इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Real Estate Service

Cat and Mouse Tale A Political Story - कभी मित्र कभी घोर शत्रु एक चूहे बिल्ली की कहानी Chuhe Billi ki Kahani

कभी मित्र कभी घोर शत्रु  एक चूहे बिल्ली की कहानी - Cat and Mouse Tale A Polotical Story - Chuhe Billi ki Kahani आजकल बहुत बड़ा भोचाल आ...

Maang Mein Sindur Kyon Lagaya Jata Hain | मांग में सिंदूर क्यों लगाया जाता हैं

मांग में सिंदूर क्यों भरा जाता हैं (Why Are the Ladies Fill Hairline Sindoor )
सिंदूर किसी भी सुहागन स्त्री के 16 सिंगार में से एक होता हैं. जिसका उसके जीवन में बहुत ही महत्व हैं. सिंदूर सुहागन के सुहाग का प्रतीक माना जाता हैं. इसलिए विवाहित स्त्री के लिए सिंदूर अमूल्य एवं परम आवश्यक होता हैं. लेकिन प्राचीन काल की तुलना में आज के आधुनिक युग में मांग में सिंदूर भरने का प्रचलन कम हो गया हैं. फैशन के दौर में विवाहित स्त्रियाँ मांग में सिंदूर लगाती तो हैं लेकिन कैमिकल वाला सिंदूर लगाती हैं. जबकि यह धार्मिक दृष्टिकोण से तो हानिकारक हैं ही इसके साथ ही यह वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी गलत हैं. मांग में सिंदूर लगाना हमारे अनेक रीति – रिवाजों में से एक हैं. वैज्ञानिकों के अनुसार मांग में सिंदूर लगाने के पीछे एक बहुत बड़ा कारण हैं. जिनकी विवेचना नीचे की गई हैं – CLICK HERE TO READ MORE ABOUT स्त्रियों का पायल से संबंध ...
Maang Mein Sindur Kyon Lagaya JataHhain
Maang Mein Sindur Kyon Lagaya Jata Hain

वैज्ञानिकों के अनुसार मांग में सिंदूर लगाने का सम्बन्ध महिला के पूरे शरीर से हैं. विवाहित स्त्रियाँ हमेशा अपनी मांग में सिंदूर मस्तिष्क के बीच में भरती हैं. वैज्ञानिकों के अनुसार महिलाओं के मस्तिष्क में इस स्थान पर एक महत्वपूर्ण ग्रंथि स्थित होती हैं. जिसे ब्रहमरंध्र कहा जाता हैं. ब्रहमरंध्र ग्रंथि मस्तिष्क की एक बहुत ही संवेदनशील ग्रंथि होती हैं. यह ग्रंथि महिला के मस्तिष्क के अग्र भाग से शुरू होती हैं तथा मस्तिष्क के बीच में ख़त्म होती हैं. मस्तिष्क के इस स्थान में ही विवाहित स्त्रियाँ सिंदूर लगाती हैं. ब्रहमरंध्र ग्रंथि के शुरू से लेकर अंत तक इसलिए सिंदूर लगाया जाता हैं. क्योंकि सिंदूर में एक पारा नामक धातु पाया जाता हैं. जो ब्रहमरंध्र ग्रंथि के लिए एक बेहद ही प्रभावशाली धातु सिद्ध होता हैं. ऐसा माना जाता हैं कि पारा नामक धातु महिलाओं के मस्तिष्क के तनाव को कम करता हैं तथा इस धातु के कारण ही महिलाओं का मस्तिष्क हमेशा चैतन्य अवस्था में रहता हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT सोमवार को नाख़ून काटने के लाभ ...
मांग में सिंदूर क्यों लगाया जाता हैं
मांग में सिंदूर क्यों लगाया जाता हैं

इसके अलावा वैज्ञानिकों का मानना हैं कि जब किसी लड़की का विवाह होता हैं तो उस पर विभिन्न प्रकार की जिम्मेदारियों का दबाव एक साथ आता हैं. जिनका प्रभाव सीधा उस लड़की के मस्तिष्क पर पड़ता हैं. इस तनाव के करण ही विवाह के कुछ समय बाद से ही महिला सिर में दर्द, अनिद्रा जैसे अन्य मस्तिष्क से जुड़े रोगों से ग्रस्त रहती हैं. सिंदूर में मिश्रित पारा धातु एक तरल पदार्थ हैं. जो की मस्तिष्क के लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध होता हैं. पारा इन सभी रोगों से महिलाओं को मुक्त रखने में बहुत ही सहायक होता हैं. इसलिए महिलाओं को विवाह होने के बाद अपनी मांग में सिंदूर अवश्य लगाना चाहिए

विवाहित स्त्रियाँ के लिए श्रृंगार, उसका महत्व और उसके वैज्ञानिक दृष्टिकोण के बारे में अधिक जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके तुरंत जानकारी हासिल कर सकते हैं.
Vaigyanik Drishtikon se Sindur ka Mahatv
Vaigyanik Drishtikon se Sindur ka Mahatv




Maang Mein Sindur Kyon Lagaya Jata Hain, मांग में सिंदूर क्यों लगाया जाता हैं, Maang Mein Sindur Bharna Kyon Aavashyk Hain, Maang ka Sindur, Vaigyanik Drishtikon se Sindur ka Mahatv, Sindur Lagane se Door Hoti Hain Chinta Or Tanav, Sindoor Bhari Maang, सिंदूर भरी मांग.



Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT