इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Machis ki Dibiya Sikhayegi Gharshan ka Siddhant | माचिस की डिबिया सिखाएगी घर्षण का सिद्धांत

घर्षण बल
दोस्तों घर्षण का सिद्धांत बहुत ही सीधा और सरल है, इस सिद्धांत के अनुसार जब 1 वास्तु दूसरी वास्तु पर रगड़ी जाती है उस वक़्त 2 बल बनते है, पहला तो वो बल जो उन दो चीजों के रगड़ने से बना और दुसरा वो जो उसके विपरीत दिशा में बना और इसी बल को घर्षण कहते है. घर्षण बल एक तरह का विरोधी बल होता है जो हमेशा बल के उल्टी दिशा में ही काम करता है. इसी की वजह से गाड़ियाँ या कोई भी चलती वास्तु रुक पाती है, अगर ये ना हो तो कोई भी वास्तु, जिसे एक दिशा में फेंका जाएगा वो ना तो रुकेगी और ना ही कभी उसकी स्पीड कम होगी. आज हम आपको माचिस की डिबिया के एक प्रयोग के जरिये सिखायेंगे कि घर्षण बल कैसे काम करता है. CLICK HERE TO KNOW 2 मिनट में घर पर बनाना सीखें Electric टॉर्च ...
माचिस की डिबिया सिखाएगी घर्षण का सिद्धांत
माचिस की डिबिया सिखाएगी घर्षण का सिद्धांत
आवश्यक सामग्री :
-    एक खाली माचिस
-    सूती धागा और
-    सेल्लो टेप

सिद्धांत : घर्षण बल ( Force of Friction )

प्रयोग :
·         स्टेप 1 : सबसे पहले आप एक माचिस का खाली बॉक्स ले लें और उसके अंदर वाले हिस्से को निकाल लें. आप माचिस की इस दराज की लम्बी वाली साइड में दोनों तरफ 1-1 छेड़ करें और उसमें 1-1 तिल्ली भी रख दें.

·         स्टेप 2 : अब आप माचिस की दराज की छोटी वाली साइड में भी एक एक सुराग कर लें.

·         स्टेप 3 : इसके बाद आपको 1 सूती धागा लेना है और उसे इन छेदों में से पीरो देना है. आप इस बात को सुनिश्चित कर लें कि धागा माचिस की तिल्ली के ऊपर से जरुर जाएँ.

·         स्टेप 4 : आप माचिस को बंद करें और ऊपर से सेल्लो टेप लगा दें ताकि माचिस की दराज ज्यादा हिले ना. साथ ही आप धागे के दोनों तरफ गांठें भी लगा लें.
Machis ki Dibiya Sikhayegi Gharshan ka Siddhant
Machis ki Dibiya Sikhayegi Gharshan ka Siddhant
अब आप माचिस को दिखाए गए चित्र की तरह पकड़ें और माचिस को ऊपर से नीचे की तरफ आने दें, माचिस के एक पॉइंट पर आने के बाद आप धागों को खिंच दें, इससे माचिस उसी जगह रुक जायेगी और आगे नहीं बढ़ेगी. लेकिन जैसे ही आप दोबारा से धागे को ढीला छोड़ोगे माचिस फिर से नीचे की तरफ बढ़ने लगेगी. माचिस के धागा खींचने पर रुकने का एक ही कारण है और वो है घर्षण, जो धागे और माचिस की तिल्लियों को टाइट करने पर बना. उम्मीद है कि अब आप भी घर्षण बल के बारे में अच्छी तरह समझ गए होंगे, अगर अब भी कोई डाउट है तो अभी इस प्रयोग को बनाये और अपने डाउट को दूर करें.

घर्षण बल के सिद्धांत और इसके अन्य प्रयोगों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.



YOU MAY ALSO LIKE



Gharshan Bal Ki Theory, Gharshan ke Niyam, Kaise Kam Karta Hai Gharshan Bal, Force of Friction, Gharshan Bal Kya Hai, Gharshan Bal ke Udaahran, Machis ki Dibiya ke Prayog, Simant Gharshan 

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT