इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Pneumonia ki Bimari ka Ilaaj | न्युमोनिया की बीमारी का इलाज

न्युमोनिया (Pneumonia)
न्युमोनिया फेफड़ों से सम्बन्धित एक रोग हैं. जो फेफड़ों के संक्रमित होने के कारण हो जाता हैं. यह रोग अधिकतर बच्चों को होता हैं. यह रोग अक्सर बच्चों को तथा अन्य किसी व्यक्ति को अधिक ठंड लग जाने के कारण हो जाता हैं.

कारण (Reasons)
1.                        इस रोग के होने का प्रमुख कारण फेफड़ों में पस या अन्य तरल पदार्थ भर जाना हैं.

2.यह रोग फंगल इन्फेक्शन, बैक्टीरिया और वायरस के कारण भी हो सकता हैं.

3.यदि किसी व्यक्ति या बच्चे को सर्दी के मौसम में अधिक ठंड लग जाए तो उस व्यक्ति या बच्चे को यह रोग हो सकता हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT सन्निपात ज्वर के कारण लक्षण और उपचार ...
Pneumonia ki Bimari ka Ilaaj
Pneumonia ki Bimari ka Ilaaj 
लक्षण (Symptoms)
1.न्युमोनिया होने पर व्यक्ति को तेज ज्वर हो जाता हैं.

2.उसके फेफड़ों में सुजन आ जाती हैं.

3.सांस लेने में तकलीफ होती हैं.

4.फफड़ों में कफ जमना शुरू हो जाता हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT बुखार के कारण लक्षण और उपचार ...
न्युमोनिया की बीमारी का इलाज
न्युमोनिया की बीमारी का इलाज
5.शरीर की पसलियों में दर्द होना शुरू हो जाता हैं.

6.    इस रोग के होने पर प्यास अधिक लगती हैं, गला बार – बार सूखने लगता हैं.

7.      न्युमोनिया की बीमारी से ग्रस्त होने परव्यक्ति के सिर में, पैरों में, छाती में हमेशा हल्का – हल्का दर्द रहता हैं.

8.उसे शरीर में बेचैनी महसूस होती हैं.

उपाय (Remedies)
1.तारपीन का तेल (Turpentine Oil) न्युमोनिया की बीमारी तथा छाती में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए तारपीन का थोडा सा तेल लें और उसमें कपूर मिला लें. अब इस तेल से सीने की और पसलियों की मालिश करें. आपको दर्द में काफी आराम मिलेगा.  

2.तुलसी पत्ते, कालीमिर्च (Basil’s Leaves, Black Pepper) न्युमोनिया का रोग होने पर 8 से 10 तुलसी के पत्ते लें और कुछ दाने कालीमिर्च के लें. इसके बाद इन दोनों को एक कप पानी में डालकर उबाल लें. इसके बाद इस पानी का सेवन करें. रोजाना इस पानी का सेवन करने से आपको बीमारी में काफी लाभ होगा.

3.शहद (Honey) न्युमोनिया की बीमारी के लिए शहद बहुत ही उपयोगी होता हैं. यदि थोडा सा शहद लेकर रोगी व्यक्ति के शरीर की मालिश की जाए तो उसे दर्द से आराम मिलता हैं. इसके अलावा यदि आप शहद को पानी में मिलाकर इसका सेवन करें तो आपको जल्दी ही इस रोग से मुक्ति मिल जायेगी.
Pneumonia ke Rog se Nidaan Hetu Upchar
Pneumonia ke Rog se Nidaan Hetu Upchar
4.अदरक और तुलसी (Ginger And Basil ) न्युमोनिया के रोग से छुटकारा पाने के लिए अदरक और तुलसी को एक साथ पीसकर इनका रस निकाल लें. इसके बाद इसमें थोडा सा शहद मिलाएं और इसे दिन में 3 या 4 बार चाटें. आपको इस रोग से जल्दी मुक्ति मिल जायेगी.

5.मुनक्का (Raisins) इस रोग से निजात पाने के लिए 4 मुनक्का लें और उसमें हिंग पाउडर मिला लें. इसके बाद इसका सेवन दिन में 4 से 5 बार लगातर 3 - 4 दिनों तक करें.

6.तेजपात, इलायची और कपूर (Sage, Cardamom and Camphor) इस रोग के निदान हेतु तेजपात लें, बड़ी इलायची लें और थोडा सा कपूर लें. इसके बाद इन तीनों को मिलाकर काढा तैयार कर लें. अब इस काढ़े का सेवन दिन में दो बार करें. आपको जल्द ही रोग से राहत मिल जायेगी.

7.तुलसी, सौंठ और कालीमिर्च (Basil, Anise, And Black Pepper) इस रोग से बचने के लिए तुलसी के पत्ते, सौंठ और कालीमिर्च के दाने लें और इन्हें एक साथ पीस कर चटनी बना लें. चटनी बनने के बाद इसमें काला नमक मिलाएं और इसका सेवन करें. आपको जल्द ही लाभ होगा.
 Pneumonia ki Deshi Ghareloo Aayurvedic Chikitsa
 Pneumonia ki Deshi Ghareloo Aayurvedic Chikitsa
कैसा भोजन करें
1.यदि आप न्युमोनिया के रोग से पीड़ित हैं तो अपने भोजन में घी तेल से बनी हुई चीजों का सेवन करना बिल्कुल बंद कर दें.

2.भोजन में सुखी रोटी, मूंग की दाल, तरोई, टिंडे, मेथी, चौलाई, लौकी और पालक का सेवन अधिक करें.

3.खाना खाने के बाद कुछ देर जरूर घुमे – फिरे.

4.जब भी पानी पियें तो उसे घूंट – घूंट कर पियें, एक साथ पानी बिल्कुल न पियें.

5.    यदि आप दूध में चीनी मिलाकर पीते हैं तो अब दूध में चीनी के स्थान पर गुड़ और शहद मिलाकर पियें.

6. अधिक खट्टे आचार, मिठाई, फलों में तरबूज, खरबूज, अमरुद, सेब केला, आदि का सेवन न करें. यदि सम्भव हो तो पपीते के रस का सेवन रोजाना करें.

न्युमोनिया रोग के अन्य आयुर्वेदिक उपचारों के बारे में जानने के लिए आप नीचे तुरंत कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हैं.
Pneumonia ke Karan or Lakshan
Pneumonia ke Karan or Lakshan

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

3 comments:

  1. My 8 months baby suffering from pneumonia so what are home remedi.

    ReplyDelete
  2. I had pneumonia during feb2016 and also tlc and dlc highly increased,till I have chest pain occurring time to time , is it normal

    ReplyDelete
    Replies
    1. Tlc and Dlc occurs during infection and if it is increasing then it is not normal so, consult your doctor immediately.

      Thank You for Comment
      Jagran Today Team

      Delete

ALL TIME HOT