इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Masik Dharm mein Adhik Rakt Sraav ke Karan Lakshan or Ilaaj | मासिक धर्म में अधिक रक्त स्राव के कारण लक्षण और इलाज

यदि मासिक धर्म के दौरान अधिक रक्त स्त्राव हो तो क्या करें.

कुछ महिलाओं को मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव होने की शिकायत रहती हैं. अधिक रक्त स्त्राव होने पर महिलाएं बहुत ही परेशान हो जाती हैं. अधिक रक्त स्त्राव होने के कारण ही अक्सर महिलाओं के कपड़े खराब हो जाते हैं. जिसकी वजह से उन्हें कई बार लोगों के सामने शर्मिंदा भी होना पड़ता हैं. मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव कई बार अनितमित्ता के कारण हो जाता हैं या फिर अधिक ठंडा या गरम पदार्थों का सेवन करने के कारण भी मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव होता हैं. अधिक रक्त स्त्राव होने पर महिलाओं को उठने व बैठने में बहुत ही मुश्किल होती हैं.


मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव होने के कारण

1.     मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव अनियमितता की समस्या के कारण भी हो जाती हैं. ऐसा तब अधिक होता हैं जब मासिक धर्म अधिक देरी से हो या समय से पहले हो जाये. 


2.    अगर किसी महिला को थायराइड ग्रन्थि से सम्बन्धित कोई समस्या हो तो उसे भी मासिक धर्म के दिनों  में अधिक रक्त स्त्राव की शिकायत हो जाती हैं.


3.    अधिक रक्त स्त्राव मासिक धर्म में विकृति होने के कारण भी हो सकता हैं.


4.    गर्भाशय के अस्तर  में कुछ निकल आने के कारण भी रक्त स्त्राव अधिक हो जाता हैं.


5.    मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव अधिक ठंडे या गरम पदार्थो का सेवन करने से भी हो सकता हैं. 


6.    मासिक धर्म में अधिक रक्त स्त्राव मासिक धर्म के शुरु होने पर भी हो जाता हैं.  


7.    गर्भाशय पर अधिक दबाव पड़ने के कारण भी अधिक रक्त स्त्राव की समस्या हो जाती हैं.


8.    मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव गर्भाशय में रक्त के थक्के के रोग के हो जाने के कारण भी होता हैं. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
 
मासिक धर्म में अधिक रक्त स्राव के कारण लक्षण और इलाज
मासिक धर्म में अधिक रक्त स्राव के कारण लक्षण और इलाज

मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव के लक्षण

1.    अधिक रक्त स्त्राव होने पर महिलाओं के पेट में तथा कमर में अधिक दर्द रहता हैं.


2.    मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव होने पर महिलों के कपड़ों पर रक्त के दाग भी लग जाते हैं. 


3.    मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव के होने पर पेट में मरोड़े उठने की शिकायत भी कई महिलाओं को हो जाती हैं. 


4.    मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव के होने पर महिला के शरीर में कमजोरी महसूस होती हैं. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...

 
High Bleeding during Periods
High Bleeding during Periods

मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव के होने पर क्या करें

1.    मासिक धर्म के दिनों में अधिक रक्त स्त्राव की समस्या से निवारण पाने के लिए बबूल की गोंद का चुर्ण बहुत ही उपयोगी होता हैं. अधिक रक्त स्त्राव की शिकायत होने पर 10 ग्राम बबूल की गोंद का चुर्ण लें और उसे एक गिलास पानी के साथ फांक लें. आपको आराम मिलेगा.


2.    मासिक धर्म के दिनों में आप विदारीकंद के चुर्ण का भी प्रयोग कर सकते हैं. इस समस्या से निदान पाने हेतु विदारीकंद का चुर्ण लें और उसमें घी और चीनी का चुर्ण को मिला लें. अब इस चुर्ण का सवन करें. इस चुर्ण का सेवन करने से रक्त स्त्राव ठीक होंगें.


3.    मासिक धर्म के दौरान ज्यादा रक्त स्त्राव होने पर आप कुम्हड़े के साग का भी सेवन कर सकते हैं. अधिक रक्त स्त्राव से मुक्ति पाने के लिए कुम्हड़े के साग को बनाने के लिए घी का प्रयोग करें. घी से बने हुए साग का सेवन करने से रक्त स्त्राव  समान्य होते हैं.


4.    रक्त स्त्राव के अधिक होइने पर आप दूब का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके लिए दूब को अच्छी तरह पीसकर उसका रस निकाल लें. रस निकालने के बाद इसे छान लें. छानने के बाद इस रस का सेवन करें. आपकी यह समस्या दूर हो जाएगी. लेकिन दुब के रस का सेवन करते समय अधिक रस का सेवन न करें. 
 

5.    मासिक धर्म के दौरान ज्यादा रक्त स्त्राव से छुटकारा पाने के लिए आप धनिया का और मिश्री का भी प्रयोग कर सकते हैं. इसके लिए 10 ग्राम धनिया लें तथा 10 ग्राम मिश्री के दाने लें. अब धनिया और मिश्री के दानों को पीसकर महीन चुर्ण बना लें. अब एक बर्तन में पानी डाल लें और उसे गरम करने के लिए रख दें. अब इस पानी में धनिया और मिश्री का चुर्ण डालें और पानी को थोड़ी देर उबाल लें. पानी को उबालने के बाद उतारकर रख दें. जब पानी पूरी तरह से ठंडा हो जाये तो इस पानी का सेवन करें. आपकी यह समस्या दूर हो जाएगी.


6.    मासिक धर्म की अधिकता को कम करने के लिए आप महानीम की कोंपलों के रस का भी सेवन कर कसते हैं. महानीम की कोंपलों का रस निकालकर पीने से रक्त स्त्राव सामान्य होते हैं तथा मासिक धर्म के दिनों में अन्य किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होती.

 
Masik Dharm mein Adhik Rakt Sraav ke Karan Lakshan or Ilaaj
Masik Dharm mein Adhik Rakt Sraav ke Karan Lakshan or Ilaaj


 Masik Dharm mein Adhik Rakt Sraav ke Karan Lakshan or Ilaaj, मासिक धर्म में अधिक रक्त स्राव के कारण लक्षण और इलाज, High Bleeding during Periods, Adhik Rakt Sraav ka Ayurvedic Upchar, अधिक रक्त स्राव का आयुर्वेदिक उपचार.



YOU MAY ALSO LIKE  
कार्तिक माह पूजन विधि
अनियमित मासिक धर्म के कारण लक्षण और उपचार
मासिक धर्म में कम रक्त स्राव का देशी इलाज
- सेक्स के समय योनिमुख में होने वाले दर्द के उपाय
- शादी से पहले और बाद में लड़के और लड़की का रोमांटिक
- पीपल के पत्ते इलायची और लौंग से वशीकरण टोने टोटके
- अदरक के दस 10 अनमोल आयुर्वेदिक गुण
- सदा जवान और यौवन कैसे बनें रहें
- अमरुद फल के गुण फायदे और उपयोगिता
- हेपेटाईटिस के कारण लक्षण और देशी इलाज
- मासिक धर्म में अधिक दर्द होने के कारण लक्षण और इलाज
- मासिक धर्म में अधिक रक्त स्राव के कारण लक्षण और इलाज

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT