इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Hernia ke Kaaran or Laksha | हर्निया के कारण और लक्षण | Causes and Symptoms of Hernia

हर्निया ( Hernia )
हर्निया का अर्थ होता है आँतों का उतरना, अर्थात जब पेट की दीवार के केविटी से आंते बाहर निकालनी शुरू हो जाती है तो उस अवस्था को हर्निया कहा जाता है. ये बहुत ही पीडादायी स्थिति है क्योकि एक बार आँतों के उतर जाने के बाद जब तक इसे वापस ठीक नहीं किया जाता तब तक असहनीय दर्द निरंतर होता रहता है, जो बढ़ता रहता है. इस दर्द के कारण अनेक लोग अपने प्राण तक त्याग देते है. CLICK HERE TO KNOW आँतों के उतरने के घरेलू आयुर्वेदिक उपचार ... 
Hernia ke Kaaran or Laksha
Hernia ke Kaaran or Laksha
देखा जाएँ तो हर्निया कोई रोग है ही नहीं बल्कि ये तो आपके उदार की दीवार की निर्बलता और कमजोरी को दर्शाता है. जब भी हम कोई अधिक भर वाला सामान उठाते है तो आंते अपनी जगह से हिलकर खली स्थानों पर चली जाती है, जिससे ये समस्या उत्पन्न होती है. ये एक ऐसा भयंकर रोग है जिसको जानते हुए भी लोग इसके बारे में अधिक विचार नहीं करते और यही उनकी भूल होती है. क्योकि जब इसकी पीड़ा सताती है तो उन्हें अपनी भूल पर पछताने का मौक़ा भी नहीं मिलता. आज हम हर्निया होने के कुछ कारण, लक्षण और हर्निया के प्रकारों के बारे में पढेंगे.

हार्निया के प्रकार ( Type of Hernia ) :
हर्निया मुख्यतः 4 प्रकार का होता है जो निम्नलिखित है.

§ नाभि या अम्बिलिकल हर्निया ( Umbilical Hernia ) : ये हार्निया का सबसे आम रूप कहा जाता है क्योकि इसमे रोगी को पेट में समस्या होती है. हर्निया के इस प्रकार में पेट की सबसे अधिक कमजोर मांसपेशी नाभि से बाहर निकाल आती है. हार्निया के इस प्रकार का शिकार अधिकतर वे लोग होते है जिनका वजन अधिक होता है. नाभि हार्निया के भी तीन प्रकार होते है – CLICK HERE TO KNOW रक्त विकार कारण और लक्षण ... 
हर्निया के कारण और लक्षण
हर्निया के कारण और लक्षण
1.शैशव नाभि हर्निया : अगर शिशु अधिक जोर से खांसता है या छींकता है तो दबाव के कारण उसकी नाभि बाहर की तरफ निकल जाती है और वो इसका शिकार हो जाता है. इस स्थति में शिशु की नाभि स्पष्ट रूप से बाहर नजर आने लगती है.

2.जन्मजात नाभि बाह्य हर्निया : जैसाकि नाम से ही पता चलता है कि ये शिशु को जन्म से ही होती है. अगर इसका समय पर इलाज नहीं किया जाता तो ये अधिक घातक हो जाती है.

3.व्यस्क परनाभि हर्निया : ये सामान्य हर्निया है जो किसी भी उम्र के लोगों को अपना शिकार बना लेता है. ये स्त्रियों में प्रसव के दौरान या गर्भधारण के दौरान अधिक होती है.

§ वंक्षण हर्निया ( Inguinal Hernia ) : ये हार्निया लोगों के जांघ के जोड़ों में होती है. इस हर्निया में अंडकोष अपना स्थान जांघ की नाली से होते हुए नीचे की तरफ खिसका लेता है. जिससे अंडकोषों का आकार धीरे धीरे बढ़ने लगता है. इसमें ऐसा प्रतीत होता है कि अंडकोष में सुजन आ गयी है. ये एक नयी बिमारी हाइड्रोसिल को भी जन्म दे देता है. इस रोग का शिकार मुख्य रूप से पुरुष ही होते है.
Causes and Symptoms of Hernia
Causes and Symptoms of Hernia
§ फीमोरल हर्निया ( Femoral Hernia ) : हमारे पैरों में एक धमनी होती है जिसका मुख्य कार्य होता है कि वो हमारे पैरों में खून की कमी को पूरा करें. किन्तु कुछ मामलों में पेट के कुछ अंग जांघ से होते हुए पैरों की इस धमनी में पहुँच जाते है और इन धमनियों के मुंह से बाहर निकलने लगते है. इसी अवस्था को फीमोरल हर्निया कहा जाता है. इस हार्निया का मुख्य शिकार स्त्रियाँ होती है और ये हर्निया के सभी प्रकारों से पीड़ित रोगियों का कुल 20 % होता है.

§ इन्सिजनल हर्निया ( Insignal Hernia  ) : अगर आपने पेट की कभी सुर्जरी कराई है तो आपके उन स्थानों से पेट के कुछ अंग बाहर आने की कोशिश करने लगते है अगर ये संभव हो जाता है तो ये हर्निया का प्रतिक होता है. ये अवस्था बहुत दर्ददायी होती है.

हर्निया के कारण ( Causes of Hernia ) :
-   भरी वजन का उठाना ( Lift Heavy Weight ) : हर्निया मुख्यतः तब होता है जब हम कोई भारी वजन उठाते है.

-   धुम्रपान ( Smoking ) : धुम्रपान शरीर में गैस और धुएं को जमा करता है जिससे शरीर में गर्मी पैदा होती है और पेट की दीवारे कमजोर हो जाती है. ये हर्निया को बढ़ावा देता है.
Aanton ke Utarne ki Vjah
Aanton ke Utarne ki Vjah
-   जन्म जात ( By Birth ) : जैसाकि हर्निया के प्रकारों में हमने जाना कि ये जन्म से भी शिशु को अपना शिकार बना सकता है.

-   चोट लगना ( Because of Wound ) : अगर आपने पेट या जांघ में कभी चोट लगी है और आपकी धमनियों का मुंह खुला रह गया है तो ये स्थिति भी हर्निया होने का कारण बनती है.

-   मोटापा ( Obesity ) : मोटापा अनेक बीमारियों को जन्म देता है. क्योकि मोटापा होने पर शरीर में अधिक स्थान रिक्त रहता है, जिससे आंते अपने स्थान से आसानी से खिसक जाती है और हर्निया को जन्म देती है.

-   पुरानी खांसी ( Old Cough ) : पुरानी खांसी या फिर सांस की बिमारी होने से बार बार आपके पेट पर दबाव पड़ता है जिससे पेट की व्यवस्था बिगड़ जाती है.

-   पेट की मांसपेशियों का कमजोर होना ( Weak Stomach Muscles ) : अगर पेट की मांसपेशियां ही कमजोर होंगी तो आपके पेट की दीवारे तो अपने आप ही कमजोर हो जायेगी और इस तरह ये आँतों को व्यवस्थित नहीं रख पाती और आप हर्निया के शिकार हो जाते हो.

-   मूत्र मार्ग में समस्या ( Problem in Urinary System ) : हार्निया का एक कारण अंडकोष से भी जुड़ा हुआ है तो मूत्र मार्ग में अवरोध होने पर मूत्राशय में पानी भरना शुरू हो जाता है और अंडकोष का आकार बढ़ जाता है जोकि हर्निया का ही एक प्रकार है.
आंत उतरना
आंत उतरना
हर्निया के लक्षण ( Symptoms of Hernia ) :
·     नाभि के स्थान पर असहनीय दर्द ( Pain in Navel ) : हर्निया मुख्यतः पेट से जुड़ा रोग है तो जब भी कोई व्यक्ति इसका शिकार होता है तो उसे सबसे पहले उसकी नाभि में बहुत दर्द होने लगता है. धीरे धीरे उसके पेट का आकार बड़ा होने लगता है.

·     आँतों का बहार आना ( Feels Swelling of Intestine ) : आपको ऐसा महसूस होने लगता है जैसेकि आपकी आंते पेट से बाहर आने लगती है. इसको आप अपनी नाभि से जांच भी सकते हो. अर्थात अगर आपकी नाभि उठी हुई प्रतीत होती है तो आपको हर्निया है.

·     ज्यादा छींक आना ( Sneezing ) : वैसे तो अधिक छींकों के आने से आपको हर्निया की बिमारी होती है किन्तु हर्निया के हो जाने के आपको अधिक छींक आने लगती है.

·     पेशाब करने में परेशानी ( Problem in Urine ) : अगर आपको पेशाब करने में परेशानी या समस्या हो रही है तो भी आपको हर्निया का खतरा होता है.
हर्निया
हर्निया
·     उल्टी ( Vomiting ) : हर्निया होने पर ना तो व्यक्ति कुछ खा ही पाता है बल्कि वो उल्टी करते करते अपने पेट को भी खाली कर देता है. इस तरह से रोगी की दशा दयनीय हो जाती है.

·     पेट में भारीपन ( Heaviness in Stomach ) : पेट में भारीपन महसूस होना भी हर्निया का ही एक लक्षण है. अगर आपको इनमे से की भी लक्षण महसूस होता है तो आपको तुरंत किसी अच्छे चिकित्सक से सलाह लेनी चाहियें, साथ ही आप आयुर्वेदिक उपायों को भी अपना सकते हो.


हर्निया के अन्य कारण लक्षण और उसके घरेलू आयुर्वेदिक देशी उपचारों के बारे में अधिक जानने के लिए आप हमे तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Naabhi ke Baahar Nikalne Ka Kaaran
Naabhi ke Baahar Nikalne Ka Kaaran
Hernia ke Kaaran or Laksha, हर्निया के कारण और लक्षण, Causes and Symptoms of Hernia, Aanton ke Utarne ki Vjah, Hernia, हर्निया, आंत उतरना, Harnia, Naabhi ke Baahar Nikalne Ka Kaaran, Pet ki Maaspeshiyon ke Kamjor Hone par Preshaaniyan, Femoral Hernia, Inguinal Hernia



YOU MAY ALSO LIKE  

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

19 comments:

  1. kiya hai gharelu nuskha for hernia please tell to us

    ReplyDelete
    Replies
    1. To know Home Remedies for Hernia, click on the link given below -

      http://www.jagrantoday.com/2016/03/aanton-ke-utarne-ke-ghrelu-aayurvedic.html

      After reading the post, If you have any doubt left comment us again.

      Thankyou for Comment
      Jagran Today Team

      Delete
    2. हाईटस हार्निया पेट के किस भाग मे होता है

      Delete
  2. hello mujhey andkosh ke upr harniya h eska kya upay h ......

    ReplyDelete
  3. mujhy andkosh ke nechy harniya h ....

    ReplyDelete
  4. बाये तरफ जहाँ पर पसली समाप्त होता है उसके ठीक नीचे में पेट दर्द कर रहा है।यह दर्द आज सुबह से ही है। इसके पहले कभी दर्द नहीं था । दर्द का क्या कारण हो सकता है ?

    ReplyDelete
  5. HARNIA KE GHARELU UPAY BATAIYE PLEASE

    ReplyDelete
  6. बाई तरफ पेट के निचले हिस्से में नाभिं के बाई तरफ हल्का दर्द रहता हे क़भी हल्का सा टेस्टकिल में भारीपन महसूस होता हे और हल्का दर्द होता हे

    ReplyDelete
  7. मेरे बच्चे कि उम्र महज 50 दिन है और ऊसे Umbilical Hernia हुआ है। डॉक्टर ने सर्जरी करने को बोला है क्या कम उम्र के चलते इसे टाला नही जा सकता?

    ReplyDelete
  8. 8mont ka sisu uska ankosh hi nahin hai nabhi ke niche kbhi 2 sooghn as jati hai malish karane ke baad sooghan kam ho jati hai pllees tritment

    ReplyDelete
  9. This may not be conceivable in light of the fact that the individual may change occupations and be in the middle of employments; or they might be utilized with an office which does not give scope to low maintenance representatives or transitory workers; or it may be on account of you are still in school and considering, and so on. best surgeons in Va

    ReplyDelete
  10. Inguinal harniya ka gharelu ilaaj kiya hai plz btao sir

    ReplyDelete
  11. Maine abhi abhi harniya ka operation karaya h is me ek gola type ka maansh nikla h kya harniya m aisa hota h

    ReplyDelete
  12. hello sir मेरी उम्र 24 साल है वह मेरे, वृक्षों हर्निया हो गया है तथा डॉक्टर ऑपरेशन के लिए बोल रहे हैं क्या बिना ऑपरेशन के ठीक हो सकता है क्या

    ReplyDelete
  13. हेलो सर मैं जब पैदल चलता हूं जब वृषण में सूजन आ जाता है तथा कुछ देर बाद वापिस सूजन खत्म हो जाता है क्या यह हर्निया है या नहीं मैंने डॉक्टर को दिखाया था डॉक्टर ने हर्निया बताया ऑपरेशन के लिए बोला है क्या बिना ऑपरेशन के ठीक हो सकता है

    ReplyDelete
  14. हमारे पेट के निचले भाग में दायीं तरफ पैल्विक के थोडा नीचे दर्द होरहा है कृपया बताएं यह क्या हो सकता है ।
    ए पी सिंह

    ReplyDelete
  15. हमारे पेट के दायीं साइड में दायें पैर तथा testies के बीच में कुछ दर्द 2 दिन से हो रहा है।बताये यह क्या है तथा क्या इलाज करना है ।

    ReplyDelete
  16. Meri Vomet Ruk nhi rhi h Kuch b khao Ya piyo to Vomet ho rhi h plz plz plz tell me remedy of hernia...

    ReplyDelete
  17. हमारे पेट के दायीं साइड में दायें पैर तथा testies के बीच में कुछ दर्द 15 दिन से हो रहा है।बताये यह क्या है तथा क्या इलाज करना है ।

    ReplyDelete

ALL TIME HOT