इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Real Estate Service

Cat and Mouse Tale A Political Story - कभी मित्र कभी घोर शत्रु एक चूहे बिल्ली की कहानी Chuhe Billi ki Kahani

कभी मित्र कभी घोर शत्रु  एक चूहे बिल्ली की कहानी - Cat and Mouse Tale A Polotical Story - Chuhe Billi ki Kahani आजकल बहुत बड़ा भोचाल आ...

Ulti Hone ka Ayurvedic Ilaaj | उल्टियों का आयुर्वेदिक इलाज

उल्टी आने पर क्या करें

अधिक बुखार के होने पर, अर्थार्त जब ज्यादा तबियत खराब हो जाती हैं तब हमे उल्टी आती हैं. उल्टी आने का मतलब हैं, हमारे शरीर की पाचन क्रिया ठीक ढंग से कार्य न कर पाना. हमारे शरीर की पाचन क्रिया का ठीक ढंग से न काम करने पर ही हमारे पेट का भोजन नही पच पाता. जिसका नतीजा यह होता है की हमारे पेट में थोडा – सा भी भोजन जाते ही हमे उल्टी आ जाती हैं, और जो भी हमने खाया होता हैं वो सब बाहर आ जाता हैं. उल्टी पर नियन्त्रण पाने के लिए भी हमारे पास घर की रसोई में कुछ ऐसे प्रदार्थ होते हैं जिनका उपयोग हम कर सकते है.  


1.        उल्टी आने पर अदरक और प्याज के रस का सेवन करने से उलटी आना बंद हो जाती है. इसके लिए 12 ग्राम अदरक के रस को लें, तथा 12 ग्राम प्याज के रस को लें. अब इन दोनों को मिलाए और रस को पी लें. अदरक और प्याज के रस को मिलाकर पीने से उल्टी नही आती. 


2.       उल्टी को नियंत्रित करने के लिए शहद और तुलसी के रस का सेवन करना बहुत ही लाभदायक होता हैं. इसके लिए तुलसी के रस में शहद को मिलाकर एक – एक चम्मच पिए. उल्टी आना बंद हो जाएगी.


3.       उलटी को बंद करने के लिए आजवायन और लौंग के मिश्रण का प्रयोग किया जा सकता हैं. इसके लिए अजवायन और लौंग में थोडा पानी मिलाकर पीस लें. अब इस मिश्रण को शहद के साथ चाटें. आपको उल्टियों से राहत मिलेगी.
CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
उल्टियों का आयुर्वेदिक इलाज
उल्टियों का आयुर्वेदिक इलाज

4.       पुदीने की पत्तियों का भी उपयोग उल्टी पर नियन्त्र पाने के लिए किया जा सकता हैं. इसके लिए 8 ग्राम पुदीने की पत्तियों को लें. उसको दो ग्राम सेंधा नमक के साथ पीस लें. अब एक गिलास ठंडा पानी लें, और उसमे इस मिश्रण को डालकर घोल लें. पुदीने की पत्तियों को पानी में मिलाकर पीने से उलटी बंद हो जाएगी, तथा इस पानी से शरीर को ठंडक भी मिलेगी. 


5.       निम्बू का रस पीना गर्मी में बहुत ही लाभकारी होता है. इससे हमारे शरीर में पानी की कमी पुर्ण हो जाती है. निम्बू पानी को पीने से भी उल्टियाँ बंद हो जाती हैं. इसके लिए दो गिलास पानी लें, और उसमे एक निम्बू को काटकर उसके रस को पानी में निचोड़ दें. अब एक चम्मच चीनी को तीन चम्मच पानी में मिलाकर थोड़ी - थोड़ी देर में इस पानी को पिये. उल्टियों से राहत मिलेगी.


6.       संतरे के छिलको के चुर्ण का उपयोग करने से भी उलटी आना बंद हो जाती हैं. संतरे के छिलको का चुर्ण बनाने के लिए छिलकों को कुछ दिनों तक सुखा लें. सूखे हुए चिलको को अच्छी तरह से पीसकर छिलको का चुर्ण बना लें. अब संतरे के छिलको के चुर्ण के साथ शहद को मिलाकर चाटें. उल्टियाँ रुक जाएगी.


7.       उलटी को बंद करने के लिए बिजौरा निम्बू का उपयोग करना बहुत ही फायदेमंद होता हैं. उलटी आने पर बिजौरा निम्बू को बीच से काट लें, अब निम्बू पर सेंधा नमक और काली मिर्च का चुर्ण छिडक कर चूसे. उल्टि आना बंद हो जाएगी. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
 
Ulti Hone ka Ayurvedic Ilaaj
Ulti Hone ka Ayurvedic Ilaaj

 Ulti Hone ka Ayurvedic Ilaaj, उल्टियों का आयुर्वेदिक इलाज, Ultiyon ka Deshi Upchar, Desi Upchar, Ultiyon ko Kaise Roken, Ultiyon ka Ilaaj, उल्टि गिरने का इलाज, उल्टी, Ulti, Vomiting Ayurvedic Treatment, Ulti Rokne ke Ghrelu Upaay, Nausea.





YOU MAY ALSO LIKE 

-   हैडफ़ोन कैसे काम करता है
अपच क्या है और अपच कैसे होती है
- सम्पूर्ण स्नान कैसे करें
- कुंडली में दुसरे घर के प्रभाव
- ग्रहों के कारण रोग
- बार कोड रीडर के कार्य

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT