इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Krodh or Gussa ko Niyantrit Kaise Karen | क्रोध और गुस्से को कैसे नियंत्रित करें | How To Control Anger according to Astrology

क्रोध को शांत कैसे करे? How to control Anger?

क्रोध को एक उर्जा माना जाता है और क्रोध हर किसी व्यक्ति को आता है, किसी को कम तो किसी को ज्यादा क्योकि गुस्सा एक साधारण भावना होती है लेकिन अगर ये हद से बाहर हो जाए तो इसके बहुत ही बुरे परिणाम होते है और ये आपको, आपके रिश्तो और आपके मस्तिष्क की स्थिति को भी हानि पहुंचा सकती है. अगर कोई व्यक्ति अपने क्रोध पर नियंत्रण कर लेता है तो उसे बुद्धिमान कहा जाता है, किन्तु कई व्यक्ति ऐसे भी होते है जो क्रोध में आकर अपशब्दों और मुर्खतापूर्ण व्यवहार करने लगते है.


गुस्सा क्यों आता है ?

गुस्सा आने के लिए जरूरी नही है कि आपको एक बड़े कारण की जरूरत होती है, बल्कि कई बार आपको छोटी छोटी बातो पर भी गुस्सा आने लगता है. इसका कारण होता है हमारा महत्वकांक्षी होना, साथ ही हमारे दिन में होने वाली घटनाएँ भी हमारे गुस्से का कारण होती है. ये गुस्सा या तो आपके घर के सदस्यों, आपके मित्रो या फिर अपने सहकर्मियों पर निकल जाता है और आपके उनके साथ रिश्तो में कड़वाहट पैदा कर देता है. कुछ लोग तो ऐसे होते है जो कही भी अपने गुस्सा निकल देते है और चीखने चिल्लाने लगते है. हर व्यक्ति चाहता है कि वो जो भी कार्य करे वो उसके हिसाब से हो, किन्तु जब स्थिति आपके विपरीत कार्य करने लगती है तो आपको गुस्सा आने लगता है. इसलिए कहा जाता है कि व्यक्ति जब तक महत्वकांक्षी रहता है तब तक उसे गुस्सा आता रहता है और उसे कभी भी संतोष प्राप्त नही होता. 


वैज्ञानिको ने पता किया है कि व्यक्ति में गुस्से का जिम्मेदार उसके मस्तिष्क के अन्दर का ब्रेन रिसेप्टर ( Brain Receptor ) होता है. ये एक एंजाइम ( Enzyme ) होता है, जिसका नाम है मोनोएमीन ओक्सीडेस ए ( Monoamine oxides A ). अगर हम इस रिसेप्टर को बंद करा ले तो हमे गुस्से से निजात भी मिल सकती है.


गुस्से को कम करने के समाधान :

गुस्से को कम करने के लिए आप अपनी राशि के आधार पर और मनोविज्ञान के आधार पर उपाय कर सकते हो. जो निम्नलिखित है - 
CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
Krodh or Gussa ko Niyantrit Kaise Karen
Krodh or Gussa ko Niyantrit Kaise Karen

राशि के आधार पर क्रोध को शांत करें :

-    मेष : मेष राशी के जातको का प्रधान मंगल होता है. इस राशी के जातको को गुस्सा कम ही आता है किन्तु जब इन्हें गुस्सा आता है तो इनका रूप प्रचंड हो जाता है. इन्हें अपने क्रोध को नियंत्रण में रखने के लिए मंगलवार के दिन व्रत रखना चाहियें. साथ ही हनुमान जी की विधि विधान से पूजा अर्चना करनी चाहियें. अगर आप मंगलवार के दिन मीठे पानी का दान करते हो तो ये आपके लिए और भी लाभदायक होता है. 


-    वृष : वृष राशि वाले जातको को गुस्सा बहुत आता है, इन्हें अपने क्रोध को शांत रखने के लिए अंकुरित हरी मुंग और सौंफ का प्रतिदिन सेवन करना चाहियें, साथ ही इन जातको को भगवान गणेश जी की पूजा करनी चाहियें और उन्हें एक सुपारी अर्पित करनी चाहियें.


-    मिथुन : मिथुन राशि के जातको को दूध, दही, मक्खन, पनीर इत्यादि सफ़ेद वस्तुओं का अधिक सेवन करना चाहियें. सफ़ेद रंग शांति का प्रतिक होता है और इनका सेवन करने से इनके मन में शांति का वास होता है. इस राशी के जातको को माता दुर्गा जी की पूजा करनी चाहियें.


-    कर्क : कर्क राशी के जातको के गुस्से को शांत करने के लिए धुम्रपान करना बिलकुल भी अच्छा नही है और इन्हें जितना जल्दी हो सके इसे बंद कर देना चाहियें. अगर आप इसे बंद करने में असमर्थ है तो आप कम से कम मंगलवार के दिन तो धुम्रपान का सेवन बिलकुल मत करें. इनके स्थान पर आप मीठे सौंफ का सेवन कर सकते हो. साथ ही आप देवी पार्वती जी के पुत्र कार्तिकेय की पूजा करें. आपकी गुस्सा करने की आदत में परिवर्तन आएगा. 


-    सिंह : सिंह राशि वाले जातको का प्रधान गुरु होता है तो सिंह राशि के जातको को गुरुवार के दिन पीली वस्तुओं का सेवन करना चाहियें, इन जातको को अपने माथे पर रोज केसर का तिलक लगाना चाहियें, साथ ही आप गर्म चीज़ो का सेवन बिलकुल ना करें क्योकि ये आपके मिजाज को गर्म बनती है. आप विष्णु जी की पूजा और स्तुति करें, आपको लाभ मिलेगा.


-    कन्या : कन्या राशि के जातको का पंचमेश स्वामी शनि देव होता है तो इन्हें अपने गुस्से को शांत करने के लिए हनुमान चलिसा का पाठ करना चाहियें. साथ ही इन्हें शनिवार के दिन काली वस्तुओं का सेवन करना चाहियें और काले कपडे ही धारण करना चाहियें.
 
How To Control Anger according to Astrology
How To Control Anger according to Astrology

-    तुला : इस राशि के जातको को गुस्सा कम ही आता है क्योकि इनकी राशि का स्वामी चंद्र होता है जो शीतलता देने वाला गृह है. फिर भी इन्हें कुछ स्थितियों में गुस्सा आ ही जाता है. इन्हें अपने गुस्से को शांत रखने के लिए चन्दन का तिलक लगाना चाहियें और शिवाष्टक का पाठ करना चाहियें. ऐसा करने से इनकी कभी कभी गुस्सा आने की आदत भी कम हो जाती है. 


-    वृश्चिक : वृश्चिक राशि के जातको को अपने गुस्से पर नियंत्रण रखने के लिए कच्चे दूध में थोड़ी सी दही और केसर को मिलकर तिलक करना चाहियें. साथ ही इन्हें सरस्वती जी की पूजा करनी चाहियें. 


-    धनु : आपको अपने गुस्से को नियंत्रित करने के लिए सोने से पहले एक बड़े बर्तन में पानी भर कर उसमे सिंधा नमक मिलाना चाहियें और उस पानी में कम से कम 30 मिनट तक अपने पैरो को धोना चाहियें, ऐसे करने से आपकी गुस्सा करने की आदत कम होती है. धनु राशि के जातको को गुस्से को शांत रखने के लिए प्रातः काल के समय भ्रामरी प्राणायाम करना चाहिए, साथ ही इन्हें अधिक मिर्च मसाले से भी चीजों के सेवन से भी बचना चाहियें. इन जातको के लिए कृष्ण जी की पूजा करना लाभदायक होता है. 


-    मकर : मकर राशि के जातको को क्रोध को कम करने के लिए फ़ास्ट फ़ूड का बिलकुल भी सेवन नही करना चाहियें, अपितु इन्हें हरी सब्जी को अपने खाने और आहार में स्थान देना चाहियें. आप हर रोज कत्थे का भी सेवन अवश्य करें. लक्ष्मी जी की पूजा करना आपके गुस्से को कम करने में लाभदायक सिद्ध होता है.


-    कुम्भ : कुम्भ राशी के जातको को रोज एक हरी इलाइची का सेवन करना चाहियें. साथ ही इन्हें ऐसे खाने से परहेज करना चाहियें जिससे इन्हें बादी हो जैसेकि कद्दू, मैदा, डालडा, उड़द की दाल, छोला और राजमा. 


-    मीन : आपको अपने क्रोध पर काबू पाने के लिए सोमवार के दिन व्रत रखना चाहियें और गजेन्द्र मोक्ष का पाठ करना चाहियें. आपको खाने में मीठे और नमक का कम सेवन करना चाहियें, साथ ही आप लहसुन और प्याज का भी कम ही सेवन करें.

 
क्रोध और गुस्से को कैसे नियंत्रित करें
क्रोध और गुस्से को कैसे नियंत्रित करें

 Krodh or Gussa ko Niyantrit Kaise Karen, क्रोध और गुस्से को कैसे नियंत्रित करें, How To Control Anger according to Astrology, Why we get Anger, Gusse ko kam karne ke jyotishi samadhaan, गुस्से को कम करने के ज्योतिषी समाधान.





YOU MAY ALSO LIKE 

गर्दन व् कंधे के दर्द का देशी इलाज
जोड़ों के दर्द का इलाज
- ग्रहों की युति क्या है
- दो ग्रहों की युति के फल और उनके परिणाम
- सप्तम भाव में चन्द्र के साथ अन्य ग्रहों की युति और परिणाम
- सूर्य के साथ तीन ग्रहों की युति के परिणाम और फल

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

4 comments:

  1. me negative thoughts jyada aata hai please ise kistarah thik ya upay bataiye

    ReplyDelete
    Replies
    1. Vicharon ke Nakaratmak hone ke 2 mukhya kaarna hai, pahla to aapka tanaav mein rahnaa or dusraa ghar mein nakaratmakta ka vaas. In nakaratmaktaon ko hataane ke liye aap niche diye links mein bataye upayon ko apnaayen or kisi bhi trah ka doubt hone par dobara comment avashya karen.

      http://www.jagrantoday.com/2016/05/ghar-ki-nakaratmak-chhayaa-ko-baahar.html

      http://www.jagrantoday.com/2016/04/ghar-mein-naa-rakhe-ye-6-cheejen-6.html

      http://www.jagrantoday.com/2016/01/nakaratmak-urja-ko-door-karne-ke-liye.html

      Sampark ke Liye Dhanyavaad
      Jagran Today Team

      Delete
  2. Agar Chhote bachhe ko gussa bht aata h to use munga pahna sakte h

    ReplyDelete
  3. Mere beta ko bahuhat gussa aata hai baat baat par gussa hota hai chilata hai...wo abbhi 4 year ka hai and uska birthday 22 sep 2012 ka hai... Koi solution ho tho pls batayai...

    ReplyDelete

ALL TIME HOT