इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Naye Evm Purane Ghar ke liye Aavashyak Jankaari | नए एवं पुराने घर के लिए आवश्यक जानकारी

नए एवं पुराने घर के लिए आवश्यक बातें (Important Information for Old and New Home)
हमारे मन में हमेशा यही उलझन रहती हैं कि हम अपने नए और पुराने घर को सुन्दर व आकर्षक कैसे बनाएं, घर में वस्तुओं को किस दिशा में रखें, वस्तुओं को रखने के लिए कौन सा स्थान बेहतर रहेगा. यदि आप भी इस उलझन में फसें हुए हैं. तो आप अपनी इस समस्या का समाधान पाने के लिए लिए वास्तुशात्र में बताए गये उपयोगी बातों का ध्यान अवश्य रखें. जिनकी जानकारी नीचे दी गई हैं - 

·       सूर्य के प्रकाश की व्यवस्था (Arrangement of Sunlight) - अगर आप नया घर बनाने की योजना बना रहें हैं तो अपने घर में खिड़की दरवाजे इस प्रकार लगवाएं कि आपके घर में सूर्य देवता की रौशनी आ सके और आपके पूरे घर में प्रकाश रहें.

·       ड्राइंग रूम (Drawing Room)- हमेशा अपने घर के ड्राइंग रूम में फूलों का गुलदस्ता लगायें. यदि आप अपने घर में मंदिर स्थापित करना चाहते हैं तो कभी भी मंदिर को रसोई घर में स्थापित न करें. देवी – देवताओं की पूजा करने के लिए यदि सम्भव हो तो एक नया कमरा बनवा लें.

·       मंदिर या पूजा स्थल (Worship Place) - जिस कमरे में आप सोते हैं. उसमें कभी – भी भगवान की मूर्ति, तस्वीर या धार्मिक वस्तु या धार्मिक ग्रंथों को न रखें. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के बाथरूम या शौचालय के पास वाले कमरे में देवी – देवताओं की पूजा करने के लिए पूजा स्थल न बनवाएं.


·       वास्तु दोष शांति (Peace of Vastu Dosh) - यदि आपके घर पर वास्तु दोष का प्रभाव हैं. तो घर को वास्तु दोष से मुक्त करने के लिए किसी भी शुभ दिन और शुभ समय में अपने घर में वास्तु दोष नाशक कवच को स्थापित करें. वास्तुशास्त्र के अनुसार यदि आप अपने घर को दोष मुक्त करवाना चाहते हैं. तो अपने घर में इस कवच की स्थापना दीपावली के दिन करें. घर में कवच की स्थापना करने के बाद रोजाना इस कवच की पूजा करें. इसके अलावा यदि आप इस कवच को अपने घर के किसी दोष मुक्त कोण में या स्थल पर रख दें. तो भी आपका घर वास्तु दोष से मुक्त हो जाएगा.

·       वास्तु दोष का निवारण (Prevention of Vastu Dosh) - अपने घर को वास्तु दोष से मुक्त रखने के लिए आप अपने घर के पूजा स्थल में स्फटिक से बना हुआ यंत्र भी स्थापित कर सकते हैं. घर के पूजा स्थल पर स्फटिक के श्री यंत्र को स्थापित करने के बाद आपके घर से वास्तु दोष हट जाएगा तथा इस यंत्र को स्थापित करने से आपके घर में कभी – भी पैसों की तंगी नहीं होगी. क्योंकि इस यंत्र की प्रतिदिन पूजा करने वाले व्यक्ति पर हमेशा लक्ष्मी जी की कृपा बनी रहती हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT नए घर के लिए वास्तुशास्त्र के उपयोगी उपाय ...

Naye Evm Purane Ghar ke liye Aavashyak Jankaari
Naye Evm Purane Ghar ke liye Aavashyak Jankaari 

·       घर का प्रवेश द्वार (Entrance Gate of Home) - वास्तुशास्त्र के अनुसार घर से सभी प्रकार के दोषों को दूर रखने के लिए घर के प्रवेश द्वार के एक ओर केले का पौधा लगायें और एक ओर तुलसी का पौधा लगायें. इन दोनों पौधों को लगाने से आपका घर सभी प्रकार के वास्तु दोषों से मुक्त हो जाएगा.

·       लक्ष्मी का वास (Habitat of Lakshmi Mata)– अपने नए या पुराने घर में लक्ष्मी माता की कृपा पाने के लिए एक पान का पत्ता लें और थोड़ी सी हल्दी लें. अब हल्दी को पानी के साथ घोलकर इस घोल का छिडकाव अपने पूरे घर में पान के पत्ते से करें. हल्दी के घोल का छिडकाव करने से आपके घर में सदैव लक्ष्मी माता वास करेंगी और आपके घर में हमेशा सुख – शांति बनी रहेगी.

·       घर के मुखिया पर वास्तु दोष का प्रभाव (Vastu Dosh’s Effects on Head of Home) - वास्तु दोष का प्रभाव घर के सभी सदस्यों पर तो पड़ता ही हैं. लेकिन वास्तुदोष का असर प्रमुख रूप से घर के मुखिया पर पडता हैं. जिसके कारण घर के मुखिया को काफी कष्ट भी उठाने पड़ते हैं. वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का मुखिया इस दोष के हानिकारक प्रभाव से बचने के लिए रुद्राक्ष की माला को धारण कर सकता हैं. रुद्राक्ष की माला को पहनने से घर के मुखिया पर वास्तु दोष का प्रभाव बहुत ही कम पड़ता हैं.

·       कीमती वस्तुएं (Precious Things) - वास्तु शास्त्र के अनुसार अपने घर की बेहद कीमती और महत्वपूर्ण वस्तुओं को, धन को या आभूषणों को कभी – भी ईशान कोण में न रखें. क्योंकि घर के ईशान कोण में बहुमूल्य वस्तुओं को छुपाने से घर में हानि की स्थिति उत्पन्न होती हैं.

·       घर में झाड़ू का स्थान (Space for House Broom)- अपने घर में साफ – सफाई करने के बाद झाड़ू को ऐसे स्थान पर रखें. जहाँ पर किसी भी व्यक्ति का झाड़ू पर पैर न पड़े. वास्तुशास्त्र के अनुसार झाड़ू पर पर कभी – भी किसी भी तरह की भारी वास्तु को न रखें. झाड़ू पर बार – बार पैर रखने से तथा झाड़ू पर वजन रखने से घर के धन का नाश होता हैं तथा घर में समस्याएं उत्पन्न होती हैं. इसके साथ ही झाड़ू हमेशा ऐसी जगह रखें. जहाँ पर आपके घर पर आने जाने वाले व्यक्तियों की नजर झाड़ू पर न पड़ें.  CLICK HERE TO READ MORE ABOUT सोये भाग्य को जगाने के टोने टोटके ...

नए एवं पुराने घर के लिए आवश्यक जानकारी
नए एवं पुराने घर के लिए आवश्यक जानकारी 
     

·       घर की दीवार पर चित्र (Pictures of Home Wall)- अपने नए घर की दीवारों को सजाने के लिए प्रकृति की सुन्दर और हरियाली वाले चित्र लगाएं. इन चित्रों को लगाने से आपका मन हमेशा प्रसन्न रहेगा तथा घर के मुखिया भी मानसिक तनाव से मुक्त रहेंगे.

·       घर की समृद्धि (For Home Richness) - घर की सुख - समृद्धि के लिए हमेशा अपने घर की पूर्वोत्तर दिशा में एक पानी का भरा हुआ कलश रखें. घर के पूर्वोत्तर दिशा में पानी का कलश भरकर रखने से आपके घर में हमेशा शांत वातावरण रहेगा तथा आपके घर में समृद्धि आएगी.

·       खाली घर (Empty House) - यदि कोई घर बहुत समय से खाली पडा हो और अब आप उस घर में जाकर रहना चाहते हैं. तो उस घर में प्रवेश करने से पहले एक बार वास्तुशांति पूजन अवश्य कराएँ तथा इस बात का विशेष ध्यान रखें कि उस घर को भविष्य में तीन महीने से अधिक समय तक खाली न छोड़ें.

·       भण्डार घर (Store Room)- नए एवं पुराने घर के भण्डार घर को कभी – भी खाली न छोड़ें. अर्थात उसमें कुछ मात्रा में अनाज अवश्य रखें.

·       मिट्टी का मटका (caly pot) - नयें एवं पुराने घर में एक मिटटी से बन हुआ मटका भरकर हमेशा रखें तथा इस मटके के सामने रोजाना शाम को दीपक जलाकर रख दें.

·       वास्तु शांति यज्ञ (Yagya of Vaastu Shanti) - इसके अलावा हर वर्ष वास्तु दोष से मुक्त रहने के लिए प्रत्येक वर्ष वास्तु शांति हेतु यज्ञ जरूर करवाएं. क्योंकि हर व्यक्ति अपने रोजमर्रा के जीवन में अनेक पाप करता हैं. इन पापों से मुक्ति पाने के लिए वास्तु शांति यज्ञ बहुत ही लाभदायक सिद्ध होता हैं.

·       घर की दक्षिण और पश्चिम दिशा - अगर घर का निर्माण करवाते हुए आपके घर की दक्षिण और पश्चिम दिशा कट गई हो. तो आप अपने घर की अशांति को दूर करने के लिए निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं.

1.    घर की शांति के लिए पिंडदान करें, पितृशांति के लिए पूजा करें.

2.    अपने घर में एक गणेश जी की मूर्ति को स्थापित कर लें.

3.    घर में पूजा स्थल बनवाकर देवी – देवताओं की पूजा करें.

4.    नवग्रहों को शांत करने के लिए पूजा करवाएं और बिना पूजा करवाएं नए घर में प्रवेश न करें.

नए और पुराने घर के लिए अन्य आवश्यक और महतवपूर्ण बातों को जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल करते हैं. 


 Nye Or Purane Ghar ke liye Vastu Tips
 Nye Or Purane Ghar ke liye Vastu Tips




Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT