इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Takshak Kaalsarp Dosh ke Ashant Prabhav ke Upay | तक्षक कालसर्प दोष के अशांत प्रभाव के उपाय

तक्षक कालसर्प दोष
तक्षक एक जहरीले सांप का नाम हैं. यह कालसर्प दोष का सातवां प्रकार हैं. जब किसी मनुष्य की कुंडली के विवाह तथा साझेदारी का घर सांतवें भाव में राहु ग्रह का प्रवेश कर जाता हैं, केतु लग्न अर्थात पहले भाव में प्रवेश कर जाता हैं तथा अन्य ग्रह इन दोनों के बीच में स्थित होते हैं, तब तक्षक कालसर्प दोष का निर्माण होता हैं. कुंडली में इस योग के बनने पर व्यक्ति को अपने वैवाहिक जीवन से जुडी परेशानियों का अधिक सामना करना पड़ता हैं. इसके अलावा और भी कई समस्याओं का सामना जातक को करना पड़ता हैं, जिनका विवरण नीचे दिया गया हैं.

तक्षक कालसर्प योग के अशांत प्रभाव
1.       इस योग से प्रभावित व्यक्ति को अपने घर – परिवार का सम्मान बनाए रखने के लिए, धन अर्जित करने के लिए, जीवन भर विपरीत स्थितियों का सामना करना पड़ता है तथा संघर्ष करना पड़ता हैं. इस योग के कारण जीवन भर संघर्ष करते – करते व्यक्ति अपनी जिन्दगी से इतना परेशान हो जाता हैं कि वह दाम्पत्य जीवन और जिम्मेदारियों से भागने का मन बना लेता हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT कुलिक कालसर्प दोष लक्षण और टोटके ...

Takshak Kaalsarp Dosh ke Ashant Prabhav ke Upay
Takshak Kaalsarp Dosh ke Ashant Prabhav ke Upay


2.       इन्हें अपने जीवन में हर व्यक्ति से धोखा ही मिलता हैं. चाहे वो इनके घर के सदस्य हो या इनका जीवनसाथी हो.

3.       इस योग से पीड़ित व्यक्ति अपने दुःख को किसी ओर के साथ बांटना पसंद नहीं करते तथा अपने दुख को अपने दिल के अंदर ही रखते हैं.

4.       विद्यार्थी जीवन में तथा व्यवसाय में या नौकरी में इन्हें उच्च स्थान तो प्राप्त हो जाता हैं. लेकिन ये समय रहते उस स्थान का महत्व नहीं समझ पाते.

तक्षक कालसर्प दोष के अशांत प्रभाव को शांत करने के उपाय
1.       इस दोष के दुष्प्रभावों से मुक्ति पाने के लिए सर्वोत्तम दिन नाग पंचमी का माना जाता हैं. क्योंकि जैसा की हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि तक्षक एक नाग का नाम हैं. इस दिन तक्षक नाग ने अपने जैसे अन्य नागों के लिए आस्तिक मुनि और जनमेय से कहा था कि “ इस दोष से पीड़ित व्यक्ति अगर आस्तिक मुनि तथा जनमेय की जयकार इस दिन करेगा तो उसको इस दोष से मुक्ति मिल जायेगीं तथा उसके जीवन की सभी परेशानियाँ भी दूर हो जायेंगी. ” CLICK HERE TO READ MORE ABOUT कर्कोटक कालसर्प दोष परिणाम एवं टोटके ...
तक्षक कालसर्प दोष के अशांत प्रभाव के उपाय
तक्षक कालसर्प दोष के अशांत प्रभाव के उपाय


इस उपाय को करने के लिए नागपंचमी के दिन नाग देव की अराधना करने के बाद धान का लावा चढ़ाएँ. इस उपाय के द्वारा शुभ फल की प्राप्ति के लिए नमक से बने हुए किसी भी पदार्थ को न खाएं. यह उपाय करने के पश्चात् आपको इस दोष से अवश्य मुक्ति मिल जायेगी.

2.       यदि घर में नाग देवता की प्रतिमा या कोई तस्वीर स्थापित करके पूर्ण विधि – विधान से घी का दीपक जलाकर, पुष्प अर्पित कर, धूप या अगरबत्ती से उसकी पूजा रोजाना की जाए तथा इसके बाद शिवजी के महामृत्युंजय मन्त्र का जप किया जाए तो भी इस दोष के अशांत प्रभाव से आपको मुक्ति मिल सकती हैं.

तक्षक काल्सर्त्प दोष के अशांत प्रभावों को शांत करने के अन्य उपायों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते है.     
Takshak Kaalsarp Dosh ke Ashant Prabhav
Takshak Kaalsarp Dosh ke Ashant Prabhav 

Takshak Kaalsarp Dosh ke Ashant Prabhav ke Upay, तक्षक कालसर्प दोष के अशांत प्रभाव के उपाय, Takshak Kaalsarp Dosh, तक्षक कालसर्प दोष, Takshak Kalsarp Dosh ko Door Karne ke Totke, तक्षक कालसर्प योग को दूर करने के टोटके.


Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

5 comments:

  1. meri wife se nahi banti hai hamesha ladai jhagda hota hai.bete ( son ) ka swasthya bhi thik nahi raheta hai.mata ka swasthya bhi thik nahi raheta hai please mujhe koi upaye bataye.meri email id hai v_nov_joshi@yahoo.co.in.
    kripya hindi me solution bataye to jyada sahai rahega.

    Thanks & Regards
    Vinod joshi

    ReplyDelete
    Replies
    1. विनोद जोशी जी,

      जैसाकि आप बता रहे हो कि आपकी पत्नी के साथ आपकी नहीं बनती हैं तो 11 गोमती चक्र लें और इन्हें सिंदूर की डिब्बी में डालकर बंद कर दें. इसके बाद इस डिब्बी को हमेशा अपने घर में रखें. इस डिब्बी को अपने घर में रखने के बाद आपके और आपकी पत्नी के सम्बन्धों में मधुरता आएगी और आप दोनों के बीच में झगडे भी नहीं होंगे.

      इसके अलावा आप अपने पुत्र और माँ के बेहतर स्वास्थ्य के लिए उपाय जानना चाहते हैं तो निम्नलिखित लिंक से आप जानकारी हासिल कर सकते हैं.

      http://www.jagrantoday.com/2016/01/achhe-svasathy-ke-liye-apnayen.html

      इसके बाद भी आपको किसी भी प्रकार का संदेह रह जाता हैं तो आप हमसे दुबारा सम्पर्क जरूर करें. आपकी तुरंत सहायता की जाएगी.

      सम्पर्क के लिए धन्यवाद
      जागरण टुडे टीम

      Delete
  2. i want to know the remedy of takshak kaal sarp dosh

    ReplyDelete
  3. namaskar ,

    meri swasthya thik nahi raheta hamesa pet me samassya bani rahiti hai koi upa bataye

    ReplyDelete

ALL TIME HOT