इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Real Estate Service

सबकुछ बिकता है यहाँ ऑनलाइन प्रॉपर्टी डीलिंग पर – Online Property Dealing

सबकुछ बिकता है यहाँ ऑनलाइन प्रॉपर्टी डीलिंग पर – Online Property Dealing  सबकुछ बिकता है यहाँ ऑनलाइन प्रॉपर्टी डीलिंग पर आप...

Computer Case Kaise Kaam Karta hai | कंप्यूटर केस कैसे काम करता है | Explain Computer Case Works

कंप्यूटर केस

एक कंप्यूटर केस एक तरह से कंप्यूटर CPU का शरीर होता है जिसके अंदर कंप्यूटर के सभी जरुरी घटक होते है जैसेकि मदरबोर्ड, RAM, ROM, हार्डडिस्क और CD - Drive इत्यादि. कंप्यूटर केस को टावर, बॉक्स, हाउस, चेसी, और कैबिनेट के नाम से भी जाना जाता है. एक कंप्यूटर केस में आपके मदरबोर्ड, SMPS, हार्डडिस्क, और ड्राईवर को लगाने के लिए जगह दी होती है और इन्ही की मदद से आपके कंप्यूटर CPU के सभी हिस्से एक जगह पर आराम से लगे रहते है. इसीलिए आपको कंप्यूटर केस को खरीदने के लिए अच्छी कीमत देनी पड़ती है. इसके ठीक बीच में 4 से 5 खांचे बने होते है जो आपके सभी ड्राइव को पकड़ कर रखती है. 


कंप्यूटर केस के प्रकार :

कभी भी आप अपने कंप्यूटर के लिए केस खरीदने जाओ तो इस बात को हमेशा ध्यान में रखना की उसमे कितने स्लॉट दिए है और उसमे कितने ड्राइव लग सकते है. साथ ही आप इस बात को भी ध्यान में रखो कि केस आपके मदरबोर्ड के आकर के आधार पर हो. इन बातो के आधार पर ही आप अपने कंप्यूटर केस का चुनाव करना.


·         टावर केस : सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला कंप्यूटर केस टावर केस होता है. इनके इस्तेमाल का आधार इनकी ऊंचाई और इसके अंदर ड्राइव को पकड़ने के लिए दिए खांचे है. इसमें आपको आपके हर ड्राइव को लगाने के लिए जगह दी होती है. इसमें मदरबोर्ड को बीच में सेट किया जाता है और उसके आसपास बाकी ड्राइव्स को लगाया जाता है. इनकी कीमत भी सबसे ज्यादा होती है. 


·         फुल टावर केस : इनकी ऊंचाई टावर केस से थोड़ी ज्यादा होती है. ये लगभग 76 सेंटीमीटर की ऊंचाई के मिलते है. इनके अंदर 6 से 10 ड्राइव लगाने के लिए जगह दी होती है. ज्यादा ऊंचाई के होने की वजह से ये जगह भी ज्यादा घेरते है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
Computer Case Kaise Kaam Karta hai
Computer Case Kaise Kaam Karta hai

·         मिड टावर केस : इनका इस्तेमाल भी बहुत लोग करते क्योकि इनकी ज्यादा ऊंचाई नही होती, ये लगभग 45 से 60 सेंटीमीटर की ऊंचाई के होते है. इसके अंदर 2 से 4 ड्राइव लगाने के लिए जगह होती है साथ ही इसे अलग से CD / DVD के लिए जगह दी होती है. इसमें खांचो को 2 हिस्सों में बांटा जाता है. पहला इंटरनल ( Internal ) खांचे और दूसरा एक्सटर्नल ( External ) खांचे.


·         मिनी टावर केस : इनमे भी लगभग 2 से 3 इंटरनल खांचे दिए होते है जिनमे आप किसी ड्राइव को आसानी से सेट कर सकते हो. साथ ही इनकी ऊंचाई बहुत कम होती है ये लगभग 12 से 18 सेंटीमीटर की ऊँचाई में ही मिलते है. कम ऊंचाई होने के कारण भी आप इसमें ज्यादा ड्राइव का इस्तेमाल नही कर सकते. 


·         स्लिम लाइन केस : जिसकी इनके नाम से ही पता चल रहा है कि ये केस आकर में पतले होते है. इनमे आपके ड्राइव को खड़ा करके लगाया जाता है. साथ ही इसमें ज्यादा से ज्यादा चिप का इस्तेमाल करके बनाया जाता है. छोटा और पतला होने के कारण ये जगह भी बहुत कम घेरता है. 
Explain Computer Case Works
Explain Computer Case Works


·         SFF ( स्माल फॉर्म फैक्टर ) केस : ये केस दिखने में छोटे से बॉक्स या किताब की तरह होते है. इनको बनाया ही इसीलिए गया था ताकि कंप्यूटर केस के आकर को और भी छोटा किया जा सके और ये आपके टेबल पर ज्यादा जगह न ले. इनको आप अपने डेस्कटॉप के नीचे भी आसानी से रख कर इस्तेमाल कर सकते हो. इसीलिए इन्हें डेस्कटॉप केस भी कहा जाता है. बाजार में ये अलग अलग साइज़ के और अलग अलग ड्राइव्स की संख्या के आधार पर मिलते है. 


·         पोर्टेबल केस : बाजार में मिलने वाले से सबसे हलके और छोटे केस होते है. इनका इस्तेमाल नोटबुक, लैपटॉप, टेबलेट और  PDA ( पर्सनल डिजिटल असिस्टेंट ) जैसेकि पालमटॉप और ब्लासबेर्री के लिए किया जाता है. 


ज्यादातर कंप्यूटर केस धातु के बने होते है और इसी वजह से इनके कोने बहुत ही नुकीले होते है. तो आप जब भी अपने कंप्यूटर केस को खोलो तो उसे ध्यान से इस्तेमाल करना.


हर कंप्यूटर केस के अपने ही अलग फायदे और नुकसान है जैसेकि फुल टावर केस ये बड़ा है इसलिए इसमें आपके कंप्यूटर के सभी यंत्र और घटक आसानी से लग जाते है साथ ही उन्हें कार्य करने के लिए उचित हवा भी मिलती है किन्तु ये जगह बहत घेरते है. वही स्लिम लाइन और मिनी केस छोटे है तो उनमे कंप्यूटर के घटकों को पर्याप्त जगह नही मिलती किन्तु वे जगह बहुत ही कम घेरते है तो आपको अपने कंप्यूटर केस को बहुत ही सोच समझ कर, अपनी जरूरत के हिसाब से ही चुनना चाहिए.
 
कंप्यूटर केस कैसे काम करता है
कंप्यूटर केस कैसे काम करता है

 Computer Case Kaise Kaam Karta hai, कंप्यूटर केस कैसे काम करता है, Explain Computer Case Works, Computer Case, Types of Computer Case, Computer Case ke Prkar, कंप्यूटर केस के प्रकार, CPU Body.



YOU MAY ALSO LIKE 

-   रुके कार्य पूरे करने के ज्योतिषी उपाय
नौकरी पाने के टोने टोटके
- कंप्यूटर केस कैसे काम करता है
- आयुर्वेदिक औषधि आलू बुखारा
- कंठमाला के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सा
- अटके हुए कार्य पूरे करने के टोटके

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT