इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Duniya ka Sabse Chauda Vriksh | दुनिया का सबसे चौड़ा वृक्ष | Largest Tree of The World

ये है दुनिया का सबसे चौड़ा पेड़ ( World’s Widest Tree )
विश्व में तरह तरह के पेड़ पौधे पाए जाते है जिनका आकार, लम्बाई और चौडाई अलग अलग होती है, कुछ देखने में आकर्षक होते है तो कुछ देखने में भयंकर, कुछ की लम्बाई इतनी अधिक होती है कि आपको अपनी गर्दन पीछे छुकानी पड़ती है तो कुछ इतने छोटे भी है जिन्हें आपको बैठकर देखना पड़ता है. इन्ही सबके बीच में एक हर बरगद का पेड़, इसकी अपनी ही एक विशेषता है कि इसकी जटाएं जमीन को छूती है और जड़ का रूप ले लेती है. इस तरह जितनी अधिक इसकी जटाएं होगी उतना ही अधिक दूर तक ये पेड़ फैलने लगता है और यही कारण है कि बरगद के पेड़ काफी चौड़े और फैले हुए मिलते है. CLICK HERE TO KNOW कौन सा पौधा लगायें कौन सा नहीं ... 
Duniya ka Sabse Chauda Vriksh
Duniya ka Sabse Chauda Vriksh
लेकिन कोलकाता के एक गार्डन के पेड़ की तो हद ही हो गयी क्योकि इसमें स्थित बरगद का पेड़ 144400 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है और उसे विश्व के सबसे चौड़े पेड़ होनी की ख्याति भी प्राप्त है. बरगद का ये वृक्ष कोलकाता में बने आचार्य जगदीश चन्द्र बोस बोटनिकल गार्डन का हिस्सा है. इसे  देखने के लिए दुनिया भर से लोग आते है. इसकी शाखायें इतनी अधिक फैली हुई है कि इसके आसपास किसी अन्य पेड़ को उगने की जगह तक नही मिली. CLICK HERE TO KNOW साल का सबसे छोटा दिन ...
दुनिया का सबसे चौड़ा वृक्ष
दुनिया का सबसे चौड़ा वृक्ष
दरअसल सभी पेड़ों की तरह बरगद के पेड़ को भी जीवित रहने के लिए पानी की आवश्यकता होती है और इसकी ये जटाएं पानी की तलाश में ही नीचे भूमि की तरफ बढती है, जो बाद में भूमि में ही चली जाती है और अंदर ही अंदर पानी की खोज शुरू कर देती है और इस तरह ये जटाएं जड़ का रूप लेती है. इसके बाद वहीँ से पेड़ का विकास भी आरम्भ हो जाता है और फिर से ये सिलसिला शुरू हो जाता है. अगर कोलकाता के गार्डन में स्थित बरगद के पेड़ की बात करें तो इसकी करीब 2800 से ज्यादा जटाएं जड़ का रूप धारण कर चुकी है. यहाँ 19वीं सदी में 2 चक्रवात भी आये थे जिस कारण इस पड़ की मूल जड़ उखड गयी थी किन्तु अपनी बाकी जड़ों के कारण ये वृक्ष स्थिर रहा. इसकी मूल जड़ बाहर निकलने के कारण खराब हो गयी जिसे बाद में काटना पड़ा लेकिन इसकी बादी की जटाएं इतनी मजबूती से विकसित हो चुकी थी कि आज भी ये पेड़ निरंतर अपने आकार को बढाए जा रहा है. इस पेड़ को इतना विशाल होने में करीब 250 से भी अधिक वर्षों का समय लगा है, अगर इसे दूर से देखा जाएँ तो ये अकेला वृक्ष ही पुरे जंगल के समान प्रतीत होता है.

प्रकृति के ऐसे ही अन्य आश्चर्यचकित और रोमांचित कर देने वाले किस्सों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Largest Tree of The World
Largest Tree of The World

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT