इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Lichi ke Aushdhiya Prayog | लीची के औषधीय प्रयोग | Medicine Uses of Lichi

लीची के औषधीय प्रयोग (Medicine Uses of Lichi)
1.    पित्त की अधिकता – यदि किसी व्यक्ति को पित्त की अधिकता की शिकायत हो तो वह पित्त की अधिकता से राहत पाने के लिए लीची के फल का प्रयोग कर सकता हैं. प्रतिदिन 50 से 100 ग्राम लीची के फल का सेवन गर्मी के दिनों में करने से पित्त की अधिकता की समस्या से छुटकारा मिल जाता हैं तथा प्यास शांत हो जाती हैं.

2.    चेचक – लीची का सेवन चेचक के रोग से ग्रस्त होने पर भी किया जा सकता हैं. चेचक के रोग के होने पर रोगी व्यक्ति को इसके कच्चे फल का सेवन करना चाहिए. इसके कच्चे फल का सेवन करने से आपको कुछ ही दिनों में चेचक के रोग से मुक्ति मिल जाएगी. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT लीची एक लाभदायक फल ...
Lichi ke Aushdhiya Prayog
Lichi ke Aushdhiya Prayog 


3.    प्यास – यदि किसी व्यक्ति को ग्रीष्म ऋतु में बार – बार प्यास लगती हो तथा अत्यधिक गर्मी महसूस होती हैं. तो वह व्यक्ति भी लीची का इस्तेमाल अपनी प्यास को बुझाने के लिए कर सकता हैं. गर्मी के दिनों में लीची का सेवन करने से शरीर को ठंडक मिलती हैं और प्यास बुझ जाती हैं. इसके साथ ही यदि किसी व्यक्ति को शारीरिक जलन महसूस होती हैं. तो उसके लिए भी लीची का फल लाभप्रद होता हैं.

4.    पेट के रोग – यदि किसी व्यक्ति को पेट में दर्द, कब्ज या कोई अन्य परेशानी हो तो वह इन समस्याओं से मुक्त होने के लिए भी लीची के फल के बीज का प्रयोग कर सकता हैं. लीची के बीजों का प्रयोग करने से व्यक्ति को इन सब बिमारीयों के साथ – साथ उदर रोग से भी मुक्ति मिल जाती हैं.

5.    बवासीर – बवासीर के रोग में भी लीची का इस्तेमाल किया जा सकता हैं. यदि किसी व्यक्ति को बवासीर का रोग हो गया हो तो उस व्यक्ति को प्रतिदिन लीची का सेवन करना चाहिए. प्रतिदिन लीची का सेवन करने से इस बीमारी में बहुत ही राहत मिलती हैं.

6.    कब्ज – पेट के उदर रोग के साथ – साथ लीची पेट की कब्ज को खत्म करने में भी सहायक सिद्ध होती हैं. अगर कब्ज से परेशान व्यक्ति रोजाना लीची का सेवन करें तो उसे कुछ ही दिनों में इस कब्ज से छुटकारा मिल जाएगा. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT फालसे का औषधिय उपयोग ...
लीची के औषधीय प्रयोग
लीची के औषधीय प्रयोग


7.    शरीर की गर्मी – लीची गर्मी के मौसम का ही फल हैं तथा यह शरीर की गर्मी को शांत करने के लिए भी बहुत ही लाभदायक होता हैं. यदि गर्मी के मौसम में रोजाना लीची के रस का सेवन किया जाए तो इस रस को पीने से व्यक्ति के शरीर को ठंडक मिलती हैं.

8.    हृदय रोग – शरीर की गर्मी को शांत करने के साथ – साथ लीची का रस हृदय रोगों के लिए भी बेहद उपयोगी सिद्ध होता हैं. इसलिए यदि आपको हृदय से सम्बन्धित कोई भी रोग हो गया हो तो लीची के रस का सेवन अवश्य करें.

9.    दिमागी ताक़त – दिमाग के विकास के लिए भी लीची का फल बहुत ही लाभकारी होता हैं.  इसलिए गर्मी के दिनों में इसका प्रयोग निरंतर रूप से करना चाहिए.  
 Medicine Uses of Lichi
 Medicine Uses of Lichi

                     
10.   पाचक – लीची का सेवन करने से भोजन जल्द ही पच जाता हैं. इसलिए भोजन करने के पश्चात् इसका सेवन आप कर सकते हैं.

11.   गले का रोग – यदि कोई गले के दर्द से या खराश से परेशान हो तो वह व्यक्ति गले के रोगों से मुक्त होने के लिए लीची का इस्तेमाल कर सकता हैं. लीची के फल का सेवन करने से गले का दर्द तथा खराश ठीक हो जाती हैं.

12.  दुर्बलता – लीची का सेवन करने से शारीरिक ऊर्जा में वृद्धि होती हैं. इसलिए यदि कोई व्यक्ति शारीरिक रूप से दुर्बल हो तो उस व्यक्ति को लीची रोजाना खानी चाहिए. रोजाना लीची खाने से कुछ ही दिनों में शरीर की दुर्बलता खत्म हो जाती है तथा शरीर के बल में वृद्धि होती हैं.

13.   हाथ – पैर की जलन – यदि किसी व्यक्ति के हाथ और पैरों में जलन होती हैं तो वह अपने हाथ और पैरों की जलन को शांत करने के लिए लीची के रस का सेवन कर सकता हैं. प्रतिदिन लीची के रस का सेवन करने से हाथ – पैरों में जलन होना बंद हो जाती हैं. 

लीची के औषधीय प्रयोग के अन्य उपायों को जानने के लिए आप नीचे केमेंट कर जानकारी हासिल कर सकते हैं.
Rogon ko Door Karne ke Liye Lichi ka Istemal
Rogon ko Door Karne ke Liye Lichi ka Istemal




Lichi ke Aushdhiya  Prayog, लीची के औषधीय प्रयोग, Medicine Uses of Lichi, Lichi se Ghreloo Ilaj, Rogon ko Door Karne ke Liye Lichi ka Istemal, लीची, Hriday Rog Bvasir Chechak Kabj Hath Pair ki Jalan ko Shant Karne ke liye Lichi ka Prayog, Home Remedies with Litchi, Litchi se Aayurvedic Upchar.

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT