इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Graphic Card ko Kaise Install Karen | ग्राफ़िक कार्ड को इनस्टॉल करें | How to Install Graphic Card

ग्राफ़िक कार्ड को इनस्टॉल करें :
 एक ग्राफ़िक कार्ड को इनस्टॉल करना बहुत ही आसान है, इसके लिए आपको तीन चीजों की जरूरत होती है : एक ग्राफ़िक कार्ड, कंप्यूटर और पेंचकस. 

स्टेप 1 : सबसे पहले आप अपने कंप्यूटर के केबल को मेन प्लग से हटा दो ताकि आपको करंट न लगे.

स्टेप 2 : उसके बाद आप अपने कंप्यूटर CPU को खोल लें. अगर आपके कंप्यूटर में पहले से कोई पुराना या खराब ग्राफ़िक कार्ड लगा है तो आप उसको हटा कर नये को लगा दें और ऐसा नही है तो आप अपने कंप्यूटर मदरबोर्ड में हीटसिंक के पास एक स्लॉट को ढूंढे जिस पर PCI – E * 16 लिखा होगा. ये हीटसिंक के पास पहला या दूसरा स्लॉट होता है.

स्टेप 3 : जब आपको ये स्लॉट मिल जाये तो आप अपने ग्राफ़िक कार्ड को इसमें आराम से और अच्छी तरह लगा दें, साथ ही ये भी निश्चित कर लें की आपके ग्राफ़िक कार्ड के स्लॉट के साथ पॉवर केबल लगी हो क्योकि गर ग्राफ़िक कार्ड को काम करने के लिए विधुत की जरूरत होती है और ग्राफ़िक कार्ड को विधुत से जोड़ने के लिए PCI – E केबल का इस्तेमाल किया जाता है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
Graphic Card ko Kaise Install Karen
Graphic Card ko Kaise Install Karen


स्टेप 4 : अपने कोम्प्टर के CPU को बंद कर दें और अपने कंप्यूटर की पॉवर केबल को लगा कर कंप्यूटर को ऑन कर लें. 

स्टेप 5 : इसके बाद आपको एक लेटेस्ट ग्राफ़िक कार्ड ड्राईवर की जरूरत होगी ताकि आपका ग्राफ़िक कार्ड कंप्यूटर में काम करना शुरू कर दे और इसे आप किसी भी ड्राईवर निर्माता कंपनी की वेबसाइट से आसानी से डाउनलोड कर सकते हो. 

स्टेप 6 : ग्राफ़िक कार्ड के ड्राइव का साइज़ लगभग 300 MB तक होता है. जब आप उस ड्राईवर को डाउनलोड कर चुके हो तो आप उसे इनस्टॉल करें और अपने कंप्यूटर को रीस्टार्ट करे.
आपका ग्राफ़िक कार्ड काम करने के लिए पूरी तरह से तैयार है. एक बार ग्राफ़िक कार्ड के इनस्टॉल होने के बाद आप किसी भी गेम को आसानी से खेल सकते हो आपको उसकी पिक्चर की बेहतरीन गुणवत्ता मिलते है और साथ ही ग्राफ़िक का भी एक अलग ही इफ़ेक्ट आता है.

ग्राफ़िक कार्ड के प्रकार :
एक ग्राफ़िक कार्ड के कई प्रकार होते है तो जब भी कोई व्यक्ति ग्राफ़िक कार्ड खरीदने जाता है तो उसके इतने प्रकार को देख कर ग्राफ़िक कार्ड को चुनने में थोडा उलझ जाता है. ग्राफ़िक कार्ड के कई प्रकार होने के बावजूद भी ग्राफ़िक कार्ड को 4 वर्गों में बांटा गया है जो निम्नलिखित है – 

1.       Integrated : जब भी किसी ग्राफ़िक कार्ड की व्याख्या इंटीग्रेटेड से की जाती है तो इसका सीधा सा मतलब ये है कि उस ग्राफ़िक कार्ड का संबंध कंप्यूटर मदरबोर्ड से है और इसी वजह से इंटीग्रेटेड ग्राफ़िक कार्ड को on – board ग्राफ़िक कार्ड भी कहा जाता है. हर कंप्यूटर में इंटीग्रेटेड ग्राफ़िक कार्ड के लिए स्लॉट होता है. इंटीग्रेटेड ग्राफ़िक कार्ड सबसे कम पावरफुल विविधता वाला ग्राफ़िक कार्ड होता है इसलिए अगर आप इंटीग्रेटेड ग्राफ़िक कार्ड का इस्तेमाल करते है तो आप उसकी गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए उसे अपग्रेड जरुर कर लें.

2.       PCI : PCI ग्राफ़िक कार्ड वे कार्ड है जिनको कंप्यूटर मदरबोर्ड में एक PCI स्लॉट के जरिये जोड़ा जाता है. ये भी आधुनिकीकरण की वजह से धीरे धीरे अपना स्थान खोते जा रहे है लेकिन अभी इनके अस्तित्व को इतना खतरा नही है क्योकि कई कंप्यूटर ऐसे है जिनमे अब भी PCI स्लॉट आता है और आप उसका इस्तेमाल कर सकते हो. लेकिन आपको इसका इस्तेमाल करने के लिए इसको अपग्रेड करना बहुत जरुरी है.
 
How to Install Graphic Card
How to Install Graphic Card

3.       AGP : इन ग्राफ़िक कार्ड को अब PCI ग्राफ़िक कार्ड की जगह इस्तेमाल किया जाता है.  इनके लिए भी अब कंप्यूटर मदरबोर्ड में एक स्लॉट दिया जाता है. AGP कार्ड 4 गति ( 1*, 2*, 4* और 8* ) पर काम कर सकता है और इसकी सबसे तेज़ गति 8* है. अगर आपका कंप्यूटर मदरबोर्ड सिर्फ 4* गति तक का ही है तो ये सिर्फ 4* पर ही काम करेगा नाकि आप इसकी असली गति को देख पाओगे. 

4.       PCI – EXPRESS : PCI – EXPRESS ग्राफ़िक कार्ड को PCI – E ग्राफ़िक कार्ड भी कहा जाता है. ये सबसे ज्यादा एडवांस ग्राफ़िक कार्ड है और इसीलिए इसकी गति भी सबसे ज्यादा अधिक होती है. इसके लिए भी कंप्यूटर मदरबोर्ड में एक स्लॉट दिया जाता है. इनकी अधिकतम स्पीड AGP ग्राफ़िक कार्ड की अधिकतम गति से दुगनी होती है मतलब इसकी गति 16* होती है.   

एक अच्छे ग्राफ़िक कार्ड के कार्य को उसके Frame rate के आधार पर चुना जाता है, ग्राफ़िक कार्ड के frame rate को FPS ( Frame Rare Per second ) के आधार पर नापा जाता है. एक इंसान की आँख हर सेकंड में लगभग 25 फ्रेम बनती है, लेकिन किसी भी गेम को खेलने के लिए कम से कम 60 फ्रेम हर सेकंड के फ्रेम रेट के आधार पर काम करना पड़ता है और इसीलिए एक अच्छे ग्राफ़िक कार्ड की आवश्कता होती है. 

ग्राफ़िक कार्ड का हार्डवेयर भी सीधे रूप से उसकी गति को प्रभावित किया जाता है. ग्राफ़िक कार्ड से जुड़े कुछ हार्डवेयर जो उसकी गति को प्रभावित करते है वो निम्नलिखित है –
·         GPU की क्लॉक गति ( MHz )
·         मेमोरी की क्लॉक रेट ( MB में )
·         मेमोरी का साइज़ ( बिट में )
·         ग्राफ़िक कार्ड की मेमोरी कितनी है ( MB में )
·         मेमोरी की Bandwidth ( GB/s )
·         RAMDAC गति ( MHz )
ग्राफ़िक कार्ड के काम करने में कंप्यूटर मदरबोर्ड भी बहुत मदद करता है क्योकि वो इससे जुड़ा होता है.

ग्राफ़िक कार्ड के लाभ :
-    ये बहुत ही छोटे और पतले होते है.
-    इनका वजन भी हल्का होता है.
-    इसके अनेक मॉडल मिलते है.
-    इनका डिजाईन भी अच्छा होता है और ये DVD प्लेयर से भी मिलते है.
-    इनके लिए कंप्यूटर में अलग से एक स्लॉट दिया जाता है.

ग्राफ़िक कार्ड के नुकसान :
-    इसकी गति को आप सिमित मात्रा में ही बढ़ा सकते हो.
-    इसके लिए कंप्यूटर में एक ख़ास हार्डवेयर की जरूरत होती है.
-    इनकी पॉवर सप्लाई ओपन होती है.
-    इसके साथ इस्तेमाल की जाने वाली पॉवर केबल बहुत छोटी होती है.
अगर ये अपने स्लॉट से थोडा सा भी हिल जाये तो आपको पुरे कंप्यूटर CPU को खोल कर इसे ठीक करना पड़ता है.
 
ग्राफ़िक कार्ड को इनस्टॉल करें
ग्राफ़िक कार्ड को इनस्टॉल करें

 Graphic Card ko Kaise Install Karen, ग्राफ़िक कार्ड को इनस्टॉल करें, How to Install Graphic Card, Types of Graphic Cards, Graphic Card ke Parkar, Graphic Card Installation, Graphic Card ke Fayde or kamiyaan, ग्राफ़िक कार्ड के गेदे और कमियां.



YOU MAY ALSO LIKE 

स्मार्टफोंस यूटूयुब विडियो कैसे डाउनलोड करें
HTML में इमेज डाले
- आयुर्वेद में अंगूर का महत्तव
- देसी उपचार के लिए अंगूर
- ग्राफ़िक कार्ड के कार्य समझाइये

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT