इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Tulsi ke Prakar or Utpatti | तुलसी के प्रकार और उत्पत्ति | Type of Basil and its Origin

तुलसी ( Tulsi )
तुलसी के पौधे का हर व्यक्ति के जीवन में धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व होता है, माना जाता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा होता है उस घर में सुख शांति, सकारात्मकता, धन दौलत, ऐश्वर्या, शुद्धता और आरोग्य वास करने लगते है. तुलसी का घर में होना और इसकी महक उस घर के लोगो के मन में ईश्वर के लिए फिर से श्रद्धा भाव को पैदा कर देती है, इसके घर में होने से ना सिर्फ सौभाग्य बल्कि व्यक्ति की सोच और उसकी कार्य करने की क्षमता में भी अच्छा परिवर्तन आता है और वो क्रोध छोड़ हर कार्य को एकाग्र मन से करने लगता है. ये शरीर से आलस को दूर कर इसमें अद्वितीय शक्ति का संचार करती है. इसके अलावा भी तुलसी के अनेको ऐसे गुण है जो इसको पौधों में सबसे उत्तम और मानव जीवन का अभिन्न अंग बनती है और इन्ही सब कारणों की वजह से तुलसी का डंका पूरी दुनिया में बजता है. तो आओ हम भी जानते है कि तुलसी का हमारे जीवन में क्या महत्व है. CLICK HERE TO KNOW THE SPIRITUAL AND MEDICINE USE OF TULSI ...
Tulsi ke Prakar or Utpatti
Tulsi ke Prakar or Utpatti
तुलसी के तीन प्रकार की होती है ( Types of Tulsi ) :
-    कृष्ण तुलसी
-    सफ़ेद तुलसी, और
-    राम तुलसी

तीनो तुलसी का अपना महत्व है और तीनो ही सामान फलदायी है किन्तु इनमे से सबसे प्रिय कृष्ण तुलसी को माना जाता है. कृष्ण तुलसी में कुछ मंजरियाँ उगती है जिसपर छोटे छोटे फुल आते है इससे आप कृष्ण तुलसी की पहचान कर सकते है.
तुलसी के प्रकार और उत्पत्ति
तुलसी के प्रकार और उत्पत्ति
तुलसी की उत्पत्ति ( Origin of Tulsi ) :
जब देवताओं और दानवों के बीच में समुद्र मंथन हुआ था तो उस वक़्त मंथन में से अमृत निकला था जिसके छलकने की वजह से उसके कुछ कण भूमि पर गिर गए थे और इसी से तुलसी की उत्पत्त्ति हुई थी. उस वक़्त ब्रहम देव जी ने तुलसी को भगवान विष्णु जी को सौंप दिया था. तभी से तुलसी जी भगवान श्री विष्णु जी को बहुत प्रिय है और माना जाता है कि भगवान विष्णु जी की पूजा में अगर तुलसी के पत्ते ना रखें जाएँ तो उनकी पूजा पूर्ण नही होती.
Type of Basil and its Origin
Type of Basil and its Origin
अमृत से उत्पन्न होने के कारण ही तुलसी को पापनाशक और मोक्षदायक माना जाता है और इसका देवपूजा और श्राद्धकर्म, हवं, यज्ञ, व्रत, जप इत्यादि में बहुत महत्व है.


तुलसी के महत्व और तुलसी के औषधीय और आध्यात्मिक गुणों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट कर सकती है.
Maanav Jivan mein Tulsi ka Mahtv
Maanav Jivan mein Tulsi ka Mahtv
Tulsi ke Prakar or Utpatti, तुलसी के प्रकार और उत्पत्ति, Type of Basil and its Origin, Tulsi, तुलसी, Basil, Maanav Jivan mein Tulsi ka Mahtv, गुणकारी तुलसी, Krishana Tulsi, Ram Tulsi, Safed Tulsi, कृष्ण तुलसी.


Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT