इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Chakkar Aane Ke Ayurvedic Upchar | चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार | Ayurveda Treatment for Dizziness



चक्कर आने से पहले हमें सतर्क हो जाना चाहिए चक्कर आना एक कमजोरी का कारण है लेकिन हमें यह रोग अधिक हानि भी पहुंचा सकता है जिसके कारण यह जानलेवा भी बन सकता है इस रोग से हमें   दूर होना है इस रोग से बचने का उपाय जानिए और अधिक लाभ उठाइए.


 हमें भोजन अच्छे से खाना चाहिए. और अधिक से अधिक रक्त (खून) बढ़ाने वाली सब्जियां खानी चाहिए. जैंसे हरी सब्जी आदि और फल तो आप जितना खाऔगे आपको उतना ही लाभ मिलेगा जैंसे- अनानास, अनार, आदि भी कई फल हैं   


अगर किसी के पेट में दर्द हो, तो पेट में खराबी हो सकती है इसके कारण भी हमें चक्कर आ सकते है किसी को भी जब चक्कर आने शुरु होते है तो आप अपने घर में गर्म पानी करके उसमें नीम्बू डाल कर पी सकते हो. और आपको बहुत आराम मिलेगा. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
 
Ayurveda Treatment for Dizziness
Ayurveda Treatment for Dizziness

आपके घर में मुनक्के (काजू किसमिस) हों तो उन्हें शुद्ध घी में तल कर या सेंक कर और उसमें हल्का सा नमक डाल कर रोज खांए और आपको एक दो हप्ते में चक्कर आने बंद हो जायेंगे.


अगर आपको ज्यादा गर्मी में चक्कर आते हों तो खट्टी चीजों का उपयोग करें. जेंसें आंवला, निम्बू, माल्टा आदि का प्रयोग करें. चक्कर से बचने के लिए इन चीजों का अधिक से अधिक उपयोग करें. 


आप के घर में तुलसी का पेड़ हो तो उसके पत्ते तोड़कर और पत्तों का रस निकाल कर  उसमे मिश्री को मिलाकर उसे पानी में डालकर अच्छी तरह घोलें और उसे रोगी को पिला दें तभी रोगी को आराम मिलेगा.
 
Chakkar Aane Ke Ayurvedic Upchar
Chakkar Aane Ke Ayurvedic Upchar

आप रोगी को चार चम्मच धनिया पावडर को पानी में मिला कर पिला दें रोगी को आराम मिलेगा अगर आपको ज्यादा परेसनियाँ या दुःख पंहुचा रही हो तो आप चिकित्सक की सलाह जरूर लें. कभी-कभी हमें चक्कर तो आते हैं मगर हमें पता नहीं चलता है की हम कब जमीन पर गिर पड़े इसीलिए हमें जब भी  चक्कर आते हैं तो हमें तुरंत नीचे बैठ जाना चाहिए. और हमें चक्कर आना बंद हो जाते हैं तब हमें थोड़ा आराम मिलता है.
 
चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार
चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार

 Chakkar Aane Ke Ayurvedic Upchar, चक्कर आने के आयुर्वेदिक उपचार, Ayurveda Treatment for Dizziness, Chakkar Aane ka Ilaaj, Remedy for Dizziness, Ayurveda Cure for Disease, चक्कर आने का आयुर्वेदिक इलाज.



YOU MAY ALSO LIKE 

स्कैनर और उसके प्रकार
मूलांक क्या है वर्णन कीजिये
- साउंड कार्ड कैसे कॉन्फ़िगर करें
- हार्ड डिस्क क्या होती है
- प्रिंटर और उसके प्रकार

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

  1. Kya heart ke bagahe se chakker ate he and eska treatment kya he

    ReplyDelete

ALL TIME HOT