इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Dhumrapaan se Hone Wale Rog | धुम्रपान से होने वाले रोग | Diseases Caused By Smoking

धुम्रपान से होने वाली बीमारियाँ :
धुम्रपान एक ऐसा नशा है जिससे अनेक तरह के नुकसान और बीमारियाँ होती है. किन्तु एक शौध के अनुसार धुम्रपान छोड़ने के बाद भी व्यक्ति को स्वास्थ्य के असंतुलन का खतरा बना रहता है.

1.       फेफड़ों का कैंसर : दुनिया भर में कैंसर से मरने वाले लोगो की संख्या बहुत ज्यादा है और उनमे से ज्यादातर लोग फेफड़ों के कैंसर से मरते है. फेफड़ों के कैंसर से मरने वाले लोगो में से 80 % लोग वे है जो धुम्रपान का सेवन करते थे. जैसे जैसे आप अपनी सिगरेट की संख्या बढ़ते हो वैसे वैसे आपको कैंसर का खतरा बढ़ता रहता है. एक अध्ययन के अनुसार जितनी कम आपकी धुम्रपान शुरू करने की उम्र होती है, उतनी ही जल्दी आपको कैंसर का रोग होता है.

2.       गले और मुहं का कैंसर : धुम्रपान करने से फेफड़ों को हवा की पूरी मात्रा नही मिल पाती. प्राणवायु के पूरी तरह से न मिल पाने से रक्त पूरी तरह से साफ़ और शुद्ध नही हो पाटा. जिससे मुहं और गले के कैंसर के होने की संभावना बढ़ जाती है. धुम्रपान व्यक्ति की सहनशक्ति को भी कम करता है और ऐसी स्थिति में व्यक्ति अर्धपागल हो जाता है, जो इनकी अकाल मृत्यु का कारण बनता है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
Diseases Caused By Smoking
Diseases Caused By Smoking
3.       अन्य फेफड़ों के रोग : धुम्रपान सिर्फ फेफड़ो के कैंसर तक ही सिमित नही है बल्कि इससे  आपके फेफड़ों में धुआं भर जाता है और फेफड़ो में रूकावट पैदा हो जाती है, जिससे आपको सांस लेने में मुश्किल होने लगती है. जिसे Chronic Obstructive Lung Disease कहा जाता है. धुम्रपान करने वाले व्यक्तियों को निमोनिया होना तो साधारण सी बात होती है किन्तु इसका समय पर इलाज न करने से ये बीमारी घातक रूप भी ले लेती है. इसके अलावा अस्थमा, दमा, कुपोषण जैसे रोगों का कारण भी धुम्रपान ही होता है.

4.       पाचन तंत्र खराब : सिगरेट में मौजूद कठोर जहर पेट के अस्तर को क्षति पहुंचता है और पाचन के लिए जरूरी एंजाइम को ठीक से कार्य नही करने देता. जिससे पेट की आंतो और पाचन क्रिया के खराब होने का खतरा बना रहता है. इसीलिए आपने देखा होगा कि धुम्रपान करने वाले व्यक्तियों को पेट से जुडी समस्या रहती है.

5.       हृदय रोग : धुम्रपान करने से शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ जाती है जिससे उक्त रक्तचाप की समस्या का खतरा पैदा होता है और धुम्रपान करने वाले व्यक्तियों को सामान्य से 3 गुना ज्यादा हृदय का दौरा पड़ने की संभावना बढ़ जाती है.

6.       बुद्धि नष्ट करता है : हम सब जानते है कि धुम्रपान करने से फेफड़ो, दिल और शरीर के बाकी अंगो को कितना नुकसान पहुँचता है किन्तु क्या आपको पता है कि धुम्रपान करने से आपकी बुद्धि का विकास नही हो पाता, साथ ही ये आपकी यादाश्त को कम करके आपकी बुद्धि को नष्ट कर देता है. हालिया अध्ययन में इस बात का पता चला है कि धुम्रपान बुद्धि को छीन लेता है. खासतौर से पुरुषों की.
धुम्रपान से होने वाले रोग
धुम्रपान से होने वाले रोग
7.       पैरो की नाशो में रूकावट : कई बार देखा गया है कि धुम्रपान करने वाले व्यक्तियों की पैरो की नशों में रूकावट पैदा हो जाती है, जिससे उन्हें पैरो में रोग हो जाता है. ऐसे लोगो को चलने फिरने और खड़े होने में भी दिक्कते आने लगती है. अगर इसके प्रारंभिक चिन्हों को नजरअंदाज कर दिया जायें तो इन्हें गैंगरीन होने की भी आशंका बनी रहती है.

8.       दिमाग का दौरा : शौध के अनुसार वर्ष में जितने लोग दिमाग के दौरे की वजह से मरते है उनमे से 11 % लोग  धुम्रपान का सेवन करते थे. अगर कोई व्यक्ति दिन में 20 या इससे अधिक सिगरेट पीता है तो उसे दिमाग का दौरा पड़ने की संभावना 1 ½ गुना बढ़ जाती है.

9.       DNA पर नकारात्मक प्रभाव : धुम्रपान करने से रक्त में एक तार के जैसा तत्व बन जाता है, जिससे व्यक्ति के DNA को क्षति पहुँचती है और DNA पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. 

10.   बाल झड़ने का खतरा : धुम्रपान का सेवन करने से व्यक्ति के बाल झड़ने लगते है. जिससे उन्हें गंजापन होने का खतरा रहता है. ऐसा ज्यादातर पुरुषो में देखा जाता है.
Dhumrapaan se Hone Wale Rog
Dhumrapaan se Hone Wale Rog
11.   डिहाइड्रेशन पैदा होना : धुम्रपान करने से व्यक्ति के शरीर के अंदर का पानी सुख जाता है, जिसके कारण उनकी त्वचा और होंठ सुख जाते है, साथ ही इन्हें मूत्र से संक्रमण होने का खतरा रहता है. इसलिए धुम्रपान करने वाले व्यक्ति को साधारण से 2 गिलास अधिक पानी पीना चाहियें.

12.   मुहं का स्वाद खत्म : आपने देखा होगा कि धुम्रपान करने वाले लोग तीखी चीजो या पदार्थो को भी आसानी से खा जाते है. ऐसा इसलिए होता है क्योकि धुम्रपान करने से उनके जीभ पर मौजूद टेस्ट बड्स ( Taste Buds ) जल कर खराब हो जाते है और उनके मुहं को किसी भी तरह के स्वाद का पता नही चलता.


13.   उर्जा का घटना : बहुत से धुम्रपान करने वाले व्यक्ति बोलते है कि वे रात के समय आसानी से कार्य कर सकते है क्योकि धुम्रपान से उन्हें नींद नही आती. किन्तु ऐसा कुछ नही है धुम्रपान करने से व्यक्ति के फेफड़ो की कार्यक्षमता कम हो जाती है, जिससे वे किसी भी कार्य को एक साधारण व्यक्ति के जितनी स्फूर्ति से नही कर सकते. धुम्रपान से मिलने वाला नशा उन्हें आलसी बना देता है और वे उस नशे की हालत में सिर्फ एक जगह पर बैठे रहते है. 
धुम्रपान से नुकसान
धुम्रपान से नुकसान
Dhumrapaan se Hone Wale Rog, धुम्रपान से होने वाले रोग, Diseases Caused By Smoking, Dhumrapan ke Bure Prabhav, Smoking Kills, Fefdo Gale Muhn ka Cancer, Dehydration Heart Attack Brain Damage Hone ka Khatra, धुम्रपान से नुकसान.


YOU MAY ALSO LIKE  

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT