इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Ghar ki Sidhiyon ka Vastu | घर की सीढियों का वास्तु | Vastu Tips for Ladder Stairs

सीढियों का वास्तु ( Architectural Tips for Stairs )
आपने ये अवश्य देखा होगा कि जब भी किसी को तरक्की का उदहारण देना होता है तो सीढियों का नाम जरुर लिया जाता है, क्योकि सीढियाँ हमे निचले स्तर से ऊपर के स्तर तक पहुंचाने का कार्य करती है. साथ ही ये ऊपर वाले स्तर से नीचे भी ला सकती है. यही बात सीढियों को इतना ख़ास और महत्वपूर्ण स्थान देती है. वैसे कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में निचले स्तर पर नही आना चाहता बल्कि हमेशा आगे ही बढ़ते रहना चाहता है. इसी बात को अगर सीढियों से जोड़ें तो हमे पता चलेगा कि अगर आपने अपने घर में सीढियों को बनवाते वक़्त सही वास्तु का ध्यान रखा है तो आप हमेशा ऊपर बढ़ते रहते हो और यदि आपकी सीढियों में कोई वास्तु दोष रह जाता है तो वही आपको ऊपर वाले स्तर से सीधे नीचे पहुंचा देता है. आज हम आपको कुछ ऐसे सुझावों से अवगत करवा रहे है जिनका उपयोग वास्तुशास्त्र में सीढियों के निर्माण के लिए किया जाता है, साथ ही हम कुछ ऐसे उपाय भी बताएँगे जिनका इस्तेमाल करके आप अपनी सीढियों से वास्तुदोष को भी दूर कर सकते हो. CLICK HERE TO KNOW घर का मुख्य द्वार और वास्तु ...
Ghar ki Sidhiyon ka Vastu
Ghar ki Sidhiyon ka Vastu
§ सीढियों का स्थान ( Places for Stairs ) : घर में या किसी ऑफिस इत्यादि में सीढियाँ बनवाते वक़्त उसकी दिशा का चुनाव सर्वप्रथम किया जाता है. इसलिए आप भी सीढियों के लिए दक्षिण, पश्चिम या फिर नैत्रत्य दिशा का ही चुनाव करें. इससे आपके घर में धन सम्पदा का वास होता है. वहीँ अगर आप सीढियों के लिए उत्तर, पूर्व, आग्नेय या ईशान कोण का चुनाव करते हो तो इससे घर से धन, सुख, शांति और मान की हानि होती है.

§ भवन के मध्य भाग में सीढियाँ ( Stairs in The Centre of Home ) : वास्तु शास्त्र में घर के मध्य भाग को ब्रह्म स्थान माना जाता है, अगर आप इस स्थान पर सीढियों का निर्माण करते है तो आप अपने जीवन में संकटों को निमंत्रण दे रहे है, साथ ही मध्य भाग में सीढियों के होने से आर्थिक संकट भी बढ़ता है. CLICK HERE TO KNOW होटल की वास्तु व्यवस्था ...
घर की सीढियों का वास्तु
घर की सीढियों का वास्तु
§ ईशान कोण में सीढियाँ ( Ladder in Northeast Corner ) : जैसाकि हमने ऊपर बताया है कि सीढियों का निर्माण कभी भी ईशान कोण में नही करना चाहियें, इसका कारण है कि इससे संतान के विकास, उसकी शिक्षा में बाधाएं उत्पन्न होती है.  
§ पूर्व दिशा में सीढियाँ ( Stairs in East Direction ) : यदि पूर्व दिशा की तरफ सीढियों का निर्माण किया जा रहा है तो इससे घर की सुख शान्ति पर खतरा बनता है और गृहक्लेश बढ़ता है. इसके साथ ही घर के सदस्यों को प्राप्त होने वाले अच्छे अवसर भी समाप्त होते है.

§ पश्चिम दिशा में सीढियाँ ( Stairs in West Direction ) : पश्चिम दिशा सीढियाँ बनाने के लिए आदर्श दिशा मानी जाती है इस दिशा में सीढियों का निर्माण करने से मुखिया को अपने जीवन में यश की प्राप्ति होती है साथ ही घर में धन व समृद्धि की कभी कमी नही रहती.
Vastu Tips for Ladder Stairs
Vastu Tips for Ladder Stairs
§ घुमावदार सीढियाँ ( Round Stairs ) : आजकल आपने देखा होगा कि हर व्यक्ति अपने घर में घुमावदार सीढियाँ ही बनवाता है क्योकि घुमावदार सीढियों को घर के लिए श्रेष्ठ माना जाता है. किन्तु आप ध्यान रखें कि सीढियों का घुमाव घडी की सुई के घुमने की दिशा की तरह ही हो अर्थात क्लॉकवाइज ( Clockwise ) हो.

§ सीढियों व पैड़ियों की संख्या ( Number of Stairs and Ladders ) : जिस तरफ घर में सीढियों की संख्या सम होनी चाहियें उसी प्रकार घर में सीढियों और पैड़ियों की संख्या विषम होनी चाहियें अर्थात 1, 3, 5, 7 इत्यादि होनी चाहियें. इसके साथ ही आप इस बात का भी ध्यान रखें कि पैड़ियों की ऊंचाई 7 इंच से अधिक न हो.

§ सीढियों के नीचे क्या ना बनवायें ( Don’t Construct These Under Stairs ) : ये पॉइंट बहुत महत्वपूर्ण है क्योकि हर घर में ये देखा गया है कि सीढियों के नीचे शौचालय, रसोई, पूजाघर या स्नानघर बनवा दिया जाता है जोकि गलत है. इसके स्थान पर आप इसके नीचे एक स्टोर रूम बनवा सकते हो.
सीढियों का वास्तुदोष दूर करें
सीढियों का वास्तुदोष दूर करें
§ सीढियों के वास्तुदोष मिटाने के सुझाव ( Tips to Remove Architectural Problem in Stairs ) : सीढियों से जुड़े वास्तुदोष को खत्म करने के लिए आप सीढियों का निर्माण करवाते वक़्त उन्हें नीचे से ऊपर की तरफ बनवायें, साथ ही सीढियों के नीचे कभी भी जूते चप्पल इत्यादि ना रखें. इसके अलावा आप एक दिन मिटटी के बर्तन में बरसात का पानी इकट्टा करें और उसे मिटटी के ही ढक्कन से ढककर सीढियों के नीचे रख दें. इससे भी सीढियों के सभी वास्तुदोष मिट जाते है.


सीढियों के निर्माण से जुड़े किसी भी तरह के अन्य वास्तु सुझाव या वास्तुदोष को मिटाने के उपायों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Sidhiyon Paidiyon ko Banayen Tarakki ki Sidhiyan
Sidhiyon Paidiyon ko Banayen Tarakki ki Sidhiyan
Ghar ki Sidhiyon ka Vastu, घर की सीढियों का वास्तु, Vastu Tips for Ladder Stairs, सीढियों का वास्तुदोष दूर करें, Vastushastra ke Anusar Karen Sidhiyon ka Nirmaan, Zinne ka Vaastu, Sidhiyon Paidiyon ko Banayen Tarakki ki Sidhiyan, Disha or Sidhiyan



YOU MAY ALSO LIKE  

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

3 comments:

  1. east side plot mebahar se stairs kahan or kese banaye

    ReplyDelete
  2. I have built a house with staircase in North East side. Now I want them to remove but how to re construct is the main issue. I am thinking to make iron staircases in front of house. My house is west facing, drawing room in south West side. How to cost ructions I don't kow pl suggest

    ReplyDelete
  3. Sidiya uttar pascim me ya uttar disha me bana sakte hai kya?

    ReplyDelete

ALL TIME HOT