इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Kalounji ka Gunkari Tel | कलौंजी का गुणकारी तेल

कलौंजी का तेल (Nigella Oil) - कलौंजी का तेल भी बनाया जाता हैं. यदि आपको तेल न मिले तो आप इसके स्थान पर कलौंजी का प्रयोग कर सकते हैं.

औषधि (Aushdhi) - कलौंजी एक वनस्पति युक्त पौधे के बीज होते हैं. इन बीजों का ही प्रयोग औषधियों का निर्माण करने के लिए किया जाता हैं.
1.    कलौंजी का इस्तेमाल कई लोग शहद, पानी में तथा सिरके में मिलाकर करते हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUTकलौंजी का विभिन्न रोगों में प्रयोग ... 
Kalounji ka Gunkari Tel
Kalounji ka Gunkari Tel
तेल के तत्व (Oil Elements)
1.    कलौंजी के तेल को बनाने के लिए इसमें कुछ चर्बी के टुकड़ों को मिलाया जाता हैं. इन टुकड़ों में 60 प्रतिशत लिर्नोलेटिक होता हैं, 11 प्रतिशत पाश्मेहिक के टुकड़े मिलाएं जाते हैं.

2.    इसलिए इस तेल में कुछ मात्रा में 40 प्रतिशत या इससे अधिक की मात्रा में अम्ल तत्व भी विद्यमान होता हैं.

3.    लेकिन आमतौर पर कलौंजी के तेल का ही प्रयोग औषधि बनाने के लिए अधिक किया जाता हैं.

4.    कलौंजी के बीजों में एक सेपोनिन नामक पदार्थ भी पाया जाता हैं.
5.    इसके साथ ही इसके बीजों में निजेलीन नामक कडवा पदार्थ भी पाया जाता हैं.

कलौंजी के तेल की विशेषताएँ (Features of Nigella Oil)
1.    कलौंजी का तेल कफ को नष्ट करने के लिए बहुत ही लाभकारी माना जाता हैं.

2.    यह शरीर की रक्तवाहिकाओं को तथा नाड़ियों को साफ करने के लिए भी बहुत ही उत्तम माना जाता हैं.

3.    कलौंजी के तेल का प्रयोग करने से रक्त में स्थित दूषित द्रव नष्ट हो जाता हैं और शरीर के रक्त का शुद्धिकरण हो जाता हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT अनेक गुणों से भरपूर कलौंजी ...
कलौंजी का गुणकारी तेल
कलौंजी का गुणकारी तेल
यदि कोई व्यक्ति कलौंजी के तेल का सुबह खाली पेट तथा शाम को सोने से पहले सेवन करें. तो उसे सभी रोगों से हमेशा के लिए मुक्ति मिल जाती हैं.

कलौंजी का तेल बनाने की विधि (Recipe of Making Nigella Oil)
1.    कलौंजी का तेल बनाने के लिए एक बर्तन में ढाई लीटर पानी डाल लें. अब इस पानी को गर्म होने के लिए रख दें.

2.    इसके बाद 250 ग्राम कलौंजी लें और उसे खूब बारीक़ पीस लें. अब इस कलौंजी के पाउडर को पानी में डाल दें.

3.    अब पानी को तब तक उबालें जब तक की बर्तन में पानी उबल – उबल कर एक लीटर न हो जाएँ.

4.    अब इस पानी को उतार लें और उसे ठंडा होने दें. जब यह पानी ठंडा हो जाएगा तो कलौंजी का तेल अपने – आप पानी के ऊपर तैरने लगेगा.

5.    इस पानी में तेल निकालने के लिए एक कटोरी ले लें और धीरे – धीरे हाथ से कलौंजी का तेल निकाल लें.
Kalounji ke Tel mein Uplabdh Rasaynik Tatv
Kalounji ke Tel mein Uplabdh Rasaynik Tatv
6.    अब इस तेल को एक शीशी में भर लें और इसका इस्तेमाल एक औषधि के रूप में करें.

कलौंजी के तेल के प्रयोग तथा गुणों के बारे में अधिक जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हैं.
Kalounji ke Tel ke Labh Or Aushdhiya Prayog
Kalounji ke Tel ke Labh Or Aushdhiya Prayog

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

  1. कलौंजी की राख बनाने की विधि समझाइये

    ReplyDelete

ALL TIME HOT