इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Vibhinn Rogon Mein Amrud ka Yogdan | विभिन्न रोगों में अमरुद का योगदान

अमरुद का प्रयोग कर पायें रोगों से मुक्ति
अमरुद बहुत ही स्वादिष्ट और उपयोगी फल हैं. इसका प्रयोग कर आप गंभीर रोगों से मुक्ति पा सकते हैं. अमरुद में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पाई जाती हैं. जो की विभिन्न प्रकार के रोगों से छुटकारा दिलाने के लिए तथा शरीर की कमजोरी को दूर करने में बहुत ही सहायक सिद्ध होती हैं. अमरुद का सेवन करने से शरीर में सकारात्मक ऊर्जा आती हैं तथा शरीर में रोगों से लड़ने की प्रतिरोधी क्षमता में वृद्धि होती हैं. जिससे शरीर स्वस्थ रहता हैं तथा शरीर की ताकत बढती हैं. इसलिए अमरुद का सेवन जरुर करें. अमरुद का सेवन कर आप कुछ रोगों को अपने शरीर से हमेशा – हमेशा के लिए दूर भी कर सकते हैं. जिनकी जानकारी नीचे दी गई हैं. -


ताकत और वीर्य की वृद्धि के लिए
यदि किसी पुरुष में वीर्य की कमी हो गई जिसके कारण उसके शरीर में धातु दुर्बलता आ गई हैं. तो वह धातु दुर्बलता की इस बिमारी से बचने के लिए अमरुद का प्रयोग कर सकता हैं.

विधि
1.    धातु दुर्बलता से राहत पाने के लिए एक पका हुआ नर्म अमरुद लें.

2.    अब एक बर्तन लें और उसमें पके हुए अमरुद को अच्छी तरह से मसल लें. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT हमारा स्वादिस्ट फल अमरुद के लाभ ...
Vibhinn Rogon Mein Amrud ka Yogdan
Vibhinn Rogon Mein Amrud ka Yogdan


3.    मसलने के बाद एक कप दूध लें और उसे मसलें हुए अमरुद के मिश्रण में डालकर अच्छी तरह से फेंट लें.

4.    अच्छी तरह से फेटने के बाद इस मिश्रण को छान लें और अमरुद के बीजों को निकाल कर अलग कर दें.

5.    अब इस मिश्रण में अपनी आवश्यकता के अनुसार चीनी मिला लें और इसका सेवन करें.

6.    इस मिश्रण का नियमित रूप से सेवन करने से धातु की वृद्धि होती हैं तथा धातु क्षीणता की शिकायत दूर हो जाती हैं.

 पेट दर्द
यदि आपके पेट में दर्द हो, पेट में गैस बनने की शिकायत हो या अफारा की शिकायत हो. तो भी आप इन सभी रोगों से मुक्ति पाने के लिए अमरुद की पत्तियों का प्रयोग कर सकते हैं.

विधि
1.    पेट दर्द तथा पेट के रोगों से निजात पाने के लिए अमरुद के पेड़ की ताज़ी और कोमल पत्तियां लिजिए.

2.    अब इन पत्तियों को पानी में धो कर इन्हें अच्छी तरह से पीस लें. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT अमरुद फल के गुण फायदे और उपयोगिता ...
विभिन्न रोगों में अमरुद का योगदान
विभिन्न रोगों में अमरुद का योगदान


3.    अमरुद की पत्तियों को पिसने के बाद एक गिलास पानी लीजिए और उसमें अमरुद की पत्तियों के इस मिश्रण को मिला लें. अब इस मिश्रण का सेवन करें.

अमरुद की पत्तियों के इस रस को पीने से आपको पेट के दर्द से कुछ ही समय में छुटकारा मिल जाएगा तथा यदि आपको यदि पेट में अफारा उठने की भी शिकायत हैं तो इस समस्या से भी आप मुक्त हो जायेंगे.

बवासीर
बवासीर एक ऐसा रोग हैं जिससे पीड़ित होने के बाद व्यक्ति बहुत ही परेशान हो जाता हैं. बवासीर रोग से पीड़ित होने पर व्यक्ति को रोजाना सुबह उठकर खाली पेट 250 ग्राम अमरुद का सेवन करें. रोजाना अमरुद का सेवन करना बवासीर के रोग से प्रभावित व्यक्ति के लिए अत्यधिक फायदेमंद होता हैं. यदि बवासीर के रोग से ग्रस्त व्यक्ति रोजाना खाली पेट अमरुद का सेवन करें. तो उसे बवासीर की बिमारी से हमेशा – हमेशा के लिए भी राहत मिल सकती हैं. 


सुखी खांसी

विधि
1.    सुखी खांसी के रोग से निजात पाने के लिए एक बड़ा पका हुआ अमरुद लें.

2.    अब इस अमरुद को चाक़ू की सहायता से अमरुद के अन्दर थोड़ी सी जगह बना लें और इसके अंदर का गूदा निकाल लें.

3.    अब एक साफ कपडा लें और उसे अमरुद में भर दें और अमरुद के ऊपर मिटटी चढ़ा दें.

4.    अब कुछ उपले लेकर उसे जला लें. इसके बाद अमरुद को तेज उपले की राख में भून लें.

5.    जब अमरुद अच्छी तरह से भून जाएँ. तो इसके ऊपर का कपडा और मिटटी हटा दें.

6.    अब भुने हुए अमरुद को बारीक़ पीस लें और इसमें आधा चम्मच शहद मिलकर इसका सेवन करें.

रोजाना सुबह – शाम अर्थात दिन में दो बार अमरुद के इस मिश्रण को चाटने से सुखी खांसी का रोग दूर हो जाएगा.  

दांतों का दर्द
यदि आपके दांतों में दर्द हैं. तो दांतों के दर्द को खत्म करने के लिए भी आप अमरुद की पत्तियों का प्रयोग कर सकते हैं. दांत के दर्द को दूर भगाने के लिए आप केवल अमरुद के पेड़ की कुछ पत्तियां लिजिए और इन्हें धीरे – धीरे चबायें.

रोजाना सुबह उठकर अमरुद की पत्तियों को चबाने से आपके दांतों का दर्द ठीक हो जाएगा. इसके साथ ही आपके दांत मजबूत भी हो जायेंगें.
Drad Danton ke Drad mein Amrud
Drad Danton ke Drad mein Amrud


जुखाम
जुखाम एक ऐसी बीमारी हैं जो सर्दी के मौसम में अक्सर लोगों को हो ही जाता हैं. जिससे लोग बहुत ही परेशान हो जाते हैं. जुखाम के रोग के साथ – साथ कुछ अन्य रोग जैसे – सिर में दर्द, गला ख़राब होना आदि भी हो जाते हैं. यदि आपको जुखाम हो गया हैं और इसके साथ सिर में दर्द या गले के ख़राब होने की समस्या हैं तो अमरुद का इस्तेमाल अवश्य करें.

विधि –
1.    जुखाम के रोग को दूर करने के लिए एक अमरुद लें और उसे काट लें.

2.    अमरुद को काटने के बाद इसके छोटे – छोटे बीजों को निकाल दें और इसका सेवन करें.

3.    अमरुद को खाने के बाद एक गिलास पानी लें और इसे अपनी नाक को बंद कर के पी जाएँ. 

भांग का नशा
यदि किसी व्यक्ति को अत्यधिक भांग पीने से नशा हो गया हैं. तो वह व्यक्ति अमरुद के फल का तथा पत्तियों का सेवन कर इस भांग के नशे से मुक्ति पा सकता हैं.

1.    भांग का नशा उतारने के लिए 3 से 4 अमरुद का सेवन करें.
Gambhir Bimariyon mein se Bachne ke liye Amrud
Gambhir Bimariyon mein se Bachne ke liye Amrud


2.    अमरुद के पेड़ के पेड़ से कुछ पत्तियां तोड़कर इन्हें धो लें.

3.    अब अमरुद क पेड़ की इन पत्तियों को पीसकर इसका लगभग 25 ग्राम तक रस बना लें.

4.    अब इस रस का सेवन करें. अमरुद की पत्तियों का रस पीने से तथा अमरुद के फल को खाने से आपको भांग के नशे से जल्द ही छुटकारा मिल जाएगा.

हृदय की दुर्बलता
अमरुद में विटामिन सी की मात्रा विद्यमान होती हैं. जिससे ह्रदय को अधिक बल मिलता हैं तथा शरीर में नई ऊर्जा का संचार होता हैं. अमरुद का सेवन करने से हृदय में फुर्ती आती हैं. जिससे शरीर में रक्त का प्रवाह अच्छी तरह से होता हैं और कमजोरी हृदय से दूर भाग जाती हैं. इसलिए हृदय रोग से पीड़ित तथा हृदय की कमजोरी की हालात में इसका प्रयोग अवश्य करें.

1.    यदि आपका हृदय कमजोर हैं तो भी आप अमरुद का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके लिए एक अमरुद लें और उसे पीस कर इसका शरबत बना लें.

2.    अब इस शरबत में कुछ बुँदे निम्बू के रस की डालें और इसे पी लें.
ध्यान रखें कि यदि किसी व्यक्ति को हृदय की कमजोरी के साथ – साथ दमे की या खांसी की शिकायत हैं तो वो व्यक्ति इसका प्रयोग बिल्कुल न करें.

विभिन्न रोगों में अमरुद का प्रयोग के बारे में अधिक जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हैं.

Rogon ko Dur Karne ke liye Amrud ka Istemal
Rogon ko Dur Karne ke liye Amrud ka Istemal





Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT