इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Khattaa Mitha Mousmi ka Fal | खट्टा मीठा मौसम्बी का फल | Sour And Sweet Citrus Limetta Fruit

मौसमी
संतरे की भांति दिखने वाल मौसमी एक बेहद ही स्वादिष्ट और पौष्टिक फल हैं. मौसमी नारंगी की ही जाति का एक फल हैं तथा यह नारंगी की भांति ही बहुत से पौष्टिक तत्वों से पूर्ण हैं. मौसमी का सेवन सामान्य तथा अस्वस्थ दोनों ही स्थितियों में किया जा सकता हैं. सामान्य अवस्था में मौसमी का जूस पीने से या मौसमी के फल का सेवन करने से शरीर की शक्ति में वृद्धि होती हैं.

रोगी व्यक्ति के लिए मौसमी एक लाभप्रद फल हैं. इसलिए किसी भी बिमारी के होने पर डॉक्टर द्वारा मौसमी के रस का सेवन करने की सलाह दी जाती हैं. जैसे नारंगी का सेवन करने से शरीर को किसी प्रकार की हानि नहीं पहुँचती ठीक उसी प्रकार मौसमी का भी सेवन करने से शरीर को किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT मौसमी के औषधीय गुण ...
Khattaa  Mitha Mousmi ka Fal
Khattaa  Mitha Mousmi ka Fal


मौसमी की मुख्य रूप से उत्पत्ति चीन से हुई हैं लेकिन भारत, अन्य एशियाई देशों में तथा पश्चिम देशों में भी इसके वृक्ष पाए जाती हैं. मौसमी के फल को निम्बू की प्रजाति का माना जाता हैं तथा इसके छिलके भी निम्बू के छिलकों की ही तरह पतले और नरम होते हैं. मौसमी का फल गोलाकार तथा 8 से 12 सेमी. व्यास का होता हैं. मौसमी के ऊपर के छिलके का रंग हल्का हरा तथा हल्का पीला होता हैं.

मौसमी के फल में भरपूर विटामिन “सी” की मात्रा विद्यमान होती हैं. इसलिए यह आसनी से पच जाता हैं. मौसमी में खनिज तत्वों की मात्रा विद्यमान होती हैं. मौसमी का सेवन करने से पेट साफ़ हो जाता हैं और मूत्र भी खुलकर आता हैं. मौसमी के रस का सेवन करने से शरीर के रक्त में वृद्धि होती हैं तथा यह चर्म रोगों के लिए भी लाभकारी सिद्ध होता हैं. मौसमी का रस पीने से धातु दुर्बलता ठीक हो जाती हैं. इसमें फास्फोरस, कैल्शियम आदि पौषक तत्वों की भी कुछ मात्रा उपलब्ध होती हैं.

मौसमी का लाभदायक रस (Mousami’s Profitable Juice)
सर्दी और जुखाम जैसे रोगों के लिए भी यह बहुत ही लाभदायक होता हैं. यदि किसी व्यक्ति को खांसी या जुखाम हो तो उसे मौसमी के ठन्डे रस का सेवन करना चाहिए. यदि वह व्यक्ति मौसमी के ठन्डे रस का सेवन नहीं कर सकता तो वह इसे हल्का गरम करके भी पी सकता हैं. मौसमी के रस का सेवन करने से सर्दी के मौसम में बार – बार सर्दी या खांसी तथा जुखाम आदि की शिकायत दुबारा नहीं होती. यदि मौसमी के रस में अदरक के रस को मिलाकर सेवन किया जाये तो यह व्यक्ति की सेहत के लिए और भी उपयोगी सिद्ध होता हैं. मौसमी का रस बड़ों के साथ – साथ बच्चों के लिए भी अधिक गुणकारी होता हैं. मौसमी का रस पीने से शारीरिक दुर्बलता दूर हो जाती हैं. मौसमी का रस पीने शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता का विकास होता हैं. मौसमी दांतों के लिए भी भी बहुत फायदेमंद होती हैं. इसका सेवन करने से दांत मजबूत होते हैं. मौसमी के फल का सेवन करने से रक्त की अम्लता कम हो जाती हैं तथा पेट की कब्ज (गैस) ख़त्म हो जाती हैं. मौसमी के रस का निरंतर सेवन करने से जुखाम जैसे रोग हमेशा के लिए दूर हो जाता हैं.
CLICK HERE TO READ MORE ABOUT निम्बू के औषधिय प्रयोग ...
खट्टा मीठा मौसम्बी का फल
खट्टा मीठा मौसम्बी का फल


मौसमी में विभिन्न पौषक तत्वों की मात्रा (Mousmi Nutrients)
मौसमी में 1.5 प्रतिशत प्रोटीन की मात्रा विद्यमान होती हैं. 1 प्रतिशत  वसा की मात्रा होती हैं, मौसमी में 84.6 प्रतिशत पानी की मात्रा भी उपलब्ध होती हैं. इसमें 0.3 मिग्रा. लौह तत्व भी पाया जाता हैं. 10.9 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट की मात्रा भी पाई जाती हैं. इसमें 0.02 प्रतिशत फस्फोरास विद्यमान होता हैं. 0.09  प्रतिशत कैल्शियम की मात्रा  उपलब्ध होती हैं. मौसमी में 63 प्रतिशत विटामिन सी की मात्रा पाई जाती हैं. इसमें ए 26 आई . क्यू . आदि पौषक तत्व भी विद्यमान होते हैं.

मौसमी का इस्तेमाल अधिकतर लोग रस के रूप में ही अधिक करते हैं. लेकिन कुछ लोग इसके दो या चार भाग करके इसके ऊपर मसाला छिड़ककर खाते हैं. जिसे खाना भी बहुत ही लाभकारी होता हैं. मौसमी  के फल की ही भांति मौसमी के ऊपर का छिलका भी बहुत ही फायदेमंद होता हैं. मौसमी के छिलकों का प्रयोग अधिकतर लोग तेल निकालने के लिए करते हैं. मौसमी के छिलकों का यह तेल छोटे बच्चों के लिए अत्यंत उपयोगी होता हैं. इससे बच्चे के शरीर की मालिश की जा सकती हैं. मौसमी के तेल से छोटे बच्चों के शरीर की मालिश करने से उनकी त्वचा न्रम तथा मुलायम हो जाती हैं.

मौसमी के फल तथा उसके आयुर्वेदिक इस्तेमाल के बारे में जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते है.


Sour And Sweet Citrus Limetta Fruit
Sour And Sweet Citrus Limetta Fruit


Khattaa  Mitha Mousmi ka Fal, खट्टा मीठा मौसम्बी का फल, Sour And Sweet Citrus Limetta Fruit, Mousmi ka Ras, मौसमी, मौसमी का जूस, Mausmbi ke Fal mein Poushtik Tatv, Mousmi ke Fal ka Ghreloo Chikitsa mein Prayog.

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT