इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Bhavan Nirmaan Hetu Vaastu Upay | भवन निर्माण हेतु वास्तु उपाय

भवन निर्माण हेतु वास्तु उपाय
1.    भवन या व्यापारिक स्थल – यदि आपको नया घर बनवाना हैं या कार्यस्थल बनवाना हैं. तो इन दोनों का निर्माण करते हुए कभी – भी संगमरमर या ग्रेनाईट पत्थर का इस्तेमाल बिल्कुल न करें. क्योंकि इन दोनों पत्थरों का इस्तेमाल करने से चुम्बकीय प्रभाव में व्यवधान उत्पन्न होता हैं. जिससे भवन या व्यापारिक स्थल पर नकारात्मक ऊर्जा का प्रसार होता हैं. जिसका प्रभाव व्यापारिक स्थल पर तथा भवन में रहने वाले सदस्यों पर भी पड़ता हैं और उन्हें विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं.

2.    प्रवेश द्वार – वास्तुशास्त्र के अनुसार घर के वास्तु दोष के निवारण हेतु घर के मुख्य द्वार पर चार – चार इंच तांबे की धातु से बना हुआ यंत्र लगाना चाहिए.

इसके अलावा आप वास्तु दोष के अशुभ प्रभाव को घर से दूर रखने के लिए घर के प्रवेश द्वार के मध्य ऊपर दीवार में स्थान बनाकर गणेश जी की प्रतिमा को भी स्थापित कर सकते हैं. गणेश जी को विघ्नहर्ता कहा जाता हैं. गणेश जी की पूर्ति को स्थापित करने से गणेश जी आपके घर पर आने वाले सभी विघ्नों को हर लेंगें. इन दोनों ही उपायों को करने से आपके घर पर वास्तु दोष का प्रभाव नहीं पड़ेगा और आपके घर का वातावरण हमेशा शांत और सुखमय रहेगा. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT वास्तु के महत्व और सुझाव ...
Bhavan Nirmaan Hetu Vaastu Upay
Bhavan Nirmaan Hetu Vaastu Upay


3.    पानी – वास्तु दोष पानी की ठीक दिशा में सप्लाई न होने के कारण तथा पानी का बहाव गलत दिशा में होने के कारण भी होता हैं. यदि आपके घर में भी पानी की सप्लाई या बहाव की व्यवस्था ठीक नहीं हैं. तो जल के वास्तु दोष के निवारण हेतु अपने घर के उत्तर – पूर्व दिशा में एक पानी का फव्वारा लगवा लें. इन दोनों दिशाओं में से किसी एक दिशा में भी फव्वारा लगाने से जल से जुडा हुआ वास्तु दोष आपके घर से दूर हो जाएगा.

4.    फर्श – हमेशा घर का निर्माण करवाते समय अपने घर की चारों दिशाओं का फर्श समतल बनवाएं. यदि आपके घर के उत्तर – पूर्व दिशा का फर्श दक्षिण व पश्चिम दिशा के फर्श से ऊंचा हो. तो यदि सम्भव हो तो इसे समतल बनवा लें या पश्चिम दिशा में छोटा सा चबूतरा बनवा लें. घर की चारों दिशाओं का फर्श समतल होने से घर पर वास्तु दोष का प्रभाव नहीं पड़ता.  CLICK HERE TO READ MORE ABOUT घर के वास्तु दोष निवारण हेतु अचूक उपाय ...
   
भवन निर्माण हेतु वास्तु उपाय
भवन निर्माण हेतु वास्तु उपाय


5.    दरवाजे और खिड़कियाँ – वास्तुशास्त्र के अनुरूप कभी भी भवन का निर्माण करवाते समय अत्यधिक खिड़कियाँ और दरवाजे न लगवाएं. क्योंकि इनसे भी घर पर वास्तु दोष का प्रभाव अधिक हो जाता हैं. घर को वास्तु दोष से मुक्त करने के लिए यदि आपके घर में खिड़की और दरवाजों की संख्या अधिक हैं तो उन्हें बंद करवा दें.

भवन निर्माण के और घर को वास्तु दोष से मुक्त रखने के अन्य उपायों को जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हैं.

Vastushastr ke Anusar Ghar Bnaane ke Totke
Vastushastr ke Anusar Ghar Bnaane ke Totke

Bhavan Nirmaan Hetu Vaastu Upay, भवन निर्माण हेतु वास्तु उपाय, Makan Bnaane ke Mahatvpurn Tips, Vastushastr ke Anusar Ghar Bnaane ke Totke, Ghar Bnaane ke liye Veshesh Upay

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

  1. 3 road ka makan hone ka vastu dosh kya hai?
    Aur iska upay bhi btaye..

    ReplyDelete

ALL TIME HOT