इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

8th class science question answer, CBSE Board, Hindi Medium, Exam Question Answer



Q. यदि गहुँ को खरीफ ऋतू में उगाया जाये तो क्या होगा? --- Genhu Ki fasal ko Khrif Ritu mein Ugaya Jaaye to kya hoga?
उतर. रबी फसल होने के कारण गेहूं को केवल शीत ऋतु में  ही उगाया जा सकता है. जून से सितम्बर तक खरीफ ऋतु होती है. इस ऋतु में बारिश ज्यादा होती है, इसलिए इस ऋतु को बारिश की ऋतू भी कहते है. यदि इस बरसात मौसम में गेहूं को उगाया जायेगा तो आवश्यकता से अधिक पानी मिलने के कारण फसल गलकर ख़राब जाएगी और सारी फसल बरबाद हो जायेगी. 


Q --- खेत में लगातार फसल उगाने से क्या होगा व्याख्या कीजिएKhet mein lagatar Fasal ugane se kya hoga

उत्तर --- लगातार फसल उगाने से मिट्टी की उपजाऊ क्षमता कम हो जाती है और मिट्टी में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है. पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए किसान मिट्टी में खाद और उर्वरक डालते है. इस कमी को पूरा करने के लिए एक दूसरा तरीका फसल चक्रण है. इसमें किसान एक फसल के बाद दूसरी फसल उगाते है. इससे मिट्टी में नाइट्रोजन की कमी पुरी होती है और मिट्टी की उपजाऊ छमता बनी रहती है.


Q. खरपतवार क्या है? हम उनका नियंत्रण कैसे कर सकते है? Kharpatwar kya hai? Hum kaise in par niyantran kar sakte hai

उत्तर. खरपतवार से हमारा अभिप्राय उन पोधों से है जो की खेत में बिना बोए अपने आप उग आते है. इन्ही बेकार के पोधों को खरपतवार कहतें है.इनको हटाना बहुत जरूरी होता है. इन पोधों को हटाने से फसल की सही प्रकार से वर्द्धि होती है.ये खरपतवार मनुष्यों और जानवर दोनों के लिए खतरनाक भी हो सकते है. इनको नियंत्रित करने के कई तरीके होते है---


अ.    फसल उगाने से पहले खेत जोता जाता है. खेत जोतने से खरपतवार पोधे सुखकर नष्ट हो जाते है.

आ.  पुष्पण बनाने से पहले खुरपी या फेरों के द्वारा या हाथ से खरपतवार पोधों को उखाड़कर खेत से बाहर फेंक दिया जाता है.


इ.      खरपतवार पोधों को ख़त्म करने के लिए खरपतवार नाशक रसायनों  या दवाइयों का प्रयोग किया जाता है. रसायनों और दवाइयों से खरपतवार पोधे सुख कर मर जाते है.


Q. खुरपी, दरांती, हल, बेलचा इत्यादि का प्रयोग कहाँ और कैसे करते है?

उत्तर. खुरपी, दरांती, बेलचा आदि खेती करने के औज़ार है. इनका प्रयोग खेती करने के लिए करते है.


खुरपी- खुरपी के द्वारा मिट्टी को खोदकर क्यारी बनाई जाती है. खुरपी खरपतवार हटाने के कम भी आती है


दराँती- दराँतीफसल काटने का औजार है इससे फसल कटी जाती है.

बेलचा – बेलचा की मदद से मिट्टी या अनाज भरा जाता है

हल – खेत की जुताई के लिए हल का प्रयोग किया जाता है. खरपतवार को खोदकर निकालने और मिट्टी खुरचने के लिए भी हल का प्रयोग किया जाता है.



प्रश्न. यदि कुछ बीज पानी में डालकर रखें तो कुछ मिनट के बाद कुछ बीज पानी पर तैरने लगते हैं. क्यों? Yadi kuch beejon ko paani mein dal kar rakhen to kuch minute ke baad kuch beej paani par tarne lagte hai.

उतर. खोखले और ख़राब बीज हलके होने के कारण पानी पर तैरने लगते हैं.इस विधि के द्वारा किसान अच्छे बीजों का चयन करते हैं 



प्रश्न. कुछ पोधे अन्य पोधों की तुलना में ज्यादा अच्छी तरह से क्यों उगते हैं?

उत्तर. जिन पोधों को खाद्य पदार्थ पानी, खनिज पदार्थ,खाद, उर्वरक पुरी मात्रा में मिल जाते हैं वे पोधे अन्य पोधों की तुलना में ज्यादा अच्छी तरह से उगते हैं.
CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
8th class science question answer, CBSE Board, Hindi Medium, Exam Question Answer
8th class science question answer


8th class science question answer, CBSE Board, Hindi Medium, Exam Question Answer, Genhu Ki fasal ko Khrif Ritu mein Ugaya Jaaye to kya hoga, Khet mein lagatar Fasal ugane se kya hoga. 


YOU MAY ALSO LIKE 


स्वादिस्ट गोभी की सब्जी
- साबुत मसाले वाले आलू स्पेशल
- उर्वरक खाद से किस पारकर भिन्न है
- सिंचाई किसे कहते हैं
- 8th class science question answer
- पालक पनीर का स्वाद और जायका 
- सुंदर व् गर्म गर्लफ्रेंड कैसे बनाये पटायें  

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT