इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Bukhar ke Kaaran Lakshan or Upchar | बुखार के कारण लक्षण और उपचार | Causes Symptoms and Treatment of Fever

बुखार ( Fever )
बुख़ार किसी भी मौसम में आ सकता हैं और ये किसी को भी हो सकता है. बुख़ार की पहचान तेज़, गर्म साँस और शरीर में थकान से की जाती है. इसके अलावा चेहरे पर हल्के हल्के दाने निकाल आते हैं. लेकिन अगर हम सावधानी बरते तो बुख़ार से आसानी से निजात पाया जा सकता है. शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण हमारा शरीर आसानी से रोगों जैसे खाँसी, जुकाम, और बुख़ार की चपेट में आ जाता है. मौसम में बदलाव होते रहने की वजह से Viral फीवर होने की सम्भावना बनी रहती है. बुख़ार के समय कई लक्षण हमारे शरीर में देखने को मिलते हैं. CLICK HERE TO KNOW पीलिया के कारण लक्षण और आयुर्वेदिक उपचार ... 
Bukhar ke Kaaran Lakshan or Upchar
Bukhar ke Kaaran Lakshan or Upchar
बुख़ार के कारण ( Causes of Fever )
§  मौसम में परिवर्तन ( Change in Weather ) : मौसम में परिवर्तन होते रहने से बुख़ार हो जाता है. मौसम में परिवर्तन होने की वजह से शरीर के तापमान पर भी प्रभाव पड़ता है जिससे बुख़ार हो जाता है.

§  थकान के कारण ( Because of Fatigue ) : जब भी हम काम करते हैं तो शरीर थकान का अनुभव करने लगता है जिस कारण से बुख़ार हो जाता है. अपनी क्षमता से अधिक श्रम करने के कारण से भी थकान का अनुभव होने लगता है जिस कारण बुख़ार हो जाता है.

§  मानसिक चिंता ( Mental Stress ) : मानसिक चिंता और ज्यादा सोच विचार करने की वजह से भी बुख़ार महसूस होने लगता है. CLICK HERE TO KNOW प्राथमिक चिकित्सा और उसके उद्देश्य ... 
बुखार के कारण लक्षण और उपचार
बुखार के कारण लक्षण और उपचार
§  नींद की कमी ( Sleeplessness ) : सोने में अनियमितता होने के कारण भी बुख़ार हो जाता है इसलिए जरूरी है कि पर्याप्त नींद लें. अपने सोने और उठने का समय निश्चित करें.

§  भोजन में अनियमितता ( Irregular in Food ) : भोजन में अनियमितता होने के कारण शरीर में कमजोरी आने लगती है जो बुख़ार का कारण बनती है.

बुख़ार के लक्षण ( Symptoms of Fever )
§  शरीर में थकान का अनुभव ( Fatigue in Body ) : जब भी किसी को बुख़ार होता है तो पीड़ित का शरीर टुटा रहता है, किसी काम में मन नही लगता, हर वक़्त शरीर में आलस भरा रहता है, जिससे शरीर में थकान और दर्द का अनुभव होने लगता है.

§  शरीर के तापमान में वृद्धि ( Body Temperature Increases ) : बुख़ार होने पर अचानक से शरीर का तापमान सामान्य से अधिक हो जाता है.

§  सिर में दर्द होना ( Headache ) : अचानक से सिर में दर्द होने लगता है और रात को बढ़ जाता है.
Causes Symptoms and Treatment of Fever
Causes Symptoms and Treatment of Fever
§  जी मिचलाना और कड़वाहट ( Nausea and Bitterness ) : बुखार होने पर जी मिचलाने लगता है और जीभ भी कड़वी हो जाती है जिस कारण से कुछ भी खाने पीने का मन नहीं करता है.   

बुख़ार दूर करने के घरेलु उपाय ( Home Remedies to Cure Fever )
आइए अब हम जानते है कि बुख़ार को घरेलु उपायों की मदद से कैसे दूर किया जा सकता है.

·         तुलसी ( Basil ) : तुलसी के पत्तों को पानी में डालकर अच्छे से पकाएं. इसके बाद इस पानी को ठंडा करके पीने से बुख़ार में लाभ मिलता है क्योंकि तुलसी में एंटीसेप्टिक Ingredients पाया जाता है. जो वायरस से होने वाले रोगों से लड़ने के लिए शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है. इसके अलावा तुलसी के पत्तों की चाय पीने से भी आराम मिलता है. 

·         अदरक की चाय ( Ginger Tea ) : अकसर बुखार में खांसी जुखाम भी हो जाता है इस अवस्था से मुक्ति के लिए अदरक बहुत लाभदायक होता है. आप इसका उपयोग चाय में अदरक डालकर भी कर सकते हो. चाय में आप दो तीन काली मिर्च भी जरुर डालें. इससे आपका गला भी खुल जाता है और जुकाम दूर से निजात मिलती है.
कैसा भी बुखार हो ये नुस्खे आजमायें
कैसा भी बुखार हो ये नुस्खे आजमायें
·         सरसों और लहसुन के तेल की मालिश ( Massage by Garlic or Mustard Oil ) : सरसों के तेल में लहसुन डालकर अच्छे से पकायें इस तेल को ठंडा करके हाथ और पैर के तलुओं की मालिश करें इससे बुख़ार में लाभ मिलता है.

·         उबला पानी ( Drink Boiled Water ) : पानी को अच्छे से उबालकर रख लें और दिन में उसी पानी को पियें ठंडा पानी बिल्कुल भी न पियें. शरीर में पानी की कमी न होने दें तो जितना हो सकते ज्यादा से ज्यादा पानी पियें.

·         शहद और लौंग ( Honey and Cloves ) : लौंग को पीसकर अच्छे से शहद में मिलाकर चाटें. ऐसा करने से बुख़ार पर कंट्रोल रहेगा.

·         ठंडे पदार्थो का सेवन न करें ( Take Cold Water ) : ठंडा पानी न पियें और ठंडी चीजे जैसे आइस क्रीम, दही, Cold Drink, और ठंडे फल जैसे केला और संतरा न खाएं. खुले सिर घर से बाहर न निकलें.
Kaisa Bhi Bukhar Ho Ye Nuskhe Aajmaayen
Kaisa Bhi Bukhar Ho Ye Nuskhe Aajmaayen
·         पानी की पट्टियाँ ( Water Straps ) : सिर पर पानी की पट्टियाँ रखने से बुख़ार में आराम मिलता है. हल्के ठंडे पानी में पट्टियाँ डुबोकर निचोड़ लें फिर सिर पर रखें. जल्द ही आपको बुखार से आराम मिलेगा.

·         अंडा ( Eggs ) : उबले हुए अंडे बुख़ार को ठीक करने में मदद करते हैं. इसलिए दिन में एक से दो बार उबले हुयें अंडे खायें.


बुखार के अन्य कारण और इसे दूर करने के बाकी घरेलू आयुर्वेदिक उपायों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट कर जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Bukhar ka Ilaaj
Bukhar ka Ilaaj
Bukhar ke Kaaran Lakshan or Upchar, बुखार के कारण लक्षण और उपचार, Causes Symptoms and Treatment of Fever, कैसा भी बुखार हो ये नुस्खे आजमायें, Kaisa Bhi Bukhar Ho Ye Nuskhe Aajmaayen, Bukhar Dur Karne ke Ghrelu Aayurvedic Upay, Bukhar ka Ilaaj, Bukhar, Viral Fiver, बुखार.


Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

2 comments:

ALL TIME HOT