इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

सच में:-

क्या सच में Made In India फ़ोन भारत में बनाते है | Kya Sach mein Made In India Phone Bharat mein Bante Hai

मेड इन इंडिया (  Made in India  ) अक्सर जब भी हम कोई प्रोडक्ट खरीदते है तो ये जरुर देखते है कि वो प्रोडक्ट किस कंट्री में बना है , आपने भ...

Hichki ke Deshi Ilaaj ya Hichki Kaise Band Karen | हिचकी के देशी इलाज या हिचकी कैसे बंद करें

हिचकी को कैसे रोकें

     हिचकी को कैसे रोका जा सकता हैं. इसके बारे में जानने से पहले हम यह जान लेते हैं की हीचकी क्यूँ आती हैं. जब भी हमें हिचकी आती हैं तो अधिकतर लोग यही कहते हैं की जब कोई आपको याद करता हैं तो आपको हिचकी आती हैं. लेकिन क्या इसी वजह से हिचकी आती है. नहीं हिचकी हमारे डायफ्राम के सिकुड़ने के कारण आती हैं. डायफ्राम एक माँसपेशी होती है. जिसकी हमारे साँस लेने की प्रक्रिया में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है. डायफ्राम एक ऐसी माँसपेशी है जो हमारी छाती के खोखल को हमारे पेट के खोखल से अलग करती है. हमारे फेफड़ों में हवा भरने के लिए डायफ्राम का सिकुड़ना बहुत ही जरुरी होता हैं. हमें हिचकी क्यों आती है इसका कारण डायफ्राम को नियंत्रित करने वाली इसकी नाड़ियाँ होती हैं जो की बहुत ही उत्तेजित होती हैं. जिसकी वजह से डायफ्राम तेजी से सिकुड़ता हैं, और हमारे फेफड़े तेजी से हवा को अंदर खींचते हैं. ऐसा जोर – जोर से हँसने के कारण होता हैं. तेज मसाले वाला खाना खाने से भी हो जाता हैं और जल्दी – जल्दी खाना खाने से भी होता हैं. हिचकी हमारे फेफड़ों से हवा को बाहर निकालने का जरिया होती है. हीचकी रोकने के लिए लिए हम कुछ घरेलू उपायों का प्रयोग कर सकते हैं. जो की निम्नलिखित हैं-


1.       हिचकी को बंद करने के लिए 10 या 12 ग्राम तुलसी की डाल को लें, 10 या ग्राम काली मिर्च के दानें लें. 2 या 4 गर्म छोटी इलायची को लें. अब इन तीनो एक साथ पीसकर इनका महीन चुर्ण बना लें. अब 3 या 4 ग्राम शहद लें, और इसे चुर्ण में अच्छी तरह से मिला लें. अब इस चुर्ण का सेवन करें. आपकी हिचकी जल्द ही रुक जाएगी, तथा इस चुर्ण को खाने से आपके गले को ठंडक भी मिलेगी.


2.       अगर आपको हिचकी आ रही हो तो आपको तुंरत ही एक गिलास पानी पी लेना चाहिए. आपकी हिचकी तुरंत ही ठिक हो जाएगी. हिचकी को रोकने का एक और उपाय है उपाय यह हैं, की अगर आपको हिचकी आ रही हो तो आप शरबत भी बना कर पी सकते हैं. शरबत को पीने से भी हिचकी रुक जाती हैं. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
Hichki ke Deshi Ilaaj ya Hichki Kaise Band Karen
Hichki ke Deshi Ilaaj ya Hichki Kaise Band Karen

3.       सोंठ को सूंघने से भी हिचकी रुक जाती हैं. हिचकी को रोकने के लिए थोडा पानी लें. अब थोड़ा सोंठ लें. अब सोंठ को पानी में घिसकर सूंघ लें. आपको हिचकी आना बंद हो जाएगी.


4.       अदरक , काली मिर्च और निम्बू के रस का प्रयोग करके के भी हीचकी को रोका जा सकता हैं. इसके लिए थोडा सा अदरक का रस लें. 5 या 6 दाने काली मिर्च लें. एक चम्मच नींबू का रस लें. अब काली मिर्च को पीसकर उसका चुर्ण बना लें, तथा उसे अदरक और नींबू के रस में डालकर मिला ले. अब इस रस को जब तक की हिचकी रुक न जाये, तब तक चाटे. आपकी हिचकी रुक जाएगी.


5.       मूली के पत्तों का प्रयोग भी हिचकी को रोकने के लिए किया जा सकता हैं. हिचकी को बंद करने के लिए मूली के 3 या 4 पत्ते लें और उसे आराम – आराम से चबाएं. आपकी हिचकी रुक जाएगी.  

 
हिचकी के देशी इलाज या हिचकी कैसे बंद करें
हिचकी के देशी इलाज या हिचकी कैसे बंद करें

 Hichki ke Deshi Ilaaj ya Hichki Kaise Band Karen, हिचकी के देशी इलाज या हिचकी कैसे बंद करें, हिचकी के आयुर्वेदिक उपचार, Hichki ke ayurvedic upchar, Hichki ko kaise roken, Hiccups Treatment.




YOU MAY ALSO LIKE 

-   हीट सिंक के कार्य
कंप्यूटर हार्डवेयर को समझाइए
- कंप्यूटर केस कैसे काम करता है
- प्रकर्ति द्वारा कार्य संपन्न
- स्पीकर्स क्या होते है
- स्मार्ट कैसे बनें

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT