इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

PCOD Kya Hai Ye Kaise Hota Hai Iske Upchar Aur Savdhaniyan Batayen | PCod क्या है ये कैसे होता है इसके उपचार और सावधानियां बताएं

दोस्तों PCOD महिलाओं में पाया जाने वाला एक ऐसा रोग है जिसमें उनके अंडाशय में छोटी छोटी गाँठें बन जाती है. इस रोग का मुख्य कारण सेक्स हॉर्मोनस Androgen में असंतुलन होता है, साथ ही ये रोग महिलाओं में मासिक धर्म में अनियमितता और उनकी प्रजनन शक्ति में कमी का कारण भी बनता है. जिससे महिलाओं को गर्भधारण करने तक में दिक्कतें आने लगती है. अगर PCOD को समय रहते ही ठीक ना किया जाए तो ये कैंसर में तब्दील हो जाता है. CLICK HERE TO KNOW गर्भावस्था में बरतें सावधानियाँ ...
PCod क्या है ये कैसे होता है इसके उपचार और सावधानियां बताएं
PCod क्या है ये कैसे होता है इसके उपचार और सावधानियां बताएं
पहले PCOD 30 वर्ष से ऊपर वाली महिलाओं को ही अपना शिकार बनाता था लेकिन अब ये समस्या लगभग हर उस महिला को है जो प्रजनन की उम्र की है. हैरत की बात तो ये है के उनमे से 60% महिलाओं को तो इस रोग के बारे में पता तक नहीं होता. PCOD को Poly Cystic Ovarian Disease और Poly Cystic Ovarian Syndrome के नाम से भी जाना जाता है. आप इस रोग से खुद को बचाए रख सके इसलिए आज हम आपको PCOD के कारण लक्षण और उपचार के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है, तो चलिए शुरू करते है.

PCOD के कारण :
जब महिलाओं में Androgen हॉर्मोन सामान्य से अधिक बनने लगता है तब इस रोग की संभावनाएं बढ़ जाती है और विशेषज्ञों के अनुसार पिछले कुछ सालों में PCOD रोग 50 से 60% तक बढ़ा है जिसके मुख्य कारण है

-    असंतुलित आहार : अगर आप पिज्जा, बर्गर, तैलीय पदार्थ, पैक्ड फ़ूड, वसा से भरे खाद्य पदार्थ खाने की शौक़ीन है तो आप PCOD का आसानी से शिकार बन सकती है.

-    मोटापा : मोटापा और व्यायाम ना करना सिर्फ PCOD ही नहीं बल्कि अनेक रोगों को जन्म देता है लेकिन आज की पीढ़ी में आलस इतना बढ़ गया है कि उनका शरीर फूलता जा रहा है और वे रोगों का घर बनते जा रहे है.

-    मधुमेह : शुगर और उच्च रक्तचाप भी PCOD जैसे रोग की एक बड़ी वजह है. इसके अलावा अगर परिवार में पहले किसी को PCOD रहा है तो उससे उनके शिशु में भी PCOD होने की पूरी संभावना रहती है.

-    चिंता : आज हर व्यक्ति किसी ना किसी तनाव में जी रहा है, जिसके कारण सभी का खानपान, रहनसहन और दिनचर्या पूरी तरह से बदल चुकी है. लोग धुम्रपान और शराब के आदि हो चुके है और देर रात में खाना खाते है. ये सब शरीर में हॉर्मोन के असंतुलन का कारण बनते है जिससे PCOD रोग जन्म लेता है.

PCOD के लक्षण :
PCOD के कारण के साथ साथ उसके लक्षणों के बारे में पता होना भी बहुत जरूरी है ताकि आप समय रहते उसे पहचान सके और फिर उसका इलाज कर सके.

-    इसका पहला लक्षण तो यही है कि इसमें गर्भाशय में छोटी छोटी गांठें पढने लगती है.

-    इसके अलावा अनियमित मासिक धर्म, चेहरे पर अधिक बाल, मुंहासें, दाग, पेट दर्द, मोटापा, बालों का झाड़ना,

-    संबंध बनाने की इच्छा ना होना,

-    गर्भधारण में परेशानियां या बार बार गर्भपात PCOD के कुछ लक्षण है.
PCOD Kya Hai Ye Kaise Hota Hai Iske Upchar Aur Savdhaniyan Batayen
PCOD Kya Hai Ye Kaise Hota Hai Iske Upchar Aur Savdhaniyan Batayen
PCOD का उपचार :
वैसे तो PCOD को पूरी तरह से ठीक करना आसान नहीं लेकिन फिर भी आप कुछ उपचार जरुर अपना सकती है जैसेकि

·         व्यायाम : आप रोजाना एरोबिक एक्सरसाइजेज, रनिंग और स्विमिंग करें, इससे शरीर के हॉर्मोन संतुलित रहते है और PCOD से जो Insulin Resistant की समस्या होती है उसमें भी कमी आती है.

·         संतुलित आहार : आप संतुलित और स्वस्थ आहार लें, पिज्जा, बर्गर, तैलीय चीजों से दूर रहे, उनके स्थान पर आप फलों और पत्तेदार सब्जियों का सेवन कर सकती है.

·         जीवनशैली : आहार के साथ साथ आप अपनी जीवनशैली भी बदलें और काम, क्रोध, चिंता और भय से दूर रहे, जितना कम हो सके उतना कम तनाव लें. तनाव दूर करने के लिए आप योग प्राणायाम का सहारा भी ले सकते हो.

·         वजन कम करें : PCOD का एक मुख्य कारण वजन बढ़ाना भी है, तो अगर आप अपने वजन को ही कण्ट्रोल में कर लें तो PCOD की समस्या अपने आप दूर हो जायेगी. इसलिए अपने वजन को अधिक ना बढ़ने दें.

·         दवाएं : वे महिलायें जिन्हें PCOD है, उन्हें तुरंत डॉक्टर्स से मिलना चाहियें और उनकी सलाह के अनुसार ही दवाओं का सेवन शुरू कर देना चाहियें. क्योकि ये दवाएं ओवेरी में Ovulation Induction करती है जिससे गर्भधारण में आ रही परेशानियाँ दूर होती है.

·         सर्जरी : और अगर आपको दवाओं से आराम नहीं हो रहा है तो आपको PCOD के लिए सर्जरी यानि ऑपरेशन करा लेना चाहिए. इसमें Laproscopic Ovarian Drilling और Laparoscopic Electrocauterisation of Ovarian Stroma ऑपरेशन होते है. जिनमे लेज़र की मदद से अंडाशय में हुई गांठों में छेड़ किया जाता है.
PCOS PCOD ka Ghrelu Deshi Upchar
PCOS PCOD ka Ghrelu Deshi Upchar
तो दोस्तों ये है PCOD के कारण लक्षण और उनके उपचार. अगर आपको भी PCOD का कोई लक्षण दिखे तो आपको तुरंत किसी चिकित्सक से जरुर मिलना चाहियें ताकि समय रहते ही इसका उपचार किया जा सके.

PCOD के अन्य कारण लक्षण और उपचार के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते है.



YOU MAY ALSO LIKE



PCOS PCOD ka Ghrelu Deshi Upchar, Poly Cystic Ovarian Syndrome, Poly Cystic Ovarian Disease, PCOD, PCOS, PCOD Lakshan Smasya or Nidaan, Andashya mein Hui Ganthon ka Ilaj, Stri Gupt Rog

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT