इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

घर पर च्यवनप्राश कैसे बनायें | Ghar Par Chyavanaprash Kaise Banayen | How to Make Chyawanprash at Home

घर पर बनाए शक्तिवर्धक च्यवनप्राश (Make Chyavanaprash at Home)
यदि कोई व्यक्ति शारीरिक रूप से कमजोर हो या उसे सर्दी अधिक लगती हो. तो सबसे पहले कोई भी व्यक्ति उसे च्यवनप्राश खाने की सलाह देते हैं. क्योंकि यह बहुत ही फायदेमंद और लाभकारी पदार्थ होता. इसे बनाने के लिए बहुत सी जड़ी बूटियों का प्रयोग किया जाता हैं. जिससे खाकर हमारे शरीर में एक नई ऊर्जा उत्पन्न होती हैं. च्यवनप्राश एक ऐसा खाद्य प्रदार्थ हैं. जिसका सेवन बच्चे – बूढ़े, स्त्री – पुरुष हर व्यक्ति कर सकता हैं. आप अगर च्यवनप्राश का सेवन करते हैं तो जाहिर सी बात हैं कि आप बाजार में मिलने वाला च्यवनप्राश का ही इस्तेमाल करते होंगें. लेकिन अन्य खाद्य पदार्थों की भांति इसे भी आप घर पर बना सकते हैं. बस इसे बनाने के लिए कुछ आवश्यक सामग्री की आवश्यकता हैं जिसकी जानकारी नीचे दी गई हैं –

सामग्री  (Ingredients)
·     150 ग्राम शहद
·     डेढ़ किलो शक्कर
·     150 ग्राम घी
·     लगभग एक किलो हरा पका हुआ आंवला
·     2 ग्राम केसर
·     8 ग्राम इलायची
·     8 ग्राम नागकेसर
·     8 ग्राम दालचीनी
·     8 ग्राम तेजपत्ता
·     12 ग्राम लौंग
·     14 ग्राम छोटी पीपल
·     20 ग्राम वंशलोचन सुखा च्यवनप्राश बनाने की विधि CLICK HERE TO READ MORE ABOUT ...
घर पर च्यवनप्राश कैसे बनायें
घर पर च्यवनप्राश कैसे बनायें
38 जड़ी बूटियां (38 Herbs)
·     काकनासा
·     गिलोय
·     बड़ी इलायची
·     पुननर्वा
·     नागरमोथा
·     कचूर
·     महामेदा
·     मेदा
·     ऋषभक
·     जीवन
·     सिद्धि
·     ऋद्धि
·     छीर काकोली
·     अडूसा मूल
·     विदारी कंद 
·     नील कमल
·     लाल चंदन
·     बड़ी हरड
·     अगर
·     पुष्कर मूल
·     मुनक्का
·     भुई आंवला
·     काकड़ा सिंगी
·     पिप्पली मूल
·     बला मूल
·     बड़ी कटैली
·     छोटी कैटेली
·     गोखरू पंचांग
·     माषपर्णी
·     मुग्दपर्णी
·     पृष्ठीपर्णी
·     शालपर्णी
·     पाढल छाल
·     गंभारी छाल
·     श्योनाक
·     अग्निमंथ (अछाल)
·     बेल छाल

उपरोक्त वर्णित सभी जड़ी बूटियां वन में आसानी से मिल जायेंगी. इन सभी सामग्रियों को 10 – 10 ग्राम की मात्रा में एकत्रित करने के बाद कुछ समय के लिए धूप में सुखाकर पीस लें और उसके बाद इनके मिश्रण को एक बारीक़ कपडे या छलनी से छान लें.  CLICK HERE TO READ MORE ABOUT सौंठ ले लड्डू बनाने की विधि ... 
Ghar Par Chyavanaprash Kaise Banayen
Ghar Par Chyavanaprash Kaise Banayen
यदि आपको इन 38 जड़ी बूटियों में से कुछ जड़ी बूटियां न मिले तो इसके साथं पर आप नीचे बताई गयी अन्य सामग्रियों का भी प्रयोग कर सकते हैं.

·     50 ग्राम अश्वगंधा
·     50 ग्राम प्रज्ञापेय चुर्ण
·     50 ग्राम शतावर
·     विदारीकंद
·     बाराही कंद 
·     सफ़ेद चन्दन
·     वसाका
·     अकरकरा
·     ब्राह्मी
·     बिल्व
·     छोटी हरीतकी
·     कमल केशर
·     जटामासी
·     बेल
·     कचूर
·     नगर मोथा
·     लौंग
·     पुश्करमूल
·     काकड़सिंघी
·     दशमूल
·     जीवंती
·     पुननर्वा
·     अंजीर
·     तुलसी के पत्ते
·     मीठा नीम
·     संत
·     मुलेठी

शुरुआत की तीन समाग्रियों को छोडकर उसके बाद की सभी सामग्रियों की लगभग 8 ग्राम मात्रा लें.
च्यवनप्राश बनाने की विधि (Chyavanaprash Recipe)
1.च्यवनप्राश को बनाने के लिए एक लीटर पानी लें और उसमें उपरोक्त दी गई सभी सामग्री के पाउडर को डालकर रख दें.

2.            24 घंटे के बाद एक किलो आंवला लें और उन्हें कुकर में डालकर कुकर की 3 सिटी लगने उबाल लें.
How to Make Chyawanprash  at Home
How to Make Chyawanprash  at Home
3.इसके बाद कुकर को 15 मिनट ठंडा होने के लिए रख दें और उसके बाद कुकर का ढक्कन खोल लें.

4.आंवलों को एक बर्तन में निकाल लें और सभी आंवलों के बीच में से बीज निकाल कर अलग कर दें.

5.अब इन आंवलों को एक स्टील की छलनी से या सूती कपडे पर घिस लें जिससे इसके रेशे अलग हो जाएँ. यदि रेशे न निकलें तो इन्हें मिक्सी में पीस लें.

6.अब एक बर्तन में देशी घी डालें और उसके बाद घी में आंवले के पेस्ट को डाल कर हल्की आँच पर भून लें, जब तक की आंवले की पिट्ठी न बन जाएँ.

7.            इसके बाद जिस पानी में आंवलों को उबाला था उसमें रात भर भिगोया हुआ मिश्रण डाल दें और इस मिश्रण को कम से कम 2 से 3 घंटे तक धीमी आँच पर उबालकर क्वाथ बना लें.

8.क्वाथ बनने के बाद इसे एक बर्तन में छानकर निकाल लें और इसे 10 – 12 घंटे तक ऐसे ही रहने दें. इससे कीट जैसे कुछ पदार्थ नीचे बैठ जाएगा. यदि आप इसका ऐसे ही प्रयोग करेंगे तो इससे च्यवनप्राश में कड़वाहट आ जाती हैं.

9.10 – 12 घंटों तक इसे स्थिर खने के बाद एक अलग बर्तन में जल को सावधानीपूर्वक डाल लें और इसका प्रयोग करें. 
   
10.    इसके बाद इस जल में डेढ़ किलो शक्कर मिलाकर इसे उबाल लें. उबलते समय इसमें बीच – बीच में दूध के छिंठे जरूर मारें. दूध के छिंठे मारने से जल का मैल ऊपर आ जायेगा. इसे जल में से निकाल लें.

11.    अब इस मिश्रण में आंवले की पिट्ठी को डाल दें और इसे ढककर पकाएं.

12.    जब पिट्ठी चाशनी में बिल्कुल मिल जाएँ. जब यह हल्की गर्म  हो तो इसमें शालपर्णी से बड़ी कैटेली तक की सामग्री का पाउडर लें और उसे थोडा – थोडा डालकर इसके साथ मिला लें.

13.    जब यह अच्छी तरह से ठंडा हो जाएँ तो इसमें शहद मिला लें.

लगभग 24 घंटे तक इस मिश्रण को ठंडा होने के लिए छोड़ दें. इसके बाद आपका च्यवनप्राश तैयार हो जाएगा. यदि आपको च्यवनप्राश अधिक मात्रा में बनाना हैं तो उसके अनुसार ही इसकी चाशनी बनाइए और सामग्री का प्रयोग कीजिए.

च्यवनप्राश से जुडी कुछ खास बातें (Important Information for Chyvanaprash)
1.                        यदि आप च्यवनप्राश बनाने के लिए 200 ग्राम घी का प्रयोग करते हैं तो च्यवनप्राश की गुणवत्ता बढ़ जायेगी.

2.                        यदि आपने आंवलों का रेशा नहीं निकला हैं तो इस च्यवनप्राश का सेवन तीन महीने तक ही करें.

अधिक गुणवत्ता वाला च्यवनप्राश बनाने के लिए (To Make Chyavanaprash )
यदि आप अधिक गुणवत्ता वाला च्यवनप्राश बनाना चाहते हैं. तो इसे बनाते समय इसमें निम्नलिखित सामग्री का भी प्रयोग करें.

1.                        5 ग्राम मकरध्वज
2.4 ग्राम केशर
3.                        10 पत्ते चाँदी का वर्क
4.14 ग्राम शुक्ति भस्म 
5.                        12 ग्राम प्रवालभस्म
6. 20 ग्राम अभ्रक भस्म
7.                        20 ग्राम शृंग भस्म
Chyavanaprash ke liye Aavshyak Samgri Jadi Butiya
Chyavanaprash ke liye Aavshyak Samgri Jadi Butiya
इन सामग्रियों में से कुछ सामग्री को जैसे – मकरध्वज, केसर और भस्मों को आप अपनी आर्थिक स्थिति और इच्छा के अनुसार घटा या बढ़ा भी सकते हैं.

इन सामग्रियों का प्रयोग कर च्यवनप्राश बनाने के लिए केशर और मकरध्वज को एक साथ घोट लें. इसके बाद इसे भस्मों में मिला लें और दुबारा घोंटें. इसके बाद धीरे – धीरे इसमें शहद डाल लें और इसे कुछ समय के लिए खुला छोड़ दें. अब इसे एक काँच की शीशी में बंद कर दें.

च्यवनप्राश बनाने से जुडी हुई किसी भी अन्य सहायता या जानकारी के लिए आप नीचे कमेंट करके तुरंत जानकारी हासिल कर सकते हैं.
Sona Chandi Chyawanprash
Sona Chandi Chyawanprash

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

ALL TIME HOT