इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Grbhnirodhak ke Aayurvedik Upay | गर्भनिरोधक के आयुर्वेदिक उपाय | Medicine Uses to Not Get Pregnant

गर्भनिरोधक के घरेलू / आयुर्वेदिक उपाय :
गर्भनिरोधक के रूप में अनेक तरह के उपायों के बावजूद कुछ औरते या पुरुषो को उन पर भरोसा नही हो पाता क्योकि वे आयुर्वेद पर संपूर्ण विश्वाश रखते है और आयुर्वेद पर उनका विश्वास सही भी है क्योकि इससे आपकी हर समस्या का सही और निश्चित उपाय मिल जाता है. इनका आयुर्वेद पर विश्वास की एक वजह ये भी होती है कि किसी भी आयुर्वेदिक उपाय का कोई साइड इफ़ेक्ट नही होता. तो आओ जानते है गर्भनिरोधक के कुछ घरेलू और आयुर्वेदिक उपाय.

1.       आप ऐसे केले के पेड़ को खोजें जो फलहीन होयानि उसपर कोई फल न हो. आप उस पेड़ की जड को तोड़ कर अपने घर ले आयें और अपने घर की छत पर उसे सूखने के लिए छोड़ दें. इसके बाद उसे पीसकर चूर्ण बना लें. मासिक धर्म के समय आप इस चूर्ण को प्रतिदिन 4 से 5 ग्राम की मात्र में भोजन में इस्तेमाल करें. इस उपाय को अपनाने से गर्भ नही ठहरता. CLICK HERE TO KNOW OTHER WAYS TO NOT GET PREGNANT ...
Grbhnirodhak ke Aayurvedik Upay
Grbhnirodhak ke Aayurvedik Upay 
2.       जब आप मासिक धर्म में हो तो आप चंपा के फूलो को घर में सुखा लें और उसका भी चूर्ण बना लें. आप इस चूर्ण का प्रतिदिन दूध, खाने या किसी अन्य तरह से सेवन करें. ये उपाय भी आपके गर्भवती होने की संभावना को कम करता है.

3.       आप भोग के समय अपनी मूत्रमार्ग पर किसी चिकने तेल या लोशन की जगह शहद को लगाकर ही भोग करें. इससे भी गर्भधारण नही होता.

4.       अगर आप चाहे तो गर्भधारण से बचने के लिए अपनी मूत्रमार्ग में भोग के समय नीम का तेल भी लगा सकते हो.

5.       नीम को एक महत्वपूर्ण गर्भनिरोधक के रूप में देखा जाता है. इसलिए अगर आप प्रतिदिन नीम  के पत्तो का या नीम के तेल का अपने खाने में सेवन करते हो तो गर्भधारण नही होता.

6.       गर्भधारण की संभावना को कम करने के लिए आप महावारी या मासिक धर्म खत्म होने के तुलसी के पत्तो से काढ़ा बनायें और इस काढें को लगातार 4 दिन तक जरुर पियें. ये उपाय आपके गर्भधारण की संभावना को कम करता है. CLICK HERE TO KNOW ABOUT HOW TO GET PREGNANT ...
गर्भनिरोधक के आयुर्वेदिक उपाय
गर्भनिरोधक के आयुर्वेदिक उपाय 
7.       इसके अलावा आप प्रतिदिन सुबह उठते ही बिना कुल्ला किये 2 लौंग को चबायें. इस उपाय से भी गर्भ नही ठहरता.

8.       पपीते को भी गर्भनिरोधक के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इसलिए आप भोग करने के बाद कुछ दिनों तक पपीते का सेवन जरुर करें. इससे आपके गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है.

9.       पुदीने के पत्ते : गर्भ धारण से बचने के लिए आप पुदीने के पत्तो को सुखा कर उसका पाउडर बना लें और इन्हें किसी बर्तन में संचित कर लें. जब भी आपका अपने साथी के साथ भोग करने का मन हो तो आप इसकी एक चम्मच को 5 मिनट पहले गुनगुने पानी के साथ लें. निश्चित रूप से आपको लाभ प्राप्त होगा. CLICK HERE TO KNOW ABOUT USE OF MALE AND FEMALE CONDOM ...
Medicine Uses to Not Get Pregnant
Medicine Uses to Not Get Pregnant
10.   सेंधा नमक : आप एक सेंधा नमक का टुकड़ा लें और उसे कुछ देर के लिए तिल के तेल में डुबायें रखें. जब आप अपने साथी के साथ भोग कर चुकी हो तो आप इसे अपनी मूत्रमार्ग पर कुछ देर के लिए लगायें. इस उपाय से वीर्यआपके गर्भाशय तक पहुंचने से पहले ही नष्ट हो जायेंगा.

11.   अरंडी के बीज : इनको आप आई पिल की तरह इस्तेमाल कर सकती है. इसके लिए आप कुछ अरंडी के बीज लें और उन्हें तोड़ लें इनके अंदर आपको सफ़ेद रंग के कुछ बीज मिलते है. आप इन्हें भोग करने के 72 घंटे के अंदर गर्भनिरोधक गोलियों के रूप में लें. अगर महिला मासिक धर्म के समय में इनका इस्तेमाल 3 से 4 बार कर लेती है तो इसका असर 1 महीने बाद तक रहता है.

12.   आंवला : आप एक आयुर्वेदिक दुकान पर जायें और वहां से कुछ रसनजनम, आंवला और हरितकारी को सामान मात्रा में खरीद लायें. आप इन्हें सुखायें और सूखने के बाद इनका पाउडर निर्मित कर लें. आप इसे अपने पास संचित करके रख लें और जब भी आपको मासिक धर्म हो तो आप इसके चौथे से सोलवें दिन तक इस चूर्ण का सेवन करें. इसे गर्भनिरोधक गोलियों से भी अधिक असरदार उपाय माना जाता है.

13.   गुडहल का फूल : गुडहल में अधिक मात्रा में स्टार्च पाया जाता है, जो गर्भनिरोधन के लिए एक कंट्रासेप्टिव की तरह इस्तेमाल होता है. गर्भ धारण से बचने के लिए इसका उपाय मासिक धर्म के समय में इसके फूलो का पेस्ट बनाकर किया जाता है.


गर्भनिरोध से जुडी किसी भी अन्य सहायता या उपायों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते है
अनचाहे गर्भ से बचने के तरीके
अनचाहे गर्भ से बचने के तरीके
Grbhnirodhak ke Aayurvedik Upay | गर्भनिरोधक के आयुर्वेदिक उपाय | Medicine Uses to Not Get Pregnant, Grbhnirodhak, Way to Contraceptive, Anchahi Pregnancy se Bachne ke Tarike, अनचाहे गर्भ से बचने के तरीके.


Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

  1. gharbh kabhi n thahare aur apration n karana pade iske liye sujhav

    ReplyDelete

ALL TIME HOT