इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Jahrile Dank se Bachne ke Upay | जहरीले डंक से बचने के उपाय | Tips to Avoid Poisonous Sting

डंक के जहर को निष्फल करने का तरीका ( The Way to Defeat Poisonous Sting )
हर मौसम में कुछ ऐसे किट पतंगे या कीड़े मकोड़े आ जाते है जिनका डंक दर्दनाक तो होता ही है साथ ही उनका जहर भी काफी समस्यायें उत्पन्न कर देता है कुछ जीवों के काटने से तो मनुष्य की मृत्यु तक हो जाती है. इन कीड़े मकोडो में सबसे ज्यादा हम ततैये, चूहे, लाल चींटियाँ, मधुमक्खी इत्यादि से मिलते रहते है. इनके काटने की जलन असहनीय होती है और ये आपके शरीर के उस हिस्से पर सुजन बना देते है. जबकि सांप और बिच्छु आपके शरीर को नीला कर आपके रक्त में जहर का संचार करता है और आपको मृत्यु तक ले जाता है. किन्तु अगर इनका समय पर ही इलाज कर लिया जाते तो इनके जहर को निष्प्रभाव किया जा सकता है तो आओ जानते है कुछ ऐसे घरेलू उपाय जो आपको इन जीवों के जहर से बचाने में सहायक होंगे. CLICK HERE TO KNOW मकड़ी काट ले तो क्या उपचार करें ... 
Jahrile Dank se Bachne ke Upay
Jahrile Dank se Bachne ke Upay
·         बिच्छु का डंक ( When Scorpion Bites ) : अगर किसी व्यक्ति को बिच्छु डंक मार दें तो उसे तुरंत प्याज का रस निकालकर उसमे थोडा नौसादर मिलाना चाहियें. इस मिश्रण को उस जगह लगायें जहाँ बिच्छु ने काटा है.

बिच्छु का जहर उतरने के लिए आप हल्दी की बुकनी को उस जगह लगायें जहाँ बिच्छु ने काटा है. साथ ही आप उसका धुँआ भी पीड़ित के पास करें. कुछ क्षणों में भी रोगी को आराम का आभास होने लगता है.

इसके अलावा आप इमली के कच्चे बीज लें और उन्हें तवे पर सेंक लें. इसके बाद आप उन बीजों को घीसते रहें ताकि उसके ऊपर की काली और महरून परत हट जाएँ, जब आपको इमली के इस बीज का सफ़ेद भाग दिखने लगे तब आप इस बीज को पीड़ित व्यक्ति के उस स्थान पर लगायें जहाँ बिच्छू ने डंक मारा है. ध्यान रहें कि घिसने की वजह से बीज बहुत गर्म हो जाएगा जिससे पीड़ित को जलन जरुर महसूस होगी. किन्तु ये बीज बिच्छु के सारे जहर को चूस लेता है और जैसे ही शरीर से सारा जहर निकल जाता है तो ये बीज अपने आप नीचे गिर जाता है. CLICK HERE TO KNOW सांप के काटने का उपचार ... 
जहरीले डंक से बचने के उपाय
जहरीले डंक से बचने के उपाय
पुदीने का इस्तेमाल भी आप बिच्छु के डंक से पीड़ित व्यक्ति को आराम दिलाने के लिए कर सकते हो. इसके लिए आप या तो पुदीने का रस निकाल लें या फिर आप उसके पत्तों को सीधे ही व्यक्ति को दें.

बिच्छु के जहर को शरीर से उतारने के लिए आप रतालू का रस निकाल लें और उसमे थोडा नौसादर मिला लें इसके बाद आप इसे पीड़ित व्यक्ति के शरीर के उस स्थान पर लगायें जहाँ बिच्छु ने डंक किया है. अगर आप चाहे तो रतालू को सुखाकर उसे घिसकर भी प्रयोग में ला सकते हो. इससे भी पीड़ित को उतना ही लाभ होगा. CLICK HERE TO KNOW ततैया के काटने के देशी उपचार ... 
Tips to Avoid Poisonous Sting
Tips to Avoid Poisonous Sting
·         सांप के काटने पर ( When Snake Bites ) : सांप के जहर को उतारने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप 50 ग्राम देशी घी लें और उसमे 1 ग्राम फिटकारी मिला लें. इसके बाद आप इन्हें अच्छी तरह पीसकर साप के काटने वाली जगह पर लगायें.

उल्टी करने से भी सांप के जहर का असर कम होता है तो आप पीड़ित व्यक्ति को 100 से 200 ग्राम घी पिलायें और उसे उल्टी करा दें. अगर पीड़ित घी पीने के बाद भी उल्टी नही कर रहा तो उसे घी पिलाने के 15 मिनट बाद हल्का गर्म पानी पिलायें इससे पीड़ित तुरंत उल्टी करने लगता है और उल्टी के साथ ही उसके शरीर से सारा जहर बाहर आ जाता है.

सांप के जहर को कम करने के लिए आप घर पर ही एक आयुर्वेदिक दवाई तैयार कर सकती है. जिसके लिए आप थोड़ी हिंग लें और उसके साथ थोड़ी एरण्ड की कोपलों को पीस लें. इसके बाद आप इनकी गोलियाँ बना लें और पीड़ित व्यक्ति को हर आधे घंटे बाद गर्म पानी के साथ ये 2 – 2 गोलियाँ खिलाते रहें. पीड़ित को तुरंत लाभ मिलेगा.

अगर पीड़ित सांप के काटने के तुरंत बाद अरहर की जड़ों को चबाता है तो उससे भी सांप के जहर का असर कम होता है. आप चाहे तो पीड़ित को इसका रस भी पिला सकते हो. CLICK HERE TO KNOW मधुमक्खी के डंक का इलाज ... 
जहरीला कीड़ा डंक मार दें तो क्या करें
जहरीला कीड़ा डंक मार दें तो क्या करें
·         चूहे के काटने पर ( When Rat Bites ) : चूहें के काटने से व्यक्ति को रबिज के होने का खतरा रहता है और आपको बता दें कि ऐसे बहुत कम हॉस्पिटल है जिनके पास रबिज के एंटीबायोटिक इंजेक्शन होते है. इसलिए आपको इसके लिए शुरुआत में घरेलू उपायों को ही अपना होता है. ये उपाय निम्नलिखित है.

अगर आपके गहर में कोई खराब खोपरा पड़ा हुआ है तो आप उसे मुली के रस के साथ घिसियें और उसका एक लेप तैयार कर लें. इसके बाद आप इस लेप को उस जगह लगायें जहाँ से चूहें ने कुतरा है. इससे आपको तुरंत लाभ मिलता है.

बाजार में आपको चौलाई के मूल का चूर्ण मिल जाता है. आप इस चूरन को शहद के साद पीड़ित व्यक्ति को दिन में 3 से 4 बार दें. जल्द ही चूहें का जहर उतर जाता है और व्यक्ति को रबिज होने का खतरा भी नही रहता.

·         कुत्ता काट लें ( When Dog Bites ) : कुत्ते के काटने पर हम बच्चों को डरते है कि कुत्ते से बचकर रहना चाहियें वर्ना उसके काटने पर 14 इंजेक्शन लगवाने पड़ते है और वो भी पेट में. किन्तु अगर आप कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाएं तो आपको इस तरह के दर्द से नही गुजरना पड़ता.
Jahar Utaaren
Jahar Utaaren
कुत्ते के काटने पर तुरंत व्यक्ति के घाव पर लाल मिर्च पीसकर लगा देनी चाहियें, इससे कुत्ते के जहर का असर खत्म हो जाता है या ये कहें कि कुत्ते का जहर जल जाता है और घाव जल्द ठीक हो जाता है.

कुछ कुत्तों के काटने से व्यक्ति पागलों वाली हरकत करने लगता है इससे बचने के लिए आप 125 ग्राम जंगली चौलाई की जड़ को पीस लें और इसे पीड़ित व्यक्ति को पानी के साथ बार बार दें.

कुत्ते के काटने के घाव को भरने के लिए आप प्याज के रस में शहद मिलाकर एक लेप सा तैयार कर लें इसके बाद आप इस लेप को पीड़ित व्यक्ति के उस स्थान पर लगायें जहाँ कुत्ते ने काटा है.

इसके जहर को खत्म करने के लिए आप हिंग को पानी के साथ पीसकर उसे घाव पर लगायें. इससे जल्द ही घाव भी भर जाता है और जहर का असर भी नही होता.

·         ततैया के काटने पर ( When The Wasp Bites ) : ततैया के काटने पर व्यक्ति को असहनीय पीड़ा को झेलना पड़ता है और जहाँ पर ततैया काटता है वहाँ सुजन आ जाती है. अगर आपको भी कभी ततैया या बर्रा काट लें तो आप तुरंत उस स्थान पर खट्टा आचार या खटाई लगा दें. इसके तुरंत आपकी पीड़ा को आराम मिलेगा और आपकी जलन खत्म हो जायेगी.

जलन को खत्म करने के लिए आप आप उस स्थान पर लोहे की कोई वास्तु या मिटटी का तेल लगते है तो आपकी सुजन भी कम होती है.

ततैया के काटने पर सबसे अधिक इस्तेमाल निम्बू का किया जाता है. इसलिए आप ततैया के डंक पर निम्बू का रस लगायें या निम्बू को रगड़ लें. इस तरह सुजन और दर्द दोनों तुरंत चले जाते है.
Jahrilaa Kida Dank Maar Den To Kya Karen,
Jahrilaa Kida Dank Maar Den To Kya Karen
·         छिपकली, मधुमक्खी, कनखजूरे, मकड़ी के काटने पर ( When Lizard, Bees, Knkjure, Spiter Bites ) : वैसे तो ये बहुत कम होता है किन्तु फिर भी कुछ लोगो को छिपकली काट लेती है. इसका इलाज करने के लिए आप उस स्थान पर सरसों तेल और लकड़ी की राख को मिलाकर लगायें. इससे तुरंत ही छिपकली का जहर उतर जाता है.

मकड़ी भी बहुत काम काटती है किन्तु सोते वक़्त या खेलते वक़्त मकड़ी गलती से शरीर पर रगड़ी जाती है. जिससे उस स्थान पर उसका जहर फ़ैल जाता है. वहाँ छल्ले आने लगते है इसका इलाज करने के लिए आप थोड़े से आमचूर में पानी मिलाकर उसका एक पेस्ट तैयार कर लें और उसे उस जगह पर लगायें.
डंक के जहर को निष्फल करने का तरीका
डंक के जहर को निष्फल करने का तरीका
जैसाकि कनखजूरे का नाम है तो लोग मानते है कि कनखजूरा हमेशा कान में ही घुसता है किन्तु ऐसा नही है बल्कि ये काट भी लेता है और इसके काटने पर व्यक्ति को प्याज और लहसुन दोनों को एक साथ पीसकर उसका पेस्ट तैयार कर इस्तेमाल करना चाहियें.

बगीचों पार्कों इत्यादि में खेलते वक़्त वहाँ आपने पेड़ों पर मधुमक्खी के छत्ते लटके हुए देखे होंगे. ये मक्खियाँ अपने छत्ते में शहद बनती है. जितना मीठा इनका शहद होता है उतना ही जलन भरा और दर्दनाक इनका डंक होता है. जिसके उपाय के रूप में आप सोया और सेंधा नमक मिलाकर एक चटनी बना लें. इस चटनी को आप लेप के रूप में उस स्थान पर इस्तेमाल करें जहाँ मधुमक्खी ने काटा है.

इन सब उपायों के अलावा भी कुछ ऐसे उपाय है जिन्हें हम चींटी, मधुमक्खी या ततैया के काटने पर इस्तेमाल करते है जैसेकि कोलगेट या मिनट. इससे सुजन और जलन में ठंडक मिलती है और जल्द ही आराम भी होता है, इसके अलावा गीली मिटटी, तुलसी के पत्ते, अनार के पत्ते, आक के दूध का लेप और नमक का पानी रगड़ने से भी पीड़ित को तुरंत आराम मिलता है.


किसी भी किट पतंगे या कीड़े मकौड़े के काटने पर उसके जहर को उतारने के अन्य उपायों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट कर जानकारी हासिल कर सकते हो. 
The Way to Defeat Poisonous Sting
The Way to Defeat Poisonous Sting
Jahrile Dank se Bachne ke Upay, जहरीले डंक से बचने के उपाय, Tips to Avoid Poisonous Sting, Jahrilaa Kida Dank Maar Den To Kya Karen, Saanp Bicchu Chuhe Kutte Madhumakkhi Tataiye Chinti Makdi ke Kaatne ka Upchar, Jahar Utaaren, जहरीला कीड़ा डंक मार दें तो क्या करें.


Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

4 comments:

  1. Kankhjura me jhr hota h. kt le to kya mr skta h.

    ReplyDelete
  2. Kide ke dank se dank Wali jagah kali aur baki skin lal pad Jane par jaher kase utre

    ReplyDelete
    Replies
    1. same here ....kuch mila to bataye...

      Delete
  3. कनखजूरे के काटने के लक्षण केबारे में सर्च किया लकिन नहीं मिला

    ReplyDelete

ALL TIME HOT