इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Social Media ka Kitna Gahra Asar Hai Dilon Mein | Social Media का कितना गहरा असर है दिलों में

सोशल मीडिया ( Social Media )
आज हर व्यक्ति पर सोशल मीडिया का भुत चढ़ा हुआ है इसीलिए सभी सुबह से शाम तक उसी पर लगे रहते है. लेकिन सोशल मीडिया है क्या? ये कैसे काम करता है और इसके क्या फायदे है और क्या नुक्सान है? और ये कैसे हमारे दिलों पर गहरा असर डालता है. इन सबके बारे में आप भी अच्छी तरह नहीं जानते होंगे और इसीलिए आज हम आपको सोशल मीडिया से जुडी हर जानकारी देने वाले है. CLICK HERE TO KNOW माइंड मैपिंग तकनीक टारगेट अचीव करने के लिए ...
Social Media ka Kitna Gahra Asar Hai Dilon Mein
Social Media ka Kitna Gahra Asar Hai Dilon Mein
क्या है सोशल मीडिया ( What is Social Media ) :
जिस तरह से बिज़नस नेटवर्क होता है ब्लोगिंग नेटवर्क होता है, ठीक उसी तरह सोशल मीडिया भी Social Communication का एक नेटवर्क ही है और ये एक फिजिकल नेटवर्क है जोकि ऑनलाइन काम करता है. जिसमें हम लोगों के संपर्क में आने के लिए उनसे बातचीत करने के लिए अपनी इनफार्मेशन को शेयर करते है. है

Social Media को ज्यादातार Social Media Service कहते है जिसका सीधा सीधा मतलब है Internet का प्रयोग कर अपने दोस्तों और बाकी सोशल मीडिया यूजर्स के साथ जुड़ना. जिनके साथ आप फ्रेंडशिप भी कर सकते हो, रिलेशनशिप भी बना सकते हो या उनमे इंटरेस्ट दिखा सकते हो. सिर्फ इतना ही नहीं अब तो सोशल मीडिया पूरी दुनिया की हर छोटी बड़ी खबर को हमतक पहुँचा देता है.

सोशल मीडिया का असर ( Effects of Social Media ) :
जहाँ सोशल मीडिया हमे पूरी दुनिया से जोड़ता है वहीँ ये हमारे दिलों पर एक गहरा असर भी छोड़ता है और यही वजह है कि आज लोग घंटों अपना वक़्त सोशल नेटवर्किंग साइट्स जैसेकि फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर ही बिताते है. एक रिसर्च कहती है कि इस तरह सारा दिन सोशल मीडिया पर बिताने से व्यक्ति खुद को समाज से अलग थलग कर लेता है और अकेला महसूस करने लगता है.

आपको भी सुनकर अजीब लगा होगा और सोच रहे होगे कि सोशल मीडिया तो पूरी दुनिया को जोड़ रहा है, पर सच यही है कि वो हम सबके बीच दूरियाँ बना रहा है. असल में सोशल मीडिया हमे रियल लाइफ से दूर कर देता है और हम वर्चुअल लाइफ में जीना स्टार्ट कर देते है. इसका सबसे ज्यादा असर युवा बच्चों पर पड़ रहा है.

शोधकर्ता कहते है कि जो लोग सोशल मीडिया पर 2 घंटे से ज्यादा समय बिताते है, उनके विचार सामाजिक तौर पर बहुत अलग होते है और ऐसे लोग रियल लाइफ में खुद को किसी से जोड़ने में भी झिझकते है. तो देखा किस कद्र सोशल मिडिया हमारे दिलों और दिमाग पर असर करता है इसलिए सोशल मीडिया को यूज करें लेकिन उसके गुलाम ना बने.
Social Media का कितना गहरा असर है दिलों में
Social Media का कितना गहरा असर है दिलों में
सोशल मीडिया के प्रकार ( Types of Social Media ) :
जैसाकि आप जानते ही है कि सोशल मीडिया यूज करने के लिए आपको सबसे पहले सोशल नेटवर्क पर अपनी एक प्रोफाइल बनानी पड़ती है और हमारे पास 2 तरह के Social Media है, जिनमे पहला है

-    Internal Social Media ( ISN ) : ये वाला सोशल मीडिया Private Community के लिए होता है जिसमें आप छोटी मात्रा में और बहुत कम लोगों से ही जुड़ पाते है. इस सोशल मीडिया में लोगों को जोड़ने के लिए या उनसे जुड़ने के लिए पहले  Invitation देना पड़ता है, तभी आप उनसे जुड़ सकते है. उदाहरण के लिए अगर आप किसी Education Group से जुड़ना चाहते है तो पहले आपको उनके पास उन्हें फॉलो करने के लिए रिक्वेस्ट भेजनी पड़ती है. अगर वो आपकी रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर लेते है तभी आप उनसे जुड़ते हो.

-    External Social Media ( ESM ) : अगर बात External Social Media की करें तो ये एक Public Community यानि ओपन होता है जहाँ आप जितने चाहो उतने लोगों के साथ जुड़ सकते हो और अपनी खुद की एक कम्युनिटी तैयार कर सकते हो. इसका सबसे ज्यादा यूज एडवरटाइजर्स करते है ताकि वे लोगों को ज्यादा से ज्यादा खिंच सके और ट्रैफिक बना सके. इस तरह सोशल मीडिया का सबसे अच्छा उदाहरण है Twitter, Google+, Facebook और Instagram इत्यादि.

वैसे आजकल सोशल मीडिया में प्राइवेसी बढाने के लिए एक अच्छी चीज ऐड हो चुकी है कि जब तक आप किसी की Request को एक्सेप्ट नहीं करते तब तक वो आपके साथ लिंक नहीं हो पाता.

सोशल मीडिया की विशेषताएँ ( Features of Social Media ) :
क्योकि ये एक ऑनलाइन सर्विस है इसीलिए ये भी एक Web Based Service ही होती है, जहाँ आप एक लिमिटेड सिस्टम के अंदर ही अपनी प्रोफाइल को बना सकते हो और उसके बाद आप अपने फ्रेंड्स और फोलोवर्स के साथ कंटेंट शेयर कर सकते हो.

सोशल मीडिया आज एक बहुत बड़ा Business Model भी बन चुका है, वो इसलिए क्योकि हर बिज़नस के लिए ट्रैफिक की जरूरत होती है और सोशल मीडिया वो जगह है जहाँ ट्रैफिक ही ट्रैफिक है, बस जरूरत है तो उसे अपनी तरफ मोड़ने की. इसके लिए भी सोशल ने कई सर्विसेज दी है जैसेकि Pages और Groups. जब ये पेज या ग्रुप पोपुलर हो जाते है तो इन्ही पर विज्ञापन भी सर्व किये जाते है जिससे ना सिर्फ बिज़नस को बेनिफिट होता है बल्कि एक अच्छी खासी ऑनलाइन एक्स्ट्रा इनकम भी बन जाती है. यही वजह है कि आज हर बड़ी कंपनी का सोशल मीडिया पर अपना खुद का एक पेज और ग्रुप जरुर मौजूद है.
Rishton ko Kharab Kar Rha Social Media
Rishton ko Kharab Kar Rha Social Media
सोशल मीडिया इस्तेमाल करने के रिस्क ( Risks of Using Social Media ) :
-    प्राइवेसी खो देना ( Fear of Losing Privacy ) : वैसे तो सोशल मीडिया हर किसी की प्राइवेसी को बनाये रखता है, लेकिन हम खुद सोशल मीडिया पर इतनी ज्यादा डाटा, इनफार्मेशन और फोटोज वीडियोस डालते है कि वो सब इंटरनेट पर इधर उधर घूमते रहते है. ऐसे में अगर कोई हैकर आपकी इनफार्मेशन को आसानी से प्राप्त कर उनका गलत इस्तेमाल कर सकता है.

-    Inappropriate Content : सोशल मीडिया को यूज करते वक़्त एक बात हमेशा ध्यान रखनी चाहियें कि नेटवर्क पर हमारा कण्ट्रोल कम होता है इसलिए ऐसा होने के बहुत चांसेस होते है कि आप सर्च कुछ करते हो और दिखाया आपको कुछ और जाता है जिसमें Inappropriate Content भी हो सकता है जैसेकि कोई हिंसक कंटेंट या नसे से जुडी कोई इनफार्मेशन या फिर एडल्ट कंटेंट.

-    Harassment : ऐसे बहुत से लोग है जो फ्रेंड्स बनाने के चक्कर में ये नहीं देखते कि वे किसके साथ फ्रेंडशिप कर रहे है और जब ऐसा होता है तो कुछ ऐसे स्ट्रेंजर्स आपके दोस्त बन जाते है जो बाद में आपको Harass करना शुरू कर देते है.

सोशल मीडिया के फायदे ( Benefits of Social Media ) :
-    सोशल मीडिया वो प्लेटफार्म है जहाँ हम वैरायटी और रिलेशनशिप को एक साथ मेन्टेन करते है जैसेकि फ्रेंड्स, साथ में काम करने वाले लोग, कमर्शियल लोग और बाकी इनफार्मेशन वगरह. पर इसका अहम काम अब भी कम्युनिकेशन ही है.

-    इसपर हम किसी भी चीज को आसानी से और तेजी से ऐडवरटाईज कर सकते है.
-    वे रिश्तेदार या फ्रेंड जो हमसे दूर रहते है उनसे भी हम सोशल मीडिया के जरिये आसानी से कांटेक्ट कर सकते हो और इसमें आपके ज्यादा पैसे भी खर्च नहीं होते.

-    सोशल मीडिया का यूज सिर्फ फोटोज वीडियोस अपलोड करने के लिए ही नहीं होता बल्कि इसके द्वारा हम अपनी काम की फाइल्स और डाक्यूमेंट्स भी किसी के साथ शेयर कर सकते है और चाहे तो रियल टाइम में उनसे कांटेक्ट भी कर सकते है.

-    सोशल मीडिया एक लर्निंग स्टेशन भी है जहाँ आप अपनी स्टडी से रिलेटेड बहुत सारी चीजों को सीख सकते हो.

-    पुलिस भी अपनी इन्वेस्टीगेशन में सोशल मीडिया का सुचारू रूप से इस्तेमाल करती है और मुजरिमों तक पहुँचती है.

सोशल मीडिया के नुक्सान ( Losses of Social Media ) :
-    सोशल मीडिया का सबसे बड़ा नुक्सान प्राइवेसी का ही है, हालाँकि हर सोशल मीडिया एप्लीकेशन प्राइवेसी पर पूरा ध्यान रखती है लेकिन फिर भी इसको इग्नोर नहीं किया जा सकता.

-    दुसरा आज हर व्यक्ति सोशल मीडिया पर अपना बहुत सारा कीमती वक़्त ऐसे ही खराब कर देता है.

-    ऐसे बहुत से बच्चे है जो सोशल मीडिया से जुड़ने के लिए अपनी आयु को गलत बताते है और खुद को Molester के करीब ले जाते है. वो इसलिए क्योकि इतनी छोटी उम्र में उन्हें इतनी समझ ही नहीं होती कि उन्हें सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर क्या करना चाहियें और क्या नहीं.

-    यही वजह है कि आज सोशल मीडिया नेटवर्क्स पर बहुत सारे अकाउंट फेक है. साथ ही सोशल मीडिया आपको अपना गुलाम बना लेती है जिसकी वजह से आपके रियल रिलेशनशिप खराब होते है.

-    साथ ही साथ बहुत से लोग सारा दिन और रात में अँधेरे में भी अपने कंप्यूटर और मोबाइल फ़ोन्स को यूज करते रहते है जिससे ना सिर्फ उनकी आँखें बल्कि उनकी हेल्थ भी खराब होती है.

सोशल मीडिया का भविष्य ( Future of Social Media ) :
आज पूरी दुनिया मॉडर्न हो चुकी है और हर चीज में टेक्नोलॉजी को यूज करती है इसीलिए सोशल मीडिया का भविष्य काफी उज्जवल और सेफ है. इसीलिए सोशल मीडिया को Virtual World का कम्युनिकेशन मीडियम कहा जाता है. जहाँ हमारे रियल कम और Virtual फ्रेंड्स ज्यादा होते है जिन्हें हम जानते तक नहीं.
Real Life se Dur Le Ja Rha Hai Social Media Sites
Real Life se Dur Le Ja Rha Hai Social Media Sites
सोशल मीडिया किस तरह हमारे दिलों और दिमाग पर असर करता है और इसका भविष्य क्या है, इसके बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.



YOU MAY ALSO LIKE




Social Media Kaise Hamare Dimag se Khel Raha Hai, Kya Aap Bhi Sara Din Social Networking Sites Use Karte Hai, Rishton ko Kharab Kar Rha Social Media, Real Life se Dur Le Ja Rha Hai Social Media Sites

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT