इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Asthma ki Bimari ke liye Aushdhiya Upay | अस्थमा की बीमारी के लिए औषधीय उपाय

अस्थमा के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies for Asthama)
वैसे तो दमे की बीमारी से पीड़ित होने के बाद इस बीमारी से पूर्ण रूप से छुटकारा नहीं पाया जा सकता. लेकिन इस बीमारी के भयंकर प्रभाव से बचने के लिए तथा इस रोग को नियंत्रित करने के लिए आप नीचे दिए गये कुछ उपायों को आजमा सकते हैं.  

·     अस्थमा की बीमारी पर काबू पाने के लिए कुछ तुलसी के पत्ते लें और कुछ काली मिर्च के दाने लें. अब इन दोनों को एक साथ पीस लें. इसके बाद इसे खा लें. रोजाना यदि दिन में एक बार आप तुलसी और कालीमिर्च के मिश्रण को खाने से दमे की बीमारी नियंत्रित रहती हैं.

·     यदि किसी व्यक्ति को दमे के दौरे पड़ते हैं तो उस व्यक्ति को दिन में दो बार हल्दी और शहद को एक साथ मिलाकर चांट लें. आपको दौरे पड़ने बंद हो जायेंगे.

·     तुलसी के पत्ते दमे की बीमारी के लिए बहुत ही उपयोगी और लाभकारी होते हैं. यदि आप तुलसी को पीसकर उसमें थोडा शहद मिला लें. इसके बाद इस मिश्रण को रोजाना खाएं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT अस्थमा के कारण और लक्षण ... 
Asthma ki Bimari ke liye Aushdhiya Upay
Asthma ki Bimari ke liye Aushdhiya Upay

·     कुछ लोगों को दमा की एलर्जी के कारण भी हो जाती हैं. लेकिन एलर्जी को नियंत्रित करने के लिए भी आप एक उपाय आजमा सकते हैं. इसके लिए रोजाना एक गिलास दूध में रात को सोने से पहले थोडा – सा हल्दी पाउडर मिला कर पी लें. आपको बहुत ही लाभ मिलेगा.

·     अस्थमा के रोग पर काबू पाने के लिए आप शहद को कवल सूंघ भी सकते हैं.

·     यदि दमे के रोग से पीड़ित व्यक्ति अपने भोजन के साथ एक गिलास निम्बू पानी का सेवन करें. तो भी यह बीमारी काफी नियंत्रित रहती हैं.

·     अस्थमा की बिमारी के भयंकर प्रभाव से बचने के लिए एक आंवला लें और उसका सेवन करें. इसके अलावा आप आंवले के साथ शहद का भी प्रयोग कर सकते हैं.

·      दमे के रोग से पीड़ित होने पर एक बर्तन में पानी डालकर उसमें आजवायन डालें. इसके बाद इस पानी की भांप लें. आपको दमे के रोग में काफी राहत मिलेगी.

·     अस्थमा के रोगी के लिए लहसुन भी अत्यंत लाभदायक होता हैं. यदि आप इस बीमारी से पीड़ित हैं तो आप दूध में लहसुन उबालकर या लहसुन की चाय बना कर पी सकते हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT यंत्र तंत्र के प्रयोग से दमे का निदान ...
अस्थमा की बीमारी के लिए औषधीय उपाय
अस्थमा की बीमारी के लिए औषधीय उपाय

·     यदि किसी व्यक्ति को दमे के दौरे पडते हैं तो इसके लिए सरसों के तेल को थोडा गर्म कर लें और इस तेल से अपनी छाती की मालिश करें. आपको काफी आराम मिलेगा.

·     दमे के रोगी इस बीमारी काबू पाने के लिए मेथी का प्रयोग भी कर सकते हैं. इसके लिए थोड़े मेथी के दाने लें और उन्हें पानी में डालकर उबाल लें. जब इस पानी का काढा बन जाएँ तो इसे उतार लें. इसके बाद इस काढ़े को थोडा ठंडा करने के बाद पी लें.

·     मेथी के दानों की भांति ही आप लौंग को पानी में डालकर तथा अच्छी तरह से उबालकर काढ़ा बनाकर सेवन कर सकते हैं. क्योंकि लौंग भी दमे को नियंत्रित करने के लिए लाभकारी सिद्ध होता हैं.

·     उपरोक्त दोनों उपायों के साथ – साथ यदि नारियल पानी, पेठे के रस, पत्ता गोभी के रस, चुकुन्दर का रस, अंगूर के रस तथा घास के रस का सेवन करें तो इस बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति को इस बीमारी के गंभीर रूप का सामना नहीं करना पड़ता.

·     दमे के रोग से पीड़ित होने पर कुछ तुलसी के पत्ते लें, अदरक का रस लें और थोडा शहद लें. अब इन तीनों को एक साथ मिलाकर पी लें इसके बाद इसका सेवन करें. आपको इस बीमरी में लाभ मिलेगा.

·     दमे का रोगी मेथी के दानों को भिगोकर भी का खा सकता हैं, इसके साथ ही यदि मेथी के पानी में थोडा सा शहद मिलाने के बाद इसे पी लें.
Sans ke Rogi ke liye Upachar
Sans ke Rogi ke liye Upachar

·     यदि किसी व्यक्ति को इस बीमारी से पीड़ित हुए कुछ ही समय हुआ हैं तो इस बीमारी को ठीक करने के लिए एक गिलास निम्बू पानी लें और उसमें एक चम्मच त्रिफला मिला लें. जल्द ही आपको दमे के रोग से छुटकारा मिल जाएगा.

·     अस्थमा के रोग पर नियंत्रण पाने के लिए एक कप गर्म पानी लें और उसमें एक चम्मच शहद मिला लें. अब इस पानी का सेवन दिन में तीन बार करें. आपको आराम मिलेगा.

·     अस्थमा की बीमारी होने पर थोडा अदरक डालकर चाय बना लें. अब इस चाय में दो लहसुन की कलियाँ पीसकर  डाल दें. इसके बाद इसे कुछ देर और उबाल लें. अब इस पानी का सेवन करें. दमा काफी नियंत्रित हो जाएगा.

·     एक बर्तन लें और उसमें 180 मिली पानी डाल लें और इसे उबालने के लिए रख दें. अब कुछ सहजन की पत्तियां लें और इन्हें इस पानी में डाल दें. थोड़ी देर तक इस पानी को उबालने के बाद उतार कर ठंडा कर लें. जब पानी थोडा ठंडा हो जाये. तो इस पानी में चुटकी भर नमक, कालीमिर्च और निम्बू का रस मिला लें और इके बाद इस पानी का सेवन करें. दमे की बीमारी में सुधार हो जाएगा.

·     दमे के रोगी अपनी श्वास नलिकाओं को साफ रखने के लिए रोजाना दूध के साथ भुने हुए चने खाएं.
Dame ki Prabhavavshali Chikitsa
Dame ki Prabhavavshali Chikitsa
·     दमे के रोग के होने पर यदि आपको सांस लेने में ज्यादा तकलीफ हो रही हो इसके लिए अपने भोजन में अधिक दालों का तथा सूखे हुए अंगूरों का सेवन करें. सांस से जुडी परेशानी अधिक नहीं होगी.

·     दमे के रोग में ज्यादा तकलीफ न हो. इसके लिए एक कप घिसी हुई मूली लें, एक चम्मच शहद डालें और थोडा सा निम्बू का रस लें. अब इन तीनों को एक साथ मिलाकर 20 मिनट तक उबालें. अच्छी तरह से इस मिश्रण को पकाने के बाद इस मिश्रण को एक शीशी में भर लें. अब रोजाना एक – एक चम्मच के रूप में इस मिश्रण का रोजाना सेवन करें.

·     दमे के रोग से प्रभावित होने पर रात के समय एक बर्तन में थोडा पानी डालकर गर्म कर लें. इसके बाद इस पानी में सुखी अंजीर को डालकर भिगो दें. अब अगले दिन उठने के बाद इसे पानी में से निकाल कर खा लें. ऐसा करने से आपको अगर बलगम की शिकायत हैं तो वह ठीक हो जायेगी.

·     अस्थमा की बीमारी के लिए करेला भी बहुत ही लाभदायक होता हैं. यदि करेले को पीस लें, इसके बाद इसमें तुलसी के पत्तों को पीसकर मिला लें. अब इस मिश्रण में थोडा सा शहद मिला लें. इसके बाद इस मिश्रण का सेवन करें. इस मिश्रण का सेवन करने से यदि आपको एलर्जी हैं तो वह ठीक हो जायेगी.
Asthma ki Bimari ka Deshi Ghreloo Ilaaj
Asthma ki Bimari ka Deshi Ghreloo Ilaaj

·     बच्चों के लिए - यदि कोई बच्चा दमे के रोग से पीड़ित हो. तो 15 ग्राम अमलतास का गूदा लें, दो कप पानी लें. अब पानी में अमलतास का गूदा डालकर उबाल लें. जब पानी आधे से कम बच जाए तो इसे उतार कर रख दें और बच्चे को रात को सोने से पहले गर्म – गर्म पिला दें. इस मिश्रण को पीने से बच्चे के फेफड़े का सारा बलगम ख़त्म हो जाएगा. यदि इस मिश्रण का महीने भर सेवन कर लिया जाए तो इससे तपेदिक की बीमारी भी ठीक हो जायेगी. 

दमे के औषधीय और ज्योतिषीय उपायों के बारे में जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके तुरंत जानकारी हासिल कर सकते हैं. 
Cough V Balgam ki Shaikayat in Upayon se Door Karen

Cough V Balgam ki Shaikayat in Upayon se Door Karen 

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT