इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Gulabi Gaal or Lal Hothon ke Liye Gajar | गुलाबी गाल और लाल होठों के लिए गाजर


गाजर के लाभ (Benefites of Carrot)
गाजर एक बेहद ही फायदेमंद और पौष्टिक आहार हैं. गाजर को फल तथा सब्जी दोनों ही श्रेणियों में रखा जा सकता हैं. गाजर शीत ऋतु का एक लोकप्रिय आहार हैं. जिसका प्रयोग व्यक्ति सलाद, जूस तथा सब्जी  बनाने के लिए करते हैं तथा कुछ लोग कच्ची गाजर का भी सीधा सेवन कर लेते हैं. क्योंकि गाजर खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होती हैं तथा पौषक तत्वों की, विटामिन की और मिनरल्स की अधिकतर मात्रा पाई जाती हैं. इसलिए जो व्यक्ति सर्दी के मौसम में बिमारियों से दूर रहना चाहता है तथा अपने शरीर को स्वस्थ रखना चाहता हैं. उसे गाजर का सेवन सर्दी के दिनों में अधिक से अधिक करना चाहिए. क्योंकि यह शरीर के लिए अत्यंत लाभदायक और उत्तम आहार हैं. गाजर का सेवन कुछ बिमारियों से राहत पाने के लिए भी किया जा सकता हैं. जिनका विवरण निम्नलिखित हैं –
गुलाबी गाल और लाल होठों के लिए  गाजर
गुलाबी गाल और लाल होठों के लिए  गाजर


1.    कोलेस्ट्रोल और मोटापा काम करने के लिए – सर्दी के दिनों में काफी व्यक्ति शरीर को गर्म रखने के लिए सूखे मेवों का तथा गर्म – गर्म पदार्थों का सेवन करते हैं. जिससे उनके शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा अधिक हो जाती है और उनके शरीर में चर्बी अधिक हो जाती है. जो मोटापे के रूप में लोगों को दिखाई देती हैं. शरीर के इस बढ़ते मोटापे से व्यक्ति बहुत ही परेशान हो जाते हैं और इस मोटापे को कम करने के लिए काफी प्रयत्न करते हैं. लेकिन उन्हें अपने शरीर के मोटापे से छुटकारा नहीं मिल पाता. ऐसी अवस्था में गाजर खाना बहुत ही लाभदायक होता हैं. सर्दी के दिनों में गाजर का निरंतर सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा कम हो जाती हैं और धीरे – धीरे शरीर की चर्बी कम होकर मोटापा बिल्कुल खत्म हो जाता हैं.

2.    फेफड़े, पेट तथा स्तन के कैंसर के लिए – गाजर में Flacarinol (फ्लैकरिनोल) नामक यौगिक तत्व उपस्थित होता हैं. जो फेफड़े, पेट तथा स्तन के कैंसर जैसी गंभीर बिमारियों को ठीक करने में बहुत ही सहायक होता हैं. इसलिए फेफड़े, पेट तथा स्तन कैसर से ग्रस्त व्यक्ति को गाजर का सेवन अवश्य करना चाहिए. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT नींबू के गुण व् फायदे ...
Gulabi Gaal or Lal Hothon ke Liye Gajar
Gulabi Gaal or Lal Hothon ke Liye Gajar 


3.    आँखों की रौशनी के लिए – गाजर में विटामिन “ए” काफी मात्रा में उपलब्ध होता हैं. यदि किसी व्यक्ति के आँखों की रौशनी कम हैं. जिसके कारण उसे कम या धुंधला -  धुंधला दिखाई देता हैं. तो वह व्यक्ति भी गाजर का इस्तेमाल कर सकता हैं. आँखों की रौशनी को बढाने के लिए गाजर का सेवन जरूर करें. यह आँखों की रौशनी को बढाने का सर्वोत्तम साधन हैं.

4.    गुलाबी गल और लाल होठों के लिए – चेहरे की दमक बढाने के लिए, गुलाबी गलों के लिए तथा लाल – लाल होठों के लिए गाजर बहुत ही लाभदायक होता हैं. गुलाबी गालों के लिए चेहरे की दमक बढाने के लिए तथा होठों को लाल करने के लिए व्यक्ति को रोजाना गाजर का जूस पीना चाहिए या गाजर का सलाद के रूप में सेवन करना चाहिए.

5.    ह्रदय रोगों के लिए – कुछ लोगों को हृदय में दर्द या हृदय से सम्बंधित अन्य शिकायत होती हैं. जिसका सामना उन्हें किसी भी वक्त करना पड़ता हैं. गाजर एक ऐसा आहार हैं. जिसमें कैरोटीनायड की मात्र भी उपस्थित होती हैं. कैरोटीनायड हृदय रोग के लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं. इसलिए ह्रदय रोग से पीड़ित व्यक्ति को इसका सेवन जरुर करना चाहिए.  गाजर का लगातार सेवन करने आपको प्राकृतिक सुन्दरता प्राप्त होगी और आपका चेहरा और खुबसूरत हो जायेगा.


6.    हिमोग्लोबिन – शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने के लिए भी गाजर का सेवन किया जा सकता हैं. कुछ लोगों के शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम होती हैं. जिससे उन्हें अपने शरीर में कमजोरी महसूस होती हैं. गाजर शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाने के लिए गाजर का जूस भी बहुत ही लाभकारी होता हैं. इसलिए शरीर में यदि हीमोग्लोबिन की मात्रा कम हैं तो गाजर के जूस का सेवन अवश्य करें.

7.    पाचनशक्ति को बढ़ाने के लिए – कई बार कुछ लोगों की पाचन शक्ति बहुत कम होती हैं. जिसके कारण उनके द्वारा जो भी भोजन ग्रहण किया जाता हैं. वह जल्दी नहीं पच पाता और पेट में कब्ज, दर्द आदि की शिकायत उत्पन्न हो जाती हैं. यदि आपके शरीर की पाचनशक्ति कमजोर हैं. तो आप गाजर का सेवन अवश्य करें. गाजर में फाइबर की मात्रा भी विद्यमान होती हैं. जिससे मनुष्य के शरीर की पाचन शक्ति बढती हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT तरबूज के आयुर्वेदिक फायदे और उपचार ...
Gaajar ke Aushdhiy Prayog
  1. Gaajar ke Aushdhiy Prayog

8.    हड्डी और दांतों की मजबूती के लिए – यदि व्यक्ति के शरीर की हड्डी कमजोर हो या उसे दांतों के हिलने की समस्या हो तो भी वह इन दोनों समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए भी गाजर का सेवन कर सकता हैं. क्योंकि गाजर में कैल्शियम की मात्रा विद्यमान होती हैं. जो शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाने में तथा दांतों की मजबूती के लिए लाभदायक होता हैं.

9.    हार्ट अटैक (heart attack) के लिए – यदि प्रतिदिन गाजर का सेवन किया जाये, तो व्यक्ति को हार्ट अटैक (heart attack) होने की कम सम्भावना होती हैं. इसलिए यदि किसी व्यक्ति को हार्ट अटैक आते हो. तो उस व्यक्ति को गाजर का सेवन रोजाना करना चाहिए.

10.जुखाम के लिए – सर्दी के दिनों में जुखाम की बिमारी अक्सर लोगों को हो ही जाती हैं. यह हैं तो छोटी सी बिमारी लेकिन यह छोटी सी ही बीमारी लोगों को अधिक परेशान भी करती हैं. इसलिए इस बिमारी से बचने के लिए भी आप गाजर का प्रयोग कर सकते हैं. गाजर खाने से मानव शरीर का प्रतीक्षातंत्र मजबूत होता हैं और जुखाम की बिमारी ठीक हो जाती हैं.

11. मुंह के छाले के लिए – मुंह के छालों को ठीक करने के लिए गाजर फायदेमंद होता हैं. मुंह के छालों से रहत पाने के लिए एक गिलास गाजर का जूस लें और उसे मुंह में घुमा – घुमाकर कर पी जाएँ. ऐसा दो – चार दिनों तक करने पर आपके मुंह के छाले ठीक हो जायेंगे.

12.  खून की वृद्धि – यदि किसी व्यक्ति के शरीर में खून की कमी हो तो उसे रोजाना एक बादाम खाकर, एक गिलास गाजर का जूस पीना चाहिए तथा इसके बाद दूध का सेवन करना चाहिए. ऐसा करने से शरीर में खून की वृद्धि तथा बल की वृद्धि होती हैं.
 Gajar ke Aayurvedic Fayde
 Gajar ke Aayurvedic Fayde


13. हिचकी – कभी – कभी लगातार हिचकियाँ आती हैं और रुकने का नाम ही नहीं लेती. हिचकियों को रोकन के लिए गाजर का रस बहुत ही उपयोगी होता हैं. हिचकियों को बंद करने के लिए गाजर के रस की 2 – 2 बुंदें अपने नाक के दोनों छिद्रों में डालें. गाजर का रस डालने के कुछ ही समय बाद हिचकी बंद हो जायगी.

14.    कान में दर्द – कान में यदि दर्द हो रहा तो भी आप गाजर के रस का इस्तेमाल कर सकते हैं. कान के दर्द से राहत पाने के लिए गाजर के रस को हल्का गुनगुना कर लें और इसकी दो – दो बूंदों को अपने – दोनों कानों में डाल लें. कान में गाजर का रस डालने के 5 मिनट बाद कान का दर्द ठीक हो जाएगा.

15.                       सूजन – यदि किसी व्यक्ति के शरीर में सुजन हो गई हैं और उसे अपना शरीर फूला हुआ महसूस हो रहा हो तो भी शरीर की सूजन को कम करने के लिए गाजर का प्रयोग किया जा सकता हैं. सूजन की इस बिमारी को दूर करने के लिए गाजर की सब्जी बनायें और उसका सेवन करें. गाजर की सब्जी बनाते हुए यह ध्यान रखें की उसमें किसी प्रकार का खट्टा पदार्थ न डाला गया हो. लगातार कुछ दिनों तक गाजर की सब्जी खाने से आपको जल्द ही इस समस्या से मुक्ति मिल जायेगी.  
   
गाजर के फायदे और औषधीय प्रयोग के बारे में जानने के लिए आप नीचे केमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हैं. 
Gajar ke Vibhinn Upyog
Gajar ke Vibhinn Upyog
  
               

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT