इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Apmishrit Khadya Padarth mein Milaavat ki Pahchan | अपमिश्रित खाद्य पदार्थ में मिलावट की पहचान | How to Identify Adulterated Food Materials

मिलावट की जांच कैसे करें ( How to Check Adulteration ) :
थोडा सा ध्यान और हल्की सी चालाकी आपको खाद्य पदार्थों में मिलावट की पहचान या जांच करने में सहायक हो सकती है. इसनकी जांच के लिए आप कुछ घरेलू तरीके व उपाय भी अपना सकते हो, घरेलू तरीके ही शुद्धता की प्रमाण होते है. ऐसे ही कुछ घरेलू परिक्षण आज हम आपको बताने जा रहे है जो आपके लिए सहायक सिद्ध होंगे. CLICK HERE TO KNOW मिलावट की माया इससे कोई ना बच पाया ... 
Apmishrit Khadya Padarth mein Milaavat ki Pahchan
Apmishrit Khadya Padarth mein Milaavat ki Pahchan
§ मिर्च ( Chili ) : जैसाकि आप जानते ही है कि मिर्च में मिलावट के लिए बालू मिटटी का चूर्ण या फिर ईटों का चुरा मिलाया जाता है. इसकी जांच करने के लिए आप 1 ग्लास पानी लें और उसमें 1 चम्मच वो मिर्ची पाउडर डाल लें जिसको आप जांचना चाहते है. अगर पानी भी रंगीन हो जाता है तो समझ जाएँ कि मिर्च मिलावटी है.

§ हल्दी ( Turmeric ) : हल्दी की शुद्धता को परखने के लिए आपको 1 चम्मच हल्दी लेनी है और उसको परखनली में डालना है. इसके बाद आप हल्दी में कुछ बूंदें सांद्र हाइड्रोक्लोरिक एसिड की डाल लें. अगर हल्दी अपना रंग बनाएं रखें तो समझ जाएँ कि हल्दी मिलावटी है. वहीँ हल्दी के बैंगनी हो जाने और फिर पानी डालने पर बैंगनी रंग का गायब होना हल्दी की शुद्धता को प्रमाणित करता है.

§ नमक ( Salt ) : आप थोडा सा नमक लें और उसे कांच के गिलास में पानी डालकर घोलें, अब आप पानी को स्थिर होने के लिए रख दें, शुद्ध नमक पानी में पूरी तरह मिला जाएगा. तो अगर आपको नीचे मिटटी या फिर रेत दिखाई दें तो समझ जाएँ कि नमक में मिलावट की गयी है. CLICK HERE TO KNOW विषाक्त फल और सब्जियाँ ... 
अपमिश्रित खाद्य पदार्थ में मिलावट की पहचान
अपमिश्रित खाद्य पदार्थ में मिलावट की पहचान
§ चावल ( Rice ) : आप 1 चम्मच चावल हथेलियों पर रखकर उन्हें रगड़ें, अगर उनमें मिलावट होगी तो वो आपके हाथों पर लग जायेगी वहीँ ऐसा ना होने पर वो शुद्ध होती है. एक अन्य तरीके के अनुसार आप चावलों को पानी में भिगो लें और उसपर कुछ बूंदें सांद्र हाइड्रोक्लोरिक एसिड की डालें. अगर पानी का रंग बैंगनी हुआ तो आपके चावल मिलावटी है.

§ शहद ( Honey ) : वैसे तो शुद्ध शहद की पहचान के अनेकों तरीके है उन्ही में से एक उपाय के अनुसार आप चीनी और पानी से एक मिश्रण तैयार करें और उसमें रुई का फोहा डालें वही फोहा शहद में भी डालें और अब आप इस फोहे को माचिस की तिल्ली की मदद से जलाने की कोशिश करें, अगर शहद शुद्ध होगा तो उसमें से चटक की आवाज आने लगेगी और वो जलने लगेगा वहीँ अशुद्ध होने पर वो नहीं जलेगा.

§ खाने का तेल ( Eating Oil ) : तेलों में मिलावट के लिए आर्जीमोन का इस्तेमाल किया जाता है, तो तेल की जांच के लिए इसी का पता लगाना पड़ता है, इसका पता लगाने के लिए आप तेल में थोडा सांद्र हाइड्रोक्लोरिक एसिड डालें. तेल के शुद्ध होने पर उसमें बैंगनी रंग आ जाएगा और पानी डालने पर रंग गायब भी हो जाएगा. वहीँ तेल के रंग ना बदलने का अर्थ होगा की तेल में आर्जीमोन की मात्रा मिली हुई है.
How to Identify Adulterated Food Materials
How to Identify Adulterated Food Materials
§ चांदी का वर्क ( Silver Sheet ) : आजकल चांदी के वर्क की जगह एल्युमीनियम के वर्क का अधिक इस्तेमाल किया जाने लगा है, जिसकी पहचान बहुत आसान है. चांदी के वर्क की एक पहचान होती है कि वो जलाने पर इक्कठा हो जाता है और चांदी की बोल का रूप ले लेता है, इसलिए बस आपको वर्क को जला कर देखना है.

§ चाय पत्ती ( Tea Leaves ) : चाय पत्ती की शुद्धता की जांच करने के लिए आपको एक चीनी मिटटी के बर्तन को लेना है और उसें थोडा नींबू का रस डालना है, अब आप इसमें चाय पत्ती का थोडा बुरादा डालें. अगर नीम्बू का रस अपना रंग बदल लेता है तो समझ जाएँ कि उसमें मिलावट की गयी है, वहीं नीम्बू के रंग का हरा होना चाय पत्ती के शुद्ध होने का प्रतिक होगा.

§ कॉफ़ी ( Coffee ) : कॉफ़ी को खजूर या इमली के बीज डालकर दूषित किया जाता है, वहीँ उसकी शुद्धता की पहचान के लिए आपको कॉफ़ी पाउडर लेकर उसे गिले ब्लाटिंग पाउडर पर छिड़कना है. उसके बाद आपको कॉफ़ी पाउडर पर कुछ बुँदे पोटैशियम हाइड्रोक्साइड की डालनी है, अगर पाउडर के पास भूरा रंग जम जाता है तो उसमे मिलावट की पहचान होता है.
आहार में बढती मिलावट की जांच
आहार में बढती मिलावट की जांच
§ केसर ( Saffron ) : केसर की पहचान बहुत ज्यादा सरल है, आप केसर को पानी में डाल दें, अगर वो असली केसर होगा तो घंटों पानी में रहने के बाद भी वो अपना रंग नहीं छोड़ेगा वहीँ नकली केसर कुछ देर के बाद ही रंग छोड़ने लगता है.

§ हींग ( Asafetida ) : अगर आपकी हींग शुद्ध है तो वो लौंग पर जलाने के बाद चमकीली हो जायेगी. एक अन्य उपाय के अनुसार हिंग को साफ़ पानी से साफ़ करें, अगर उसका रंग सफ़ेद या फिर दुधिया हो जाए तो वो हींग शुद्ध होती है.

§ काली मिर्च ( Black Pepper ) : काली मिर्च में पपीते के बीजों को डालकर उसमें मिलावट की जाती है किन्तु इसको पहचानना भी बहुत आसान है क्योकि पपीते के बीज सुखाने के बाद पानी के ऊपर तैरने लगते है. जबकि काली मिर्च ऐसा नहीं करती. इसलिए इसकी पहचान के लिए आपको मिर्च को पानी में डालना है इस तरह आप पपीते के बीजों को आसानी से अलग कर सकते हो.
Milavati Cheejon ki Jaanch
Milavati Cheejon ki Jaanch
§ मावा ( Nuts ) : क्योकि मावों में स्टार्च की मात्रा अधिक होती है तो उनकी पहचान भी इसी आधार पर की जाती है. जिसके लिए मावों में थोड़ा पानी मिलाकर उसे उबलने के लिए छोड़ दिया जाता है. उबलने के बाद इसमें कुछ बूंदें आयोडीन की डाली जाती है, अगर उनपर नीले रंग की परत आ जाएँ तो वे शुद्ध है और उनमें स्टार्च की भरपूर मात्रा होती है, वहीँ ऐसा ना होना उनके अशुद्ध होने का प्रमाण है.

§ आटा ( Flour ) : शुद्ध आटे की पहचान उसको गुथते और उसकी रोटी बनाते वक़्त होती है, जब आप शुद्ध आटे को गुथते हो तो वो बहुत नर्म होता है और उससे बनी रोटियां भी अच्छी तरह से फूलती है, साथ ही शुद्ध आटे की बनी रोटियों में थोड़ी मिठास भी होती है, जबकि अशुद्ध आटा इसके विपरीत परिणाम देता है.

खाद्य पदार्थों में की जाने वाली मिलावट और उस मिलावट की पहचान के अन्य उपाय तरीकों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Milavat ki Pahchan Hai Aasan
Milavat ki Pahchan Hai Aasan

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT