो को खाना खिला रहे है.
 
कौवा पक्षी का महत्तव
कौवा पक्षी का महत्तव
 The Bird Crow Importance, Kaag Ka Mahattav, कौवा पक्षी का महत्तव, Future Viewer Crow,  Kauve Ka Mahattav,  कौवा पक्षी.



YOU MAY ALSO LIKE 

अध्यातम में हंस पक्षी का महत्तव
- धार्मिक पक्षी मोर
- मधुमेह या शुगर के कारण व् उपाय
- वास्तु शास्त्र में मधुमेह या शुगर होने के कारण
- वास्तु शास्त्र में मधुमेह या शुगर से बचाव
- मधुमेह के लिए ज्योतिषी उपाय
- धर्म में पक्षियों का महत्तव

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

4 comments:

  1. कौआ पछी के पृयोग बताईये

    ReplyDelete
    Replies
    1. विक्रम जी,

      कौए के महत्व और इसके प्रयोग के बारे में ऊपर जानकारी दी गयी है. आप कौए के कैसे प्रयोग के बारे में जानना चाहते है उसके बारे में स्पष्ट रूप से बतायें. आपकी तुरंत सहयता की जायेगी.

      संपर्क के लिए धन्यवाद

      जागरण टुडे टीम

      Delete
  2. mai yah jannaja chata hu ki agar kauve ka bachha ghonsale se gir jata hai aur ghonsla nasht ho jata hai to kya uske ma-baap usey usey dubara uthakar kisi ghaonsale me rakhte hain ya fir usey marne ke liye chod dete hain..

    ReplyDelete
    Replies
    1. Jagruk Times Ji,

      Sabse phle to baat ye ki koyal apne ghosle mein ande nahi deti or jab vo ande deti hai to uska male partner yaani ki kouva un andon ko seta hai or unka dhyaan rakhta hai. Koyal or kauva un kuch pakshiyon mein se hai jo dusron ke ghoslon mein rahte hai or haa agar anda surakshit hoga to kauva jrur use uthakar kisi dusre ghosle mein pahunchaa dega. kintu unchayi se girne baad ande ke surakshit hone ke chances bhi kam hee hote hai. Agar fir bhi aapko koi doubt rahta hai to aap dobara comment avashay karen.

      Sampark ke Liye Dhanyavaad
      Jagran Today Team

      Delete

ALL TIME HOT