इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Baingan se Swasthya Laabh | बैंगन से स्वास्थ्य लाभ | Health Benefits of Brinjal Eggplant

बैंगन ( Brinjal )
बैंगन का इस्तेमाल खाने की प्लेट में अधिक मात्रा में किया जाता है, बैंगन वो सब्जी है जो भारत में उगती है और इससे व्यक्ति को अनेक तरीकों से स्वास्थ्य लाभ मिलता है. इसमें पायें जाने वाले पौषक तत्व शरीर को अनेक रोगों से लड़ने की शक्ति देते है वहीँ इसमें पायें जाने वाली विटामिन शरीर को मजबूती प्रदान करते है, इसके लाभ यहीं तक सिमित नही है क्योकि बैंगन का लगभग 90 प्रतिशत हिस्सा पानी का बना होता है तो ये शरीर को जल तत्व देने में भी सहायक होता है. इसमें पायें जाने वाले कुछ जरूरी पौषक तत्व इस प्रकार है.

-    कैल्शियम ( Calcium )
-    मैंगनीज ( Magnesium  )
-    पोटैशियम ( Potassium )
-    लौह तत्व ( Iron )
-    फोस्फोरस ( Phosphorous )
Baingan se Swasthya Laabh
Baingan se Swasthya Laabh
-    विटामिन ए और विटामिन बी ( Vitamin A and Vitamin B )
इतने सारे पौषक तत्व होने के कारण बैंगन को आहार में शामिल करने का महत्व और भी अधिक बढ़ जाता है. किन्तु बैंगन की सब्जी बनाते वक़्त कुछ बातों का स्मरण रखना बहुत जरूरी है जैसेकि

1.       बैंगन के ऊपर वाले हिस्से ( बैंगन के ताज ) को भी सब्जी में इस्तेमाल करें.

2.       बैंगन की सब्जी में तेल की मात्रा अधिक होने से इससे अधिक लाभ और स्वाद प्राप्त होते है.

3.       बैंगन की सब्जी में हिंग डालने से सब्जी में स्वाद बढ़ जाता है और इससे इससे शरीर को किसी तरह की हानि होने का खतरा भी टल जाता है.

4.       बैंगन की सब्जी को खाने का सबसे सही समय ठण्ड होता है तो आप ठण्ड के समय में ही बैंगन की सब्जी को आहार में शामिल करें.

बैंगन से स्वास्थ्य को लाभ ( Health Benefits of Brinjal ) :
जैसाकी हमने ऊपर जाना कि बैंगन में अनेक ऐसे खनिज तत्व है जिनसे स्वास्थ्य को लाभ मिलता है और शरीर स्वस्थ और हष्ट पुष्ट रहता है तो आओ ये भी जान लेते है कि बैंगन किस तरह से शरीर को लाभ पहुंचता है और किन रोगों से शरीर की रक्षा करता है.

·         वजन कम ( Weight Loss ) : बैंगन में फाइबर की मात्रा अधिक होती है और शरीर को फाइबर मिलने से कम भूख लगती है जिसकी वजह से आपके शरीर को मोटा होने के लिए कैलोरी नही मिल पाती और ना ही शरीर में अतिरिक्त चर्बी ही जमा हो पाती है. इसलिए वे लोग जो अधिक मोटे है या अपने वजन को कम करना चाहते है उनके लिए बैंगन एक वरदान के रूप में कार्य करता है. CLICK HERE TO KNOW आलू के साथ भरवां शिमला मिर्च बनाने की विधि ... 
बैंगन से स्वास्थ्य लाभ
बैंगन से स्वास्थ्य लाभ
·         अनिंद्रा दूर करें ( Eliminate Insomnia ) : अगर आपको कम नींद आती है तो आप बैंगन को आग पर अच्छी तरह से बन लें और उसके गुदे में शहद मिलाकर शाम के वक़्त खायें. इस तरह आप इस उपाय को लगातार 21 दिनों तक अपनाएं. आपको अच्छी नींद आने लगेगी. इसका आपको एक लाभ ये भी होता है कि इस उपाय से आपक रक्तचाप भी सामान्य हो जाता है.

·         त्वचा ( Skin ) : क्योकि बैंगन का अधिकतर हिस्सा पाने का बना होता है तो इससे शरीर में पानी की कमी नही होती जिससे त्वचा में नमी बनी रहती है. बैंगन उन लोगो के लिए भी लाभदायक है जिनके बाल रूखे सुखें है या झड़ते है. त्वचा के हाइड्रेटीड रहने से त्वचा में नयी चमक बनी रहती है और आपका आत्मविश्वास भी ऊँचा रहता है. जो आपको सफलता के रास्ते पर ले जाता है.

·         खांसी ( Cough ) : खांसी से पीड़ित व्यक्ति भी बैंगन का इस्तेमाल कर सकते है, इसके लिए इन्हें बैंगन को पानी में उबालकर उसका सूप तैयार करना होता है, साथ ही सूप में आप हल्दी और मिश्री भी जरुर मिला लें और इसे पी जाएँ. आपको अवश्य आराम मिलेगा.

·         कैंसर ( Cancer ) : बैंगन में पायें जाने वाले तत्व आपको कैंसर जैसी भयंकर बिमारी से भी बचने में सहायक होती है खासतौर से पेट के कैंसर से. तो हर कैंसर से पीड़ित रोगी को अपने आहार में एक समय बैंगन जरुर लेना चाहियें. ताकि ये कैंसर की बढती कोशिकाओं को रोक सके.

·         पथरी ( Calculus ) : बैंगन को मूत्रल भी माना जाता है क्योकि इसके सेवन से अधिक मात्रा में मूत्र आता है किन्तु ये भी आपके लिए लाभदायक होता है क्योकि इस तरह से आपकी किडनी और मूत्राशय साफ रहता है और अगर आपको पथरी होती है तो वो भी गलकर बाहर निकाल जाती है.
Health Benefits of Brinjal Eggplant
Health Benefits of Brinjal Eggplant
·         लीवर ( Liver ) : यकृत में किसी तरह की बिमारी होने पर या इसमें गड़बड़ी से पुरे शरीर को नुकसान पहुँच सकता है. किन्तु अगर आप प्रतिदिन बैंगन का सेवन करते हो तो इससे आपका यकृत पूर्ण रूप से स्वस्थ रहता है. आपको बता दें कि अनेक तरह की दवाओं को बनाने में भी बैंगन का इस्तेमाल किया जाता है क्योकि इसकी पत्तियों में हल्की निंद्रा लाने का तत्व पाया जाता है.

·         मधुमेह ( Diabetes / Sugar ) : बैंगन में फाइबर की मात्रा तो अधिक पायी जाती है किन्तु इसमें कार्बोहायड्रेट की मात्रा बहुत कम होती है. कार्बोहायड्रेट मधुमेह के रोगियों के लिए जहर की तरह होता है किन्तु बैंगन में इस तत्व के ना होने की वजह से मधुमेह के रोगी इसे अपने आहार में शामिल कर अपने शुगर को आसानी से नियंत्रित कर सकते है.

·         हृदय ( Heart ) : बैंगन का जल तत्व खून को गाढ़ा नही होने देता जिससे हृदय पर किसी तरह का जोर नही पड़ता और खून भी आसानी से नसों में बहता रहता है. अगर रक्त गाढ़ा हो जाएँ तो इससे हृदय संबंधी अनेक रोग हो सकते है और उनमे सबसे मुख्य होता है हार्ट अटैक. तो इस तरह बैंगन हृदय की भी रक्षा करता है.
बैंगन क्यों खायें और क्यों न खायें
बैंगन क्यों खायें और क्यों न खायें
·         पेट में कीड़े ( Stomach Worms ) : अकसर बच्चो को पेट में कीड़े हो जाते है जिससे उनको पेट में दर्द तो होता ही है, साथ ही जो वो खाते है उनके पौषक तत्व भी उनको नही मिल पाते. इस स्थिति में बच्चे अक्सर बीमार रहने लगते है किन्तु अगर आप उन्हें बैंगन के बीजों में शहद मिलाकर खिलाते हो तो इससे पेट के कीड़े आसानी से खत्म हो जाते है.

·         मस्तिष्क ( Brain ) : आजकल की पीढ़ी जंक फ़ूड, तनाव इत्यादि के कारण अपने मस्तिष्क पर अधिक दबाव डालते है जिससे उनके मस्तिष्क का सही तरह से विकास नही हो पाता. किन्तु बैंगन की इस्तेमाल से उनकी ये समस्या दूर हो सकती है क्योकि बैंगन मस्तिष्क के विकास में भी सहायक होता है साथ ही ये कोशिकाओं की झिल्लियों और दिमाग को फ्री रेडिकल से भी बचाता है.

·         पाचन तंत्र ( Digestive System ) : बैंगन में पाया जाने वाला फाइबर पाचन तंत्र को जवान रखता है और अगर आपका पाचन तंत्र सही तरह से कार्य करता है तो इससे आपको पेट संबंधी या वायु विकार इत्यादि नही होते है.

·         कब्ज ( Constipation ) : अगर आप खुल कर मल नही कर पा रहे है या आपके मल में गांठे बनी हुई है तो उसके लिए आप पालक और बैंगन का सूप तैयार करने और अपनी कब्जियत को दूर करें.
Baingan ke Gun
Baingan ke Gun
·         बावासीर ( Piles ) : वृद्ध लोगो में बवासीर की शिकायत बढती जा रही है किन्तु वे लोग जो अधिक मात्रा में मिर्च मसाले खाते है उन्हें भी ये रोग जल्द ही घेर लेता है इसका उपचार लम्बे समय तक चलता है किन्तु अगर आप बवासीर के मस्सों पर बैंगन का लेप पीसकर लगते हो तो आपको अद्भुत रूप से लाभ और आराम प्राप्त होता है.

ध्यान दें ( Pay Attention ) :
§  जिन व्यक्तियों को बुखार, अनिंद्रा, मानसिक तनाव, बवासीर, त्वचा रोग, एसिडिटी, गर्भधारण है उन्हें बैंगन को बिलकुल भी नही खाना चाहियें.

§  बीज वाले बैंगन को भी अपने आहार में ना खायें क्योकि ये आपके पित्त के आकार में वृद्धि कर सकते है. इसलिए आप बैंगन की उन किस्मों का इस्तेमाल करने जिसमें बीज नही पायें जाते.


बैंगन के अन्य पौषक तत्व और स्वास्थ्य लाभ को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Paushak Tatvon se Bharpur Baingan
Paushak Tatvon se Bharpur Baingan
Baingan se Swasthya Laabh, बैंगन से स्वास्थ्य लाभ, Health Benefits of Brinjal Eggplant, बैंगन क्यों खायें और क्यों न खायें, Bangan Kyon Khayen or Kyon Nahi, Paushak Tatvon se Bharpur Baingan, Baingan ke Gun, Baingan, बैंगन, Eggplant, Brinjal.


Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT