इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Asthma Rog ke Karan Lakshan | अस्थमा रोग के कारण लक्षण

अस्थमा क्या हैं (What is Asthma)
अस्थमा एक बहुत ही गंभीर बीमारी हैं. यह बिमारी व्यक्ति की श्वास नलिकाओं में होती हैं. श्वास नलिकाएं वे नलिकाएं हैं जो मानव शरीर के फेफड़ों से जुडी होती हैं और इन नलिकाओं के द्वारा ही कोई भी मनुष्य सांस ले पाता हैं.

जब किसी व्यक्ति के गले की सांस लेने वाली नलिकाओं में कोई रोग हो जाता हैं. जिसके कारण व्यक्ति को सांस लेने में दिक्कत होती हैं, वह लगातार खांसने लगता हैं, उसकी सांसे फूलने लगती हैं. तो यह रोग “दमा” कहलाता हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT यंत्र तंत्र के प्रयोग से दमे का निदान...
Asthma Rog ke Karan Lakshan
Asthma Rog ke Karan Lakshan
दमा के लक्षण (Symptoms of Asthama Disease)
1.अस्थमा होने पर मनुष्य की श्वास नलिकाओं में सुजन आ जाती हैं. सुजन के कारण ही श्वास नलिकाएं बेहद संवेदनशील हो जाती  हैं. जिसका परिणाम यह होता हैं कि यदि इन नलिकाओं से कोई तीखा खाद्य पदार्थ हल्का सा स्पर्श हो जाता हैं तो व्यक्ति बेचैन हो जाता हैं.

2.श्वास नालिकाओं में सुजन होने से ये नलिकाएं संकुचित हो जाती हैं. जिससे फेफड़ों में वायु कम जाती हैं और सांस लेने में बहुत ही परेशानी होती हैं.

3.दमा होने का मुख्य लक्षण हैं खांसी होना, नाक बजना. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT दमा का घरेलू आयुर्वेदिक इलाज ...
अस्थमा रोग के कारण लक्षण
अस्थमा रोग के कारण लक्षण
4.दमा होने पर इस रोग से पीड़ित व्यक्ति को छाती में कडापन महसूस होता हैं.

5.  इस बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति को सुबह और रात के समय सांस लेने में बहुत ही दिक्कत होती हैं.
6. अस्थमा से पीड़ित मनुष्य की सांस फूलने और सांस बिल्कुल न आने की शिकायत भी रहती हैं.

दमा का गंभीर रूप
1.जब दमा की बीमारी भयंकर रूप धारण कर लेती हैं, अर्थात जब यह रोग अधिक बढ़ जाता हैं. तब उसे दौरे आने लगते हैं. 

2.व्यक्ति बुरी तरह छटपटाने लगता हैं.

3.रोगी के शरीर में ऑक्सीजन के आभाव के कारण उनका चहेरे का रंग नीला हो जाता हैं.

4.अस्थमा जब गंभीर हो जाता हैं तो रोगी को अधिक सुखी और एठंनदार खांसी होती हैं.

5.इस बिमारी से पीड़ित व्यक्ति को रात के समय खासतौर पर सोते हुए सांस लेने में बहुत ही कठनाई महसूस होती हैं.

6.दमा के मरीज को बलगम की भी शिकायत रहती हैं.

दमा के रोग के कारण (Causes of Asthama Disease)
1.दमा का रोग ठीक ढंग से न खाने – पीने के कारण भी हो सकता हैं.

2.यदि कोई व्यक्ति अधिक तनाव से घिरा रहता हैं या उसे हर समय किसी भी चीज का भय सताता रहता हैं, ज्यादा क्रोध आता हैं तो उसे दमा हो सकता हैं.

3.अगर किसी व्यक्ति के खून में किसी प्रकार का दोष उत्पन्न हो गया हैं तो भी उसे यह बीमारी हो सकती हैं.

4.नशीले पदार्थों का सेवन करने के कारण भी कई लोगों को दमा की शिकायत हो जाती हैं.

5.यदि कोई व्यक्ति खांसी, जुखाम तथा नजला रोग से अधिक समय से ग्रस्त हैं तो वह भी इस रोग से पीड़ित हो सकता हैं.

6.अधिक मिर्च – मसाले वाला भोजन, तले हुए पदार्थ तथा गरिष्ठ भोजन करने के कारण भी दमा रोग हो जाता हैं.
Gambhir Roop mein Asthma
Gambhir Roop mein Asthma
7.अगर किसी व्यक्ति का हृदय, फेफड़े, गुर्दे, आंत, स्नायुमंडल कमजोर हो तो उसे यह रोग हो सकता हैं.

8.यदि कोई व्यक्ति नाकड़ा रोग से पीड़ित हैं तो उसे दमे का रोग होने की अत्यधिक सम्भावना रहती हैं.

9.यदि मनुष्य की श्वास नलिकाओं में धुल के छोटे – छोटे कण चले जाए या उसे अधिक ठंड लग जाए तो उसे अस्थमा का रोग हो सकता हैं.

10. यदि मनुष्य अधिक ध्रुम्रपान करता हैं तो उसे यह रोग हो सकता हैं.

11.अगर हम अपने भोजन ऐसे पदार्थों का सेवन करें जिनसे हमारे शरीर की नलियों में जलन उत्पन्न हो तो भी दमे की बीमारी हो सकती हैं.

12.    लगातार अधिक औषधियों का प्रयोग करने के कारण जब शरीर का कफ सुख जाता हैं तो ऐसी अवस्था में भी दमे का रोग हो सकता हैं.

13. भोजन में अधिक मात्रा में पौधों के पुष्परज, अंडे तथा खोपड़ी के खुरण्ड का सेवन करने के कारण भी अस्थमा हो जाता हैं.

14. यदि कोई महिला गर्भवती हैं और वह हमेशा धुम्रपान वाले वातावरण में रहती हैं तो उसके बच्चे को दमे के रोग से ग्रस्त होने की काफी सम्भावना रहती हैं.

15.   यदि कोई व्यक्ति जानवरों के साथ अधिक समय व्यतीत करता हैं. तो उसे भी यह रोग हो सकता हैं.
Dam Ghotu Samasya
Dam Ghotu Samasya
16.   अगर पैतृक कारणों से भी दमे का रोग हो जाता हैं. जैसे यदि आपके घर में कोई व्यक्ति पहेले दमे के रोग से पीड़ित था. तो आपको भी दमा हो सकता हैं.

17.   इसके अलावा मौसम के परिवर्तन के कारण या मजबूत  भावात्मक मनोभाव के कारण भी हो जाता हैं. जैसे – यदि कोई व्यक्ति लगातार हँसता रहता हो या हमेशा रोता रहे, अर्थात एक ही अवस्था में या भाव में रहने पर भी यह रोग हो सकता हैं.

दमे के कारण लक्षण के बारे में अधिक जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके तुरंत जानकारी हासिल कर सकते हैं.     
Saans Fulne Atakne ka Kaaran
Saans Fulne Atakne ka Kaaran

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

5 comments:

  1. Can you tell Precaution of Asthama Disease??

    ReplyDelete
  2. I want to get rid off asthmatic pro elm for ever

    ReplyDelete
  3. अस्थमा में हानिकारक भोज्य पदार्थ

    ReplyDelete
    Replies
    1. Plz reply fast i have astama but mere gale me dard hota hai sardi aur gale se sar tak dard hota hai

      Delete
  4. Kya astama me kya gale me dard aur taklif rehti hai kya gale se sar tak bhi dard jata hai mukhe astama hai par mai koi puff nahi leti aur mujhe gale me akasar dard sardi gale se sar tak dard rehta hai

    ReplyDelete

ALL TIME HOT