इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Joystick ke karya or Parkar Bataao | जॉयस्टिक की कार्य और प्रकार बताइए | Explain Joystick Works and Types

जॉयस्टिक ( Joystick )
जॉयस्टिक का इस्तेमाल ज्यादातर हवाई जहाजो में पायलट के द्वारा किया जाता है किन्तु आधुनिकीकरण ने इस तकनीक को अलग ही मुकाम पर पहुंचा दिया है इसीलिए आज इसका इस्तेमाल आप कंप्यूटर खेलते वक़्त भी कर सकते हो. इसके अलावा अब जॉयस्टिक का इस्तेमाल क्रेन, ट्रक और व्हीलचेयर में भी किया जाने लगा है. जॉयस्टिक कंप्यूटर का एक इनपुट डिवाइस होता है जो आपको कंप्यूटर के प्रोग्राम को संचालित करने में मदद करता है. आप जॉयस्टिक को हर दिशा में घुमा सकते हो और इसी तरह से जॉयस्टिक कंप्यूटर को भी हर दिशा के बारे में जानकारी देता है. साथ ही इनमे कुछ बटन भी दिए होते है जिनको जॉयस्टिक पर इस तरह से स्थापित किया जाता है कि कंप्यूटर इनसे सिग्नल और जानकारी को आसानी से पढ़ सके और उसके आधार पर अपना काम कर सके.  

जॉयस्टिक के कार्य :
एक जॉयस्टिक ज्यादातार तीन तरह के मोशन पर काम करती है – पहला फॉरवर्ड, दूसरा बैकवर्ड और तीसरा साइड तो साइड. इन सभी गतियो को एक कैमरे में पैन, टिल्ट और ज़ूम कण्ट्रोल की तरह देखा जाता है. साथ ही इसमें आपकी उंगलियों के मोशन को ध्यान में रखने के लिए एक Fingertip Controller भी लगा होता है. जो आपके हाथो की गति और हलचल को महसूस करके कंप्यूटर तक सिग्नल पहुंचता है. इसमें दिया पैन मोशन आपकी दिशाओ को निर्धारित करता है. जैसेकि अगर आप जॉयस्टिक को पूर्व, पश्चिम, उत्तर और दक्षिण की दिशा में घुमाते हो तो इन सबको कण्ट्रोल करने का काम पैन मोशन करता है. इसमें आप गेम खेलते वक़्त किसी भी दिशा में आसानी से जा सकते हो क्योकि इसे Three Dimension के आधार पर बनाया गया है. इसका कैमरा आपको आपके गेम को ज़ूम ( Zoom ) करने की सुविधा भी देता है. 


जॉयस्टिक को हैंडल करना बहुत ही आसन होता है. इसमें आपको ऊपर एक स्टिक ( Stick ) मिलती है आप उसे अपनी उंगलियों से पकडे और अपने अंगूठे से आप ऊपर दिए हुए बटन को नियंत्रित करे. इस तरह से आप जॉयस्टिक का अच्छी तरह से इस्तेमाल कर सकते हो, साथ ही ऐसे आपको अपने गेम को खेलने के लिए भी जॉयस्टिक के हर बटन पर पूरी पकड़ मिल जाती है.
CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...

 
जॉयस्टिक की कार्य और प्रकार बताइए
जॉयस्टिक की कार्य और प्रकार बताइए
जॉयस्टिक के प्रकार :
हर जॉयस्टिक का अलग अलग मॉडल होता है और उसी के आधार पर जॉयस्टिक के प्रकार को बांटा गया है. जो निम्नलिखित है – 


1.       डिजिटल जॉयस्टिक : इस जॉयस्टिक को आप सबसे ज्यादा देखते हो, क्योकि कंप्यूटर में इनका सबसे अधिक इस्तेमाल होता है. इसको आप दायी, बायी, ऊपर और नीचे आसानी से इस्तेमाल कर सकते हो. इन्हें “ Atari – style ” डिजिटल जॉयस्टिक भी कहा जाता है.


2.       पडल ( Paddle ) जॉयस्टिक : पडल जॉयस्टिक एक नॉब ( Knob ) के आधार पर काम करती है और उसी से गेम को संचालित किया जाता है, साथ ही इसमें एक बटन भी दिया जाता है जिसे firing बटन कहा जाता है. ये जॉयस्टिक में सबसे ज्यादा पुरानी जॉयस्टिक मानी जाती है. इसलिए जब घर पर सबसे पहला विडियो गेम खेला गया तो उस वक़्त इसी जॉयस्टिक का इस्तेमाल किया गया था. इनमे गेम की हलचल को पहचानने के लिए Potentiometer का इस्तेमाल किया जाता है. 

3.       एनालॉग जॉयस्टिक : ये एक ऐसी जॉयस्टिक है जिसमे डिजिटल और पडल जॉयस्टिक दोनों के कांसेप्ट मिले है. इसीलिए ये गेम को डिजिटल जॉयस्टिक के तरीके से संचालित करते है साथ ही ये पडल जॉयस्टिक की तरह ही गेम की हलचल को पहचानने के लिए Potentiometer का इस्तेमाल भी करते है.  
 
Joystick ke karya or Parkar Bataao
Joystick ke karya or Parkar Bataao
4.       PC एनालॉग जॉयस्टिक : अपने निजी कंप्यूटर में इस्तेमाल करने के लिए IBM ने इसे सबसे पहले इस्तेमाल के लिए निकला था. ये साधारण एनालॉग जॉयस्टिक की तरह ही काम करती है किन्तु इसमें उससे थोड़े ज्यादा बटन दिए जाते है और साथ ही इसे एक USB की मदद से कंप्यूटर के साथ जोड़ा जाता है. 

5.       जॉयपैड : इनमे पकड़ने के लिए स्टिक ही नही होती बल्कि उसकी जगह आपको D – Pad की सहायता से दिशाओ को नियंत्रित करना होता है. जॉयपैड बिट साधारण के आधार पर काम करने वाला यंत्र है लेकिन ये विडियो गेम खेलने के लिए बहुत ही उपयुक्त माने जाते है. 

जॉयस्टिक को इस्तेमाल करने के फायदे:
-     इसमें इस्तेमाल के लिए ज्यादा फंक्शन दिए होते है. इसीलिए जब भी आप जॉयस्टिक की मदद से गेम खेलते हो तो आप बहुत ही आरामदायक महसूस करते हो और आपके हाथो को भी आराम मिलता है.

-    इसके अलावा जब आप जॉयस्टिक की मदद से गेम खेलते हो तो आपको गेम खेलने में एक अलग ही आनंद आता है और आप गेम से पूरी तरह से जुड़ पाते हो. 

जॉयस्टिक को इस्तेमाल करने की नुक्सान:
-    इनको आप हर कंप्यूटर के साथ नही जोड़ पाते हो क्योकि इनके कई मॉडल को तो कुछ खास कंप्यूटर के साथ जुड़ने के लिए ही बनाया जाता है. 

-    साथ ही अगर आप एक अच्छी जॉयस्टिक नही खरीदते हो तो इसके काम करने में भी कई बार दिक्कते आने लगती है.

ये सिर्फ चुनिंदा गेम को खेलने की ही अनुमति देती है जैसेकि Fighting गेम, Shooting गेम या फिर flight गेम. 

Explain Joystick Works and Types
Explain Joystick Works and Types

Joystick ke karya or Parkar Bataao, जॉयस्टिक की कार्य और प्रकार बताइए, Explain Joystick Works and Types, Benefits of Joysticks, Merits and Demerits of Joysticks in Hindi, Joysticks ke laabh or Nuksaan, जॉयस्टिक के फायदे और नुक्सान.




YOU MAY ALSO LIKE 

-   फोटो की विडियो में आवाज डालें
विडियो में अपनी आवाज कैसे डालें
- मसूड़ों की सोजन का देसी इलाज
- किस्मत बदलने के उपाय और टोटके
- कर्ज परेशानी दूर करने का उपाय
- जॉयस्टिक की कार्य और प्रकार बताइए

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT