इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

सच में:-

क्या सच में Made In India फ़ोन भारत में बनाते है | Kya Sach mein Made In India Phone Bharat mein Bante Hai

मेड इन इंडिया (  Made in India  ) अक्सर जब भी हम कोई प्रोडक्ट खरीदते है तो ये जरुर देखते है कि वो प्रोडक्ट किस कंट्री में बना है , आपने भ...

Kaan ke Dard ka Ilaaj | कान दर्द का इलाज



मेरे कान में कई बार बहुत तेज़ दर्द हो जाता था. मैंने प्राक्रतिक चिकित्सा के बारे में सुना और मैंने चिकित्सा शुरू की. शुरू में तो मुझे प्राक्रतिक चिकित्सा बहुत कठिन लगी फिर मैंने विचार किया की मुझे प्राकृतिक चिकित्सा करनी ही है. चाहे यह कितनी भी कठिन क्यों न हो. तीन दिन तक मैंने केवल जूस का सेवन किया. इसके बाद दो दिन तक केवल दूध का सेवन किया. इसके बाद दो दिन फलों का सेवन किया. अगले दिन केवल पानी ही पिया और फल खाए. दिन में तीन बार कान में तिल गर्म किया हुआ और लहसुन डाले. रोज़ तिल के तेल से मालिश की. प्रतिदिन पावडर की मालिश की. आँखों पर मिटटी व बर्फ की ठंडी पट्टी रखी. इस पट्टी से आंख और कान दोनों को आराम मिलता था. मुझे धुप स्नान दिया जाता था. इन सब इलाजों से मेरे कान का दर्द ठीक हो गया. कान में तिल का तेल डाला. कुंजल व गरारे भी किये. कुंजल व गरारे करने से दर्द में आराम मिला. मैंने एलोपथिक दवाइयां खाई लेकिन मेरे पेट का दर्द ख़त्म नहीं हुआ. प्राक्रतिक उपचार से मेरे कान और पेट का दर्द बिलकुल ठीक हो गया.
 
कान दर्द का इलाज
कान दर्द का इलाज
Kaan ke Dard ka Ilaaj, कान दर्द का इलाज, Kaan ke Dard ki Prakratik Chikitsa, कान के दर्द की प्राकृतिक चिकित्सा.
 
Kaan ke Dard ka Ilaaj
Kaan ke Dard ka Ilaaj


YOU MAY ALSO LIKE 

जल का शरीर में महत्तव
- सलाद या कच्चा भोज़न 
- कान दर्द का इलाज
- सिंचाई किसे कहते हैं
- 8th class science question answer
- आदमी का शरीर बहुत कमजोर और बेबस हो रहा है

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT