इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Prasav Childbirth ke Baad Saree Kaise Phnen | प्रसव के बाद साडी कैसे पहनें | How to Dress Up Saree After Delivery Childbirth

प्रसव के बाद साडी कैसे पहने :
कई बार कुछ महिलाओं के सामने ऐसी स्थिति आ जाती है कि उन्हें प्रसव के बाद किसी शादी, पार्टी, तीज त्यौहार या फंक्शन में जाना पड़ जाता है और ये फंक्शन ऐसे होते है जहाँ इन्हें साडी ही बाँधनी होती है. किन्तु प्रसव के बाद इस तरह साडी बांधना इनके लिए थोडा मुश्किल होता है. किन्तु कुछ जरूरी बातो को ध्यान में रखकर ये प्रसव के बाद भी साडी पहन सकती है. आज हम आपको इन्ही सब बातो के बारे में बता रहे है जिन्हें ध्यान में रखकर आप प्रसव के बाद भी साडी पहन सकते हो. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ... 
Prasav Childbirth ke Baad Saree Kaise Phnen
Prasav Childbirth ke Baad Saree Kaise Phnen 
1.   चाहे आपका सामान्य प्रसव हुआ हो या फिर सेक्शन, आप कभी भी पेटीकोट को कस कर न बांधें. क्योंकि आपके पेट और पुडू की मांसपेशियों को प्रसव के दौरान काफी परेशानियों से गुजरना पड़ता है तो इससे उनपर गलत प्रभाव पड़ता है. आप सामान्य रूप से पेटीकोट को बांधे इससे आपको भी आराम महसूस होगा.

2.   अगर आपका प्रसव हॉस्पिटल में ऑपरेशन से हुआ है तो आप साडी को टांको के ऊपर से ही बांधें. साथ ही आप हल्की साडी का इस्तेमाल करें क्योकि भारी साडी बार बार नीचे की तरफ खिसकती है जो आपके टांको को लग कर उन्हें खोल या निकल सकती है और आपको परेशानी का सामना करना पड सकता है.
प्रसव के बाद साडी कैसे पहनें
प्रसव के बाद साडी कैसे पहनें 
3.   कॉटन की साडी आपके लिए सबसे अच्छा चुनाव होती है क्योकि ये हल्की और मुलायम होती है. साथ ही इनसे पैरो पर भी कोई भर नही पड़ता और ना नही चलने, फिरने, उठने और बैठने में किसी तरह की दिक्कत का सामना करना पड़ता है.

4.   ऐसी साडी भी न पहने जिसपर जरी का बॉर्डर हो क्योकि ये आपके पेट पर बाँधने पर आपके पेट पर चुभ चुभ कर आपके पेट को नुकसान पहुंचा सकती है. जरी का काम तारो से होता है जो आपके टांको को खोल सकता है. ये आपके लिए बहुत ही दर्दनाक और नुकसानदेह हो सकता है इसलिए आप मोटे और भरी बॉर्डर वाली साडी की जगह प्लेन साडी का ही चुनाव करें.



5.   साडी को बाँधने का तरीका और स्टाइल भी शरीर पर असर डालता है. इसलिए आप साडी बाँधने का वो तरीका अपना सकती है जिससे आपके पेट और शरीर पर कम वजन पड़े और आपको कम भर महसूस हो. जैसेकि बंगाली स्टाइल. इस स्टाइल से साडी बाँधने से आपकी कमर पर बहुत कम वजन महसूस होता है क्योकि इसमें प्लेट्स / चुन्नट नही पड़ती और इसमें पल्लू भी दो होते है. जिससे कंधो पर भी भार नही आता.    
How to Dress Up Saree After Delivery Childbirth
How to Dress Up Saree After Delivery Childbirth
Prasav Childbirth ke Baad Saree Kaise Phnen, प्रसव के बाद साडी कैसे पहनें, How to Dress Up Saree After Delivery Childbirth, Child-Birth ke Baad Saree Kaise Baandhen, Style of Wearing Saadi after Child birth, Ways for Wearing Saree, बच्चे के जन्म के बाद साडी कैसे बांधें.


YOU MAY ALSO LIKE  

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT