इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Cancer ki Kaat Hai Soya Bean | कैंसर की काट है सोयाबीन | Soya Bean Cures Cancer Completely

सोयाबीन ( Soya Bean )
कैंसर एक वो रोग है जिसका नाम मात्र सुनने से ही व्यक्ति जीने की आशा तक छोड़ देते है क्योकि इसे उन रोगों की तालिका में शामिल किया गया है जिसका उपचार बहुत कम परिस्थितियों में ही संभव हो पाता है और अगर होता भी है तो उसके लिए काफी पैसे खर्च करने पड़ते है. लेकिन आज हम आपको सोयाबीन के कुछ ऐसे ख़ास प्रयोगों के बारे में बताने जा रहे है जो कैंसर को जड़ से खत्म करने की क्षमता रखते है. जी हाँ सोयाबीन, इसमें कायटो केमिकल, फायटो एस्ट्रोजन और करीब 950 तरह के हार्मोन की भरमार होती है. CLICK HERE TO KNOW बहुउपयोगी सोयाबीन की विशेषताएं ... 
Cancer ki Kaat Hai Soya Bean
Cancer ki Kaat Hai Soya Bean
ये सभी तत्व कैंसर ( मुख्यतः स्तन कैंसर ) जैसे रोग से लड़ने और उन्हें दूर भगाने में काफी सहायक सिद्ध होते है. यहीं नहीं ये कैंसर की गांठों को पहले पिंघला देते है जिससे धीरे धीरे उनका आकार कम होता जाता है. यही कारण है कि सोयाबीन को अपने आहार में इस्तेमाल करने वाले लोगों में कैंसर की संभावना 40 से 50 प्रतिशत तक कम देखने को मिलती है. क्योकि ये मुख्यतः स्तन कैंसर में लाभदायी होता है इसीलिए इसे महिलाओं का मित्र भी कहा जाता है.

महिलाओं का मित्र सोयाबीन ( Women’s Friend Soya Bean ) :
·         ओमेगा 3 ( Rich in Omega 3 ) : जब कोई बच्ची जन्म लेती है तो उनके शरीर में स्वतः ही एक वसा युक्त अम्ल बनना आरम्भ हो जाता है जिसका नाम है ओमेगा 3. ये अम्ल स्तन कैंसर की रोकथाम में प्रमुख होता है किन्तु बढती उम्र के साथ और बदलते आहार के साथ महिलायें अपने इस अम्ल को खोने लगती है और उनमें कैंसर की संभावना बढ़ जाती है. इसलिए जरूरी है कि वे ओमेगा 3 अम्ल वाले खाने का अधिक सेवन करे और इसके लिए सोयाबीन, मछली, अखरोट और अलसी से बेहतर कुछ नहीं. अगर शरीर में इस अम्ल की मात्रा पूर्ण रहती है तो महिलायें दिल के रोगों से भी दूर रहती है. इसीलिए हर गर्भवती महिला और स्तनपान कराने वाली महिला को सोयाबीन खाने की सलाह दी जाती है. CLICK HERE TO KNOW घर पर बनायें सोयाबीन मिल्क और दही वडे ... 
कैंसर की काट है सोयाबीन
कैंसर की काट है सोयाबीन
·         कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रखें ( Controls Cholesterol ) : अगर महिलायें रोजाना 2 ग्लास सोया का दूध पीना आरम्भ कर देते है तो इससे शरीर का कोलेस्ट्रॉल कम होने लगता है. जब सोया दूध के साथ मिलता है तो इसके सोया प्रोटीन से एल डी एल 14 % तक कम हो जाता है. अगर आप चाहें तो जौ का जूस भी इस्तेमाल कर सकती है.

·         रक्तवसा को कम करे ( Reduces Blood fat ) : ठीक इसी तरह अगर कोई महिला रोजाना 50 ग्राम सोया प्रोटीन का सेवन करती है तो उसके रक्त से 9 % तक वसा कम हो जाती है, साथ ही एल डी एल अर्थात खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी 13 % तक नीचे आ जाता है. इन सबसे रक्त में से कम होने का अर्थ रक्त की शुद्धि है और रक्त शुद्ध होने का अर्थ उत्तम स्वास्थ्य से है.
क्यों है सोयाबीन इतना उपयोगी
क्यों है सोयाबीन इतना उपयोगी
सोयाबीन में पाए जाने वाले तत्व ( Nutrients and Elements found in Soyabean ) :
-    40 % - प्रोटीन

-    432 कैलोरी

-    20 % - तेल

-    24.6 % - कार्बोहाइड्रेट

-    48 % - नमक

-    710 अ.ई विटामिन ए

-    730 माइकोग्राम विटामिन बी

-    760 मिक्रोग्राम विटामिन बी 2

-    ¼ ग्राम लौह तत्व

-    ¼ ग्राम नायसिन

-    ½ ग्राम फ़ास्फ़रोस

-    ¼ ग्राम कैल्शियम

-    ओमेगा 3

-    फायटो एस्ट्रोजन

-    कायटो केमिकल इत्यादि

कैंसर में सहायक सोयाबीन के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.
Soya Bean Cures Cancer Completely
Soya Bean Cures Cancer Completely

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

ALL TIME HOT