इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Prathmik Chikitsa or Uske Uddeshya | प्राथमिक चिकित्सा और उसके उद्देश्य | First Aid and Their Aim Purpose

प्राथमिक चिकित्सा ( First Aid )
जब भी कोई किसी दुर्घटना से ग्रसित हो जाता है या कोई चोट लग जाती है जैसे कटना, छिलना, जलना आदि तो उस समय सबसे पहले किया गये उपचार को ही प्राथमिक चिकित्सा कहा जाता है. किन्तु ध्यान रखें कि ये चिकित्सा पूर्ण नही होती तो इसके बाद अच्छे डॉक्टर के पास जरुर जाना चाहियें. किन्तु इससे दर्द कम होता है और उपचार की तरफ पहला कदम भी रखा जाता है. प्राथमिक चिकित्सा आपके जीवन की पहली रक्षा करती है तथा आपको जल्द से जल्द ठीक होने में आपकी सहायता करती है.  CLICK HERE TO KNOW आपातकाल में प्राथमिक चिकित्सा कैसे दें ...
Prathmik Chikitsa or Uske Uddeshya
Prathmik Chikitsa or Uske Uddeshya
वैसे तो प्राथमिक चिकित्सा का स्थान हर जगह है किन्तु सड़क, कार बस या ऐसी जगह जहाँ दुर्घटना अधिक होती है वहाँ इसका महत्व कुछ अधिक होता है. क्योकि ऐसी जगह पर जब दुर्घटना होती है तो एम्बुलेंस को आने में समय लगता है और अगर तब तक रोगी को प्राथमिक उपचार नही मिलता तो उसकी जान को निश्चित रूप से खतरा होता है. जब कोई व्यक्ति दुर्घटना से ग्रसित हो तो उसके आसपास के लोगों को प्राथमिक चिकित्सा में उनकी मदद करनी चाहियें और प्राथमिक चिकित्सा से जुडी ऐसी ही कुछ बातें आज हम आपको बताने वाले हैं.

प्राथमिक चिकित्सा का उद्देश्य ( Purpose of First Aid ) :
1.   जीवन बचाना ( Saving Life ) : प्राथमिक उपचार का सबसे पहला उद्देश्य यही होता है कि किसी भी तरह से दुर्घटना से ग्रस्त व्यक्ति की जान बचायी जा सके.  

2.   दुर्घटना के परिणाम को बढ़ने से रोकना ( Control Accidental Results ) : इसके अलावा प्राथमिक चिकित्सा से ये सुनिश्चित किया जाता है कि पीड़ित को लगी चोट की वजह से कोई अन्य रोग या चोट इत्यादि ना लग जाएँ. अर्थात आगे की चोट को रोकना इसका दूसरा उद्देश्य होता है. CLICK HERE TO KNOW बेहोशी दूर करने के बेहतरीन टिप्स ... 
प्राथमिक चिकित्सा और उसके उद्देश्य
प्राथमिक चिकित्सा और उसके उद्देश्य
3.   संक्रमण के लिए शक्ति / प्रतिरोधक क्षमता देना ( Give Immunity ) : दुर्घटना किसी भी चीज से हो सकती है और कुछ चीजों से संक्रमण होने की संभावना बनी रहती है, तो पीड़ित की प्राथमिक चिकित्सा ऐसे की जाती है जिसे उसे किसी भी तरह का संक्रमण ना हो और यही प्राथमिक चिकित्सा का तीसरा उद्देश्य भी होता है.

उपचार से पहले जांच ( Examined Before Treatment ) :
प्राथमिक उपचार में किसी भी मरीज या पीड़ित का उपचार करने से पहले 3 चीजों का मुख्य ध्यान रखा जाता है. जिसे चिकित्सा की भाषा में ABC कहा जाता है. इन तीनों के सुनिश्चित होने के बाद ही उपयुक्त उपचार आरंभ होता है.

§  A ( Airway ) : एयरवे से अभिप्राय मरीज के वायु मार्ग से है. इसके जरिये ये देखा जाता है कि मरीज तक उपयुक्त वायु पहुँच रही है या नही.

§  B ( Breathing ) : वे मरीज जो घावल अवस्था में होते है उन्हें साँस लेने में अधिक दिक्कतें होते है इसलिए यहाँ ये सुनिश्चित करना होता है कि मरीज की सांसें चल रही है या नही.

§  C ( Circulation ) : इससे अभिप्राय पीड़ित की नाड़ियों में रक्तसंचार से है. उपचार से पहले ये निरिक्षण किया जाता है कि पीड़ित की नाडी किस गति से चल रही है. 
First Aid and Their Aim  Purpose
First Aid and Their Aim  Purpose
फर्स्ट ऐड किट बनायें ( Make Your Own First Aid Kit ) :
घर में अक्सर छोटी छोटी चोटें लगती रहती है जैसेकि सब्जी काटते वक़्त हाथ कटना, तार ठीक करते वक़्त करंट लग्न, बच्चे को खेलते हुए कोई चोट लग जाये इत्यादि. तो उसका उपचार करने के लिए आप घर में भी एक फर्स्ट ऐड किट तैयार कर सकते हो. जिसके लिए आप सबसे पहले एक चौकोर आकार के डब्बा लें और उसपर सफ़ेद कागज चढ़ा दें. उसके बाद आप किट के ऊपर और साइड में लाल स्केच पैन से क्रोस का निशान बना दें. ये चिह्न फर्स्ट ऐड बॉक्स को दर्शाता है. इसके बाद आप इसमें निम्नलिखित सामान डालें.

फर्स्ट ऐड किट का सामान ( Materials Needed for First Aid Kit ) :
उपचार करने के लिए किट में पर्याप्त मात्रा में उपचार सामग्री का होना आवश्यक है तो जब भी आप किट बनायें तो प्राथमिक उपचार के लिए जरूरी सामान की एक लिस्ट तैयार कर जरूरी सामान का चुनाव करें.

-    छोटी कैंची ( Small Scissor )

-    डेटोल / सेवलॉन/ एंटी बैक्टीरियल की शीशी ( Antibacterial Bottle )

-    रुई का बंडल ( Bundle of Cotton )

-    पट्टी के बंडल ( Bundle of Strip / Bar )

-    5 से 6 बैंडेज ( 5 – 6 Bandage )

-    चिपकने वाली मेडिकल टेप ( Medical Tape )

-    सर्दी – खांसी, सिर दर्द, बुखार की दवा ( Tablets for Cough, Headache and Fever )

-    क्रेप बैंडेज ( Cramp Bandage )

-    रबर के दस्ताने ( Rubber Gloves )

-    चिमटी ( Tweezers )

-    सुई ( Injections )

-    पेट्रोलियम जेली ( Petroleum Jelly )

-    छोटी टोर्च ( Small Torch )

-    थर्मामीटर ( Thermometer )

-    टूथपेस्ट ( Toothpaste )

-    ग्लूकोस ( Glucose )

-    विटामिन की गोलियां ( Vitamin Tablets ) आदि रखें
फर्स्ट ऐड एक अमूल्य जानकारी
फर्स्ट ऐड एक अमूल्य जानकारी
ध्यान रखें कि आप अपने फर्स्ट ऐड किट के ऊपर हॉस्पिटल, एम्बुलेंस और डॉक्टर का फ़ोन नंबर लिखना ना भूलें, ये बहुत ज्यादा जरूरी है ताकि जरुरत पड़ने पर उन्हें तुरंत फोन किया जा सकें. इसके अलावा समय समय पर किट का सामान भी जांचते रहें और यदि सामान खत्म हो गया है तो उसी व्यवस्था करें और अगर किसी सामान के इस्तेमाल की अंतिम तिथि जा चुकी है तो उसे बदल दें.

किट को कैसे और कहाँ रखें ( How and Where Place First Aid Kit ) :
चोट लगने पर जल्दबाजी में ये समझ नहीं आता कि क्या किया जाये इसलिए आप अपने किट को एक ऐसे स्थान पर रखें जहाँ से आप उसे आसानी से प्राप्त कर सकें. परन्तु इसे दस साल से कम उम्र के बच्चों से दूर रखें. लाल रंग दूर से ही दिख जाता है तो किट पर बड़ा क्रॉस का चिह्न बनायें. आप घर में सभी को किट की जानकारी दें ताकि जरूरत पड़ने पर सब उसका इस्तेमाल कर सकें.


फर्स्ट ऐड किट, इसके लिए जरूरी सामान और प्राथमिक उपचार से सम्बंधित किसी भी अन्य सहायता के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट कर जानकारी हासिल कर सकते हो. 
प्राथमिक चिकित्सा
प्राथमिक चिकित्सा
Prathmik Chikitsa or Uske Uddeshya, प्राथमिक चिकित्सा और उसके उद्देश्य, First Aid and Their Aim  Purpose, फर्स्ट ऐड एक अमूल्य जानकारी, First Aid Ek Amulya Jankaari, Prathmic Upchar Kit ka Mhatv, प्राथमिक चिकित्सा, First Aid, First Aid Kit ka Saamaan.



Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT