इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Klah Nivarak Jyotishi Upay | कलह निवारक ज्योतिषी उपाय | Quarrel Solution Astrology Measures

गृह क्लेश से निवारण
कुछ परिवारों में सब कुछ होते हुए भी छोटी छोटी बातो पर घर में क्लेश होने लगता है. कहा जाता है कि रिश्तो की डोर बहुत ही नाजुक होती है, फिर चाहते वह पति पत्नी की हो, सास बहु की हो, पिता पुत्र की हो, या फिर भाई भाई की हो. एक घर में सब एक साथ रहते है तो कभी कभी किसी न किसी बात पर इनमे से किन्ही का आपस में टकराव हो जाता है. अगर बात सिर्फ नोक झोक तक ही हो तो ठीक है, लेकिन अगर बात गृह क्लेश का रूप लेने लगे तो इससे घर का वतावरण तनावपूर्ण हो जाता है. जिससे आपके परिवार के हर सदस्य का जीवन कष्टपूर्ण हो जाता है तो इसिलिये आपको अपने घर में क्लेश से बचना चाहिए और अपने परिवार के हर सदस्य के बीच एक अच्छा रिश्ता बनाये रखने के प्रयास करने चाहिए. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
कलह निवारक ज्योतिषी उपाय
कलह निवारक ज्योतिषी उपाय

गृह क्लेश के निवारण से पहले आपको ये पता होना चाहिए कि आपके घर में किन बातो पर गृह क्लेश हो सकते है ताकि आप उन स्थितियों को संभाल कर अपने घर में क्लेश को टाल सके.

दाम्पत्य जीवन में ग्रह क्लेश :
घर में गृह क्लेश के अनेक कारण हो सकते है उन्ही में से एक है पति और पत्नी के बीच में तनाव. ये कारण किसी भी घर में क्लेश का मुख्य कारण होता है. इनके बीच का कलह कई बार तो इतना बढ़ जाता है कि इनके बीच में तलाक तक की नौबत तक आ जाती है. इसीलिए जब भी एक लड़के और लड़की का विवाह किया जाता है तो इनके गुणों को मिलाया जाता है, साथ ही उनकी जन्म पत्रिका भी देखी जाती है ताकि ये पता लगाया जा सके कि अगर इनका विवाह होता है तो भविष्य में ये दोनों खुश रह पाएंगे या नही. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार एक दम्पति के बीच में गृह क्लेश के कुछ और कारण भी हो सकते है जो निम्नलिखित है –
Klah Nivarak Jyotishi Upay
Klah Nivarak Jyotishi Upay

-    लड़के और लड़की की पत्री में सप्तम भाव में शनि का होना या गोचर करना भी दम्पति के जीवन में गृह क्लेश का कारण होता है.

-    अगर आपके सप्तम और अष्टम भाव पर किसी पापी ग्रह की दृष्टी हो तो या फिर इनमे राहू, केतु या सूर्य का विराजना भी गृह क्लेश को बढ़ावा देता है.

-    अगर पति – पत्नी की दशा एक जैसी है या उनकी दशा में शनि की साढ़े साती है तो गृह क्लेश इतना बढ़ जाता है जिसमे दम्पति के जीवन में तलाक की नौबत भी आ जाती है.


-    शुक्र की गुरु में दशा का चलना या गुरु में शुक्र की दशा का चलना भी एक कारण है.
Quarrel Solution Astrology Measures
Quarrel Solution Astrology Measures


Klah Nivarak Jyotishi Upay, कलह निवारक ज्योतिषी उपाय, Quarrel Solution Astrology Measures, Grah Klesh ke liye jyotishi Upaay, dampatya jivan me kalah, saas bahu me klah, gharelu klah aadi or uske upay, parivar me sukh, manshik shanti, कलह – क्लेश से निवारण के उपाय.


YOU MAY ALSO LIKE 

-  ऑप्टिकल ड्राइव के प्रकार
 ऑप्टिकल ड्राइव को इनस्टॉल करे
कलह निवारक ज्योतिषी उपाय
अनानास का पथरी बैचनी रोगों के लिए प्रयोग
अनानास से अजीर्ण पेट के रोग सूजन मूत्र रोग का इलाज
VLC Media में सबटाइटल डाले

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT