इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Ladkon ke Kaan Karn Chhidwane ke Laabh | लड़कों के कान छिदवाने के लाभ | Benefits for Boys Ear Piercing


लडको के कान छिदवाने से लाभ

कर्ण भेदन संस्कार या फिर कान छिदवाने का संस्कार हिन्दू रीती रिवाज में एक अहम स्थान रखता है, ये हिन्दू धर्म के 16 संस्कारो में से एक है. इस संस्कार का व्यापक रूप से पालन किया जाता है. इसी संस्कार के अनुसार लडको के कानो को छेदा जाता है. कान को छिदवाने के पीछे हर समुदाय का अपना विचार होता है जैसेकि कोई मानता है कि कान को छिदवाने से दुष्ट आत्माएं दूर रहती है, तो कुछ मानते है कि ये एक्युपंचर का विशेष बिंदु होता है जिसका इस्तेमाल उपचार  के महत्त्व से किया जाताहै, वहीं कुछ मानते है कि लोग सिर्फ सौंदर्य कि दृष्टि से ही कानो को छिदवाते है.


ज्यादातर हम लडकियों को ही कान छिदवाते हुए देखते है इसलिए जब कोई लड़का कानो को छिदवाता है तो हम उसका मजाक उड़ने लगते है. जबकि कान को छिदवाने के अनेक फायदे होते है, जिनको जानने के बाद आप भी अपने कानो को छिदवाने के बारे में विचार करने लगोगे. तो आओ जानते है कि कान को छिदवाने के क्या लाभ होते है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
लड़कों के कान छिदवाने के लाभ
लड़कों के कान छिदवाने के लाभ

कर्ण भेदन एक लाभ :

·         धार्मिक दृष्टी से कान को छिदवाना 16 संस्कारो में से 9वां संस्कार होता है. आपको बता दें कि भगवान राम और श्री कृष्ण जी का भी वैदिक रीती से कर्ण भेदन हुआ था क्योकि कर्ण भेदन से व्यक्ति ना सिर्फ बुरी शक्तियों से मुक्त रहता है बल्कि व्यक्ति दीर्घायु भी होता है. 


·         वैज्ञानिक दृष्टि के अनुसार कर्ण भेदन से व्यक्ति के मस्तिष्क में रक्त का संचार सही प्रकार से होता है. मस्तिष्क में रक्त के सही तरह से संचार होने से आपकी बौद्धिक योग्यता बढती है. इसीलिए कर्ण भेदन की प्रक्रिया को गुरुकुल में जाने वाले हर विद्यार्थी को करना पड़ता था, इससे उनकी मेघा शक्ति में वृद्धि होती थी और वो विद्यार्थी बेहतर ज्ञान की प्राप्ति करता था.


·         कर्ण भेदन से व्यक्ति के चेहरे पर चमक और कान्ति आती है और व्यक्ति के रूप में निखार आता है.

·         इसके अलावा ये भी माना जाता है कि कर्ण भेदन से व्यक्ति को लकवे की शिकायत कभी नही होती, साथ ही ये पुरुषो के अंडकोष को और वीर्य को संचित करने में भी लाभदायक होता है.
 
Benefits for Boys Ear Piercing
Benefits for Boys Ear Piercing

कान छिदवाने का समय :

कान को छिदवाने की प्रक्रिया आपकी आस्था और आपके रीती रिवाजो से जुडी हुई है और ये उसी पर निर्भर भी रहती है. परंपरा के अनुसार किसी भी शिशु के कानो को छिदवाने का सबसे सही समय शिशु की तीन वर्ष की आयु तक ही होता है. हालांकि कुछ ऐसे भी क्षेत्र है जहाँ शिशु के माता पिता शिशु के मुंडन समारोह तक का इंतजार करते है. देश में कुछ हिस्से ऐसे भी है जहाँ शिशु के कानो को उनके नामांकरण के दिन (12वें या 13वें दिन) ही कर दिया जाता है.


कान को छिदवाने का सही तरीका :

-       पारंपरिकतरीके से किसी भी शिशु का कान सड़क के किनारे बैठने वाले किसी प्रशिक्षित कारीगर या फिर किसी सुनार से ही छिदवाना चाहियें. ऐसा करने से शिशु को किसी भी तरह के रोग के होने का खतरा खत्म हो जाता है.  


-       इसके अलावा कान को छेड़ने के लिए आप किसी सुई का या फिर आप किसी गन का इस्तेमाल करें, साथ ही आप इस बात को जरुर जांच लो कि वो उपकरण किसी भी तरह से संक्रमित ना हो.

-       कानो को कर्ण पालि के केन्द्र में ही छेदा जाना चाहियें, कान को छेड़ने वाले किसी अनुभवी व्यक्ति को इस जगह का पता होता है और वो इसे आसानी से इसका पता लगा कर कान को छेद देते है.

-       कान को छेड़ने से पहले कारीगर को शिशु के कान पर किसी पेन या मार्कर से चिह्न नही बनाना चाहियें, क्योकि पेन की स्याही कान में जलन को पैदा करती है. 


-       आप जिससे भी कानो को छिदवायें पर इस प्रक्रिया को शुरू करने से पहले आप उसे अपने हाथो को धोने या फिर सर्जिकल दस्तानो को पहनने के लिए जरुर कहें.


-       शिशु के कान को छिदवाते वक़्त आप शिशु को अपनी गोद में आरामदायक तरीके से मजबूती से पकडे रखें. 

 
Ladkon ke Kaan Karn Chhidwane ke Laabh
Ladkon ke Kaan Karn Chhidwane ke Laabh

 Ladkon ke Kaan Karn Chhidwane ke Laabh, लड़कों के कान छिदवाने के लाभ, Benefits for Boys Ear Piercing, Time of Ear Piercing, Ear Piercing Ways, Kaan Chhidwane ka Samay or Tarika, कर्ण छिदवाने का समय और तरीके.



YOU MAY ALSO LIKE 

दीपावली त्यौहार की पूजन विधि और महत्तव
दिवाली के टोने टोटके
- ध्यान के विभिन्न प्रकार
- लड़कों के कान छिदवाने के लाभ
- गर्म खुबसूरत और सेक्सी हॉलीवुड अभिनेत्री जेसिका एल्बा
- पौष्टिक सूखे मेवे ठण्ड के मौसम मे

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

8 comments:

  1. kaan me baali pahnane ka shauk hai par koi friend mere sath nahi hai jo pahanata ho iss liye chah kar bhi pahanane me sharm aati hai
    kya kare jisse apni ichha puri kar sake

    ReplyDelete
    Replies
    1. Arun Yadav Ji,

      Aap vo karen jo aapko accha lagta hai, iss trah sharm krke apni icchaon ko dabaane se koi faayda nahi hai.

      Sampark ke Liye Dhanyavaad
      Jagran Today Team

      Delete
  2. Bhai kon se kan me bali pahna chahiy ladko ko

    ReplyDelete
  3. क्या कान में सिर्फ सोना ही पहनना चाहिए क्या कुछ और धातु पहनने से गृह खराब होते हैं!

    ReplyDelete
  4. Ladko kaa kon SAA kan chhedna hota hi

    ReplyDelete
  5. ladko ko kon sa kaan chedan karna chahiye, aur ye Gay wala kya issue hai ? :)

    ReplyDelete
  6. Ladako ka pahala right or phir left kan chedan karana chaiye, agr aap ek kan chedan karana chahate ho to wo mere hisab se right hi chidaye, or kan chedan karane ke bad 4-5 months tak bali nikale nai, usske bad hi nai bali dharan kare or sone ya chandi ki bali pahanana prefer kare.

    ReplyDelete
  7. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete

ALL TIME HOT