इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Bar Code Reader ke Karya | बार कोड रीडर के कार्य | Works of Bar Code Reader

बार कोड रीडर ( Bar Code Reader )

एक बार कोड रीडर कंप्यूटर हार्डवेयर का वो इनपुट डिवाइस है जिसका इस्तेमाल उन जानकारियों को पढ़ना होता है जिनको बार कोड में दिया हो. इन्हें प्राइस स्कैनर और POS ( Point of Scale ) भी कहा जाता है. एक बार कोड रीडर के अंदर एक स्कैनर ( बार कोड को स्कैन करने के लिए ), एक डिकोडर ( बार कोड को डिकोड करने के लिए ) और एक केबल होती है जिसकी मदद से इसे कंप्यूटर के साथ जोड़ा जाता है. बार कोड किसी भी जानकारी की अपनी कोई भाषा नही बनता बल्कि ये सारी जानकारी को डिकोड करके कंप्यूटर सॉफ्टवेर के पास भेज देता है जिसमे लगे सॉफ्टवेर बार कोड की भाषा को समझ कर कार्य करते है. बार कोड का इस्तेमाल बहुत ही आसान होता है, इसे आप कंप्यूटर के साथ जोड़ने के बाद अपने हाथ में पकड़ कर या फिर एक स्टैंड के साथ लगा कर आसानी से इस्तेमाल कर सकते हो. 


बार कोड रीडर का कार्य :

एक बार कोड अपना कार्य इसमें से निकलने वाली लाइट बीम के किसी बार कोड पर पड़ने और इस लाइट बीम के उस बार कोड से वापस आने के आधार पर करता है. आपने कोई न कोई बार कोड तो देखा होगा, उसमे कुछ काली रेखाएं होती है तो कुछ सफ़ेद रेखाएं. जब काली रेखाएं पर लाइट बीम पड़ती है तो बहुत ही कम लाइट बीम वापस आती है लेकिन जब लाइट बीम सफ़ेद रेखाओं पर पड़ती है तो लाइट बीम भी अधिक मात्रा में वापस आती है और इसी के आधार पर बार कोड रीडर सारी जानकारी को डिकोड करता है. बार कोड रीडर में लगा स्कैनर वापस आई इस लाइट एनर्जी को इलेक्ट्रिक एनर्जी में बदल देता है जो फिर डिकोडर के द्वारा एक डाटा में तब्दील कर दी जाती है. उसके बाद इस डाटा को कंप्यूटर के पास भेज दिया जाता है. वहां जाने के बाद कंप्यूटर के सॉफ्टवेर अपने आप ही इस डाटा को एक भाषा में तब्दील करके कार्य का निष्कर्ष निकल लेते है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...  
Bar Code Reader ke Karya
Bar Code Reader ke Karya

बार कोड रीडर को इनस्टॉल करे :

बार कोड स्कैनर या रीडर को उनके कंप्यूटर के साथ जोड़ने वाली केबल के आधार पर तीन तरह से इनस्टॉल किया जाता है. जिसके लिए आप नीचे दिए गये कदमो को अपना सकते हो – 


·         USB बार कोड स्कैनर को इनस्टॉल करे :

स्टेप 1 : सबसे पहले आप बार कोड रीडर के साथ आई USB केबल के एक हिस्से को बार कोड रीडर से और दुसरे हिस्से को कंप्यूटर के साथ जोड़े.


स्टेप 2 : अब आप आपके बार कोड रीडर के साथ आई CD / DVD को अपने कंप्यूटर में डाल कर उसे इनस्टॉल करे. आप इसे इनस्टॉल करने के लिए कंप्यूटर स्क्रीन पर दिए निर्देशों का पालन करे.


स्टेप 3 : अब आप अपने बार कोड रीडर को अपने टेबल पर अच्छी तरह से सेट कर ले और अगर आप बार कोड रीडर का इस्तेमाल इसको हाथ में पकड़ कर करना चाहते हो तो आप इसका ध्यान से इस्तेमाल करे.


स्टेप 4 : इसके बाद आप बार कोड स्कैनर के चिह्न पर जाकर इसे ओपन करे और आप जिस भी बार कोड को स्कैन करना चाहो उसे स्कैन करे. जब भी आप किसी बार कोड को स्कैन करोगे, तो उससे जुडी सारी जानकारी आपको आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखाई देगी.


·         PS / 2 बार कोड स्कैनर को इनस्टॉल करे :

स्टेप 1 : इसके लिए आप सबसे पहले अपने कंप्यूटर सिस्टम को बंद का दे और उसमे से अपने कीबोर्ड को अलग कर ले.


स्टेप 2 : इसके बाद आप अपने कीबोर्ड केबल के पोर्ट में बार कोड रीडर की PS /2 केबल को लगा ले. आप चाहे तो pass through port का भी इस्तेमाल कर सकते हो. इसका फायदा ये होता है कि आप एक समय पर कीबोर्ड और बार कोड स्कैनर दोनों को कंप्यूटर से जोड़ सकते हो.


स्टेप 3 : अगर आप pass through port का इस्तेमाल कर रहे हो, तो आप उसमे अपने कीबोर्ड को भी जोड़ ले.


स्टेप 4 : अब आप अपने कंप्यूटर को ऑन करके उसे बूट ( boot ) कर ले. इसके बाद आप अपने कंप्यूटर में बार कोड सॉफ्टवेर इनस्टॉल करने की डिस्क को डाले, जो आपको आपके सॉफ्टवेर को खरीदते वक्त मिली होगी.


स्टेप 5 : डिस्क को डालने के बाद आप उसे इनस्टॉल करे और अब आप अपने कंप्यूटर स्क्रीन पर दिए निर्देशों का पालन करे. इसमें आपसे आपके ड्राईवर और आपकी बार कोड एप्लीकेशन से सम्बंधित जानकारियों के बारे में भी पूछा जा सकता है.


स्टेप 6 : इसके बाद आप अपने बार कोड रीडर को जहाँ सेट करना चाहो सेट कर सकते हो. 


स्त्पे 7 : अब आप अपने कंप्यूटर में बार कोड स्कैनर की एप्लीकेशन पर जाकर क्लिक करे और उसे ओपन करे और स्कैन करना शुरू करे. जब भी कोई बार कोड स्कैन किया जाएगा, उससे सम्बंधित सारी जानकारी आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर दी जाएँगी. जिनके आधार पर आप अपने स्कैन के कार्य को कर सकते हो. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
Works of Bar Code Reader
Works of Bar Code Reader

·         Serial बार कोड स्कैनर को इनस्टॉल करे :

स्टेप 1 : आप अपने कंप्यूटर को बंद कर दे और स्कैनर में सीरियल केबल को जोड़े. 


स्टेप 2 : अब आप पॉवर सप्लाई को विधुत के साथ जोड़े और उसके साथ ही आप आउटलेट में भी एक पॉवर कार्ड को जोड़े.


स्टेप 3 : अब आप अपने बार कोड रीडर की केबल को CPU में पीछे गुलाबी रंग के पोर्ट में लगाये. आपको पोर्ट में 9 से 16 पिन होल ( Pin Hole ) मिलते है. 


स्टेप 4 : कंप्यूटर को ऑन करे और आप सीरियल बार कोड स्कैनर के साथ आई CD / DVD को कंप्यूटर में लगाये और इनस्टॉल करे. 


स्टेप 5 : आप कंप्यूटर स्क्रीन पर दिए निर्देशों का पालन करते हुए इंस्टालेशन को पूरा करे और सारे सॉफ्टवेर और ड्राइव को इनस्टॉल करे. 


स्टेप 6 : अब आप अपने बार कोड स्कैनर को जहाँ चाहो वहां सेट कर ले और बार कोड स्कैनर एप्लीकेशन को ओपन करे. 


स्टेप 7 : आप अब किसी भी सामान पर लगे बार कोड को स्कैन करके चेक कर ले कि सीरियल बार कोड स्कैनर काम कर रहा है या नही. जब आप बार कोड को स्कैन करते हो तो बार कोड से जुडी सारी जानकारियां आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखाई जाएँगी.


बार कोड रीडर के प्रकार :

बार कोड रीडर के मुख्यतः 5 प्रकार होते है जो निम्नलिखित है.

1.       Pen wands : ये बार कोड रीडर सबसे साधारण बार कोड रीडर होते है. इनका इस्तेमाल करना आपके लिए थोडा मुश्किल हो सकता है क्योकि इसको इस्तेमाल करने के लिए आपको बार कोड को इसकी बीम के नीचे बिलकुल ठीक तरीके से एक एंगल पर लगाना पड़ता है, साथ ही आपको बार कोड को इसकी बीम के नीचे हिलाना होता है ताकि ये उसे डिकोड कर सके. ये अपने टिकाऊ और कम कीमत के होने की वजह से बहुत जाने जाते है.


2.       Slot Scanner : इनके इस्तेमाल के लिए भी आपको बार कोड को इनकी लाइट बीम के नीचे हिलाना पड़ता है, साथ ही ये बार कोड को सिर्फ पहचान कार्ड पर ही स्कैन करता है.
 

3.       CCD ( Charge Couple Device ) Scanner : इनको इस्तेमाल करना बहुत ही आसान होता है. ये बहुत तेज गति से काम करते है. आपको बार कोड को सिर्फ इनके नीचे 1 इंच की दुरी तक लाना होता है और ये बार कोड को स्कैन कर लेता है. जिनती बार भी इसके नीचे बार कोड को लाया जाता है ये उतनी ही बार कुछ जानकारियों को आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखा देता है, जिससे गलती की संभावनाए बहुत कम हो जाती है. इनमे एक कमी ये होती है कि ये अपने मुहं से ज्यादा चौड़े बार कोड को स्कैन नही कर पाते.


4.       Image Scanner : इन्हें कैमरा स्कैनर और कैमरा रीडर भी कहा जाता है. ये बार कोड को स्कैन करने के लिए एक छोटे से कैमरा की सहायता लेता है. जिसके बाद ये एक जटिल डिजिटल इमेज बनाता है जिसकी मदद से ये बार कोड को डिकोड करता है. ये बार कोड को अपने से 3 से 9 इंच की दुरी से भी आसानी से स्कैन कर लेता है. साथ ही ये लेज़र स्कैनर से बहुत कम कीमत पर मिलते है.


5.       Laser Scanner : इनको आप अपने हाथ में पकड़ कर भी इस्तेमाल कर सकते हो, साथ ही आप इसे किसी टेबल पर भी लगा कर इस्तेमाल कर सकते हो. ये किसी भी बार कोड को स्कैन करने के लिए एक शीशे और लेंस का इस्तेमाल करता है. साथ ही ये 24 इंच की दुरी से भी आसानी से बार कोड को स्कैन कर सकता है. किसी भी गलती से बचने के लिए एक लेज़र स्कैनर एक सेकंड में 500 से भी ज्यादा बार स्कैन करता है. कुछ ऐसे ख़ास लेज़र स्कैनर भी आते है जो 30 फीट की दुरी से भी बार कोड को स्कैन करने की क्षमता रखते है.


बार कोड रीडर के लाभ :

-    इनसे आप जानकारियों को आसानी से एक साथ इस्तेमाल कर पाते हो.

-    इन्हें आप आसानी से अपने हाथ में पकड़ कर भी इस्तेमाल कर सकते हो.

-    इनका काम करने का तरीका आसान होता है, साथ ही ये तेज गति से भी काम करते है.

-    इनकी मदद से आप आसानी से किसी भी जानकारी का रिकॉर्ड रख सकते हो.

-    इनकी सबसे ख़ास बात है इनकी एक्यूरेसी ( Accuracy ). अगर आप कीबोर्ड से डाटा को डालते हो तो आप 1000 बटन में से 10 बटन की गलती करते हो, किन्तु बार कोड 10,000 बटन में सिर्फ 1 बटन को गलत करता है, वो भी गलती से.


बार कोड रीडर की हानि :

-    कुछ बार कोड रीडर ऐसे है जो जानकारियों को पढने के लिए बहुत समय लेते है और उनके नीचे बार कोड को एक निश्चित कोण पर लाना पड़ता है.

-    ये टिकाऊ नही होते साथ ही टूट भी बहुत जल्दी जाते है.

-    अगर इनसे किसी स्क्रैच हुए बार कोड को डिकोड करते है तो ये गलत डाटा दे देता है.

-    ये डाटा को डिकोड करने के बाद खुद उसे कोई भाषा नही दे पाते.

 
बार कोड रीडर के कार्य
बार कोड रीडर के कार्य

 Bar Code Reader ke Karya, बार कोड रीडर के कार्य, Works of Bar Code Reader, How Install Bar Code Reader, Bar Code Reader, Types of Bar Code Reader, Advantages and Disadvantages of Bar Code Reader, Bar Code Reader ke Prkar, बार कोड रीडर के प्रकार. Haryana mein Bar Code Reader.




YOU MAY ALSO LIKE 

-   हीट सिंक के कार्य
कंप्यूटर हार्डवेयर को समझाइए
- सम्पूर्ण स्नान कैसे करें
- कुंडली में दुसरे घर के प्रभाव
- ग्रहों के कारण रोग
- बार कोड रीडर के कार्य

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT