इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Shree Hanuman Pratyaksh Darshan Hetu Sadhna | श्री हनुमान प्रत्यक्ष दर्शन हेतु साधना | Sri Hanuman Practice for Presentational

श्री हनुमान भगवान के प्रत्यक्ष दर्शन करने हेतु अनुष्ठान
प्रत्येक व्यक्ति अपने मन सबसे ज्यादा एक ही बात सोचता है कि इस जीवन में वह एक बार भगवान् से मिलने की इच्छा रखता है. अगर ऐसा संभव हो जाता है तो मनुष्य की प्रसन्नता का ठिकाना नहीं रहता है. चाहे कैसे भी करके अगर यह संभव है तो कोई भी व्यक्ति इसे करने की कोशिश करेगा. आज आपको बताया जा रहा है हनुमान जी की अनुपम साधना के बारे में. अगर आप पुरे विश्वास से इस साधना को करते है तो किसी ना किसी रूप में हनुमान जी आपको दर्शन जरुर देंगे और आपका भला हो जायेगा लेकिन यह आपको बिलकुल सच्चे मन और नियमों के अनुरूप करना है तभी आप इसका पूरा लाभ ले सकते है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POST ...
Shree Hanuman Pratyaksh Darshan Hetu Sadhna
Shree Hanuman Pratyaksh Darshan Hetu Sadhna 
इस साधना के लिए आपको बहुत सी सामग्री की जरुरत होगी. इसके लिए प्रयोग की जाने वाली आवश्यक सामग्री इस प्रकार है :

-    हनुमान जी एक विशिष्ट मूर्ति
-    मुंगे की एक माला
-    लकड़ी का बाजोट
-    गुड़ और चने से बना प्रसाद
-    अगरबत्ती
-    घी का एक दीपक
-    एक थाली स्टील या तांबे किसी भी धातु की हो
-    सवा मीटर लाल वस्त्र
-    जनेऊ और
-    फल दक्षिणा.

इस साधना को आप किसी भी महीने में कर सकते है. शुक्ल पक्ष के शनिवार या मंगलवार के दिन से शुरू कर सकते है. इसे लगातार 11 दिनों तक करना है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POST ...
श्री हनुमान प्रत्यक्ष दर्शन हेतु साधना
श्री हनुमान प्रत्यक्ष दर्शन हेतु साधना 
साधना विधि :
साधना शुरू करने से पहले स्नान जरुर कर लें. स्नान के बाद लाल रंग के वस्त्र पहन लें. घर में ही कहीं पूजा का स्थान बना लें और वहां पर हनुमान जी की मूर्ति स्थापित कर लें. उस दिन आपको मौन रखना है किसी से कोई भी बात नहीं करनी है. अब आप अपने उस स्थान पर जाकर बैठ जाये जहाँ आपको पूजा शुरू करनी है. उसके बाद सबसे पहले साधना में गणपति जी का समरण कर लें. "ॐ गं गणपतये नमः " गणपति समरण में इस मंत्र का जाप करना होता है इस मन्त्र को 108 बार जपें. इससे आपको अपने साधनाकाल में कोई परेशानी नहीं आएगी और आपकी सफलता का प्रयास और भी ज्यादा प्रभावशाली तरीके से काम करेगा.

यह सब करने के बाद लकड़ी का बाजोट का इस्तेमाल करें. इसे अपने सामने रख लें. अब लाल कपडा भी लेकर इसे लकड़ी के बाजोट पर बिछा दें और इसे इसके चरों और से बांध दें. इसके बाद स्टील की थाली का इस्तेमाल करें इसे उस बाजोट पर रख दें. इसके पश्चात जो गुलाब के पुष्प है उन्हें भी उस थाली में रख दें. हनुमान जी की विशिष्ट मूर्ति को भी उस थाली में ही रख दें. इसके बाद गंगाजल भी लें और उस गंगाजल को दूध, घी, शहद, शक्कर की मिश्रण भी उसले साथ कर लें. अब इस मिश्रित गंगाजल से हनुमान जी की मूर्ति को नहला दें. एक थाली और भी लें उसमे सिन्दूर का घोल बना लें. उस घोल से ॐ का निशान बना दें. अब उस पर पुष्प की पंखुडियां बिछाकर उस पर भी हनुमान जी की मूर्ति स्थापित कर दें. अब जो सिन्दूर का घोल बनाया हुआ है उस घोल से हनुमान जी की मूर्ति पर लेप कर दें. इसके बाद घी का दीपक जला दें और अगरबती भी जला कर हनुमान जी की मूर्ति के आगे लगा दें. इसके बाद सारे फूल हनुमान जी की मूर्ति पर चढ़ा दें साथ ही जनेऊ भी रख दें. इसके बाद साधना के लिए जो प्रसाद लिया है उसका फलों के साथ भोग लगा दें. यह क्रिया करने के बाद दक्षिणा भी दे दें. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POST ...
Sri Hanuman Practice for Presentational
Sri Hanuman Practice for Presentational
इसके बाद दाहिना हाथ में जल लें और अपनी आंख बांध करके हनुमान जी का जाप करें और उनसे प्रार्थना करें कि वे आपके अनुष्ठान या साधना को सफल बना दें. आपके मन में कोई इच्छा या कोई ऐसे काम जो आपको ख़ुशी दे उसे भी पूरा करने के लिए भी प्रार्थना करें. ऐसा करके जो अपने जल लिया है उसे धीरे धीरे जमीन पर गिरने दे. इसके बाद मुंगे की माला को लें और मंत्र के 151 जाप करें. इसके बाद हनुमान जी का ध्यान करें.

मन्त्र :

ॐ नमो हनुमंताय आवेशय आवेशय स्वाहा । ।

इस मन्त्र का जाप आपको करना है जाप होने के बाद हनुमान जी को प्रणाम करें. अपनी कोई इच्छा है तो उसे भी उनके समक्ष रखें. साधना में जो अपने सामग्री इस्तेमाल की है उसे वहीँ रहने दें और उसमे से थोड़े सा प्रसाद लेकर खुद ही खा लें और घर परिवार के सभी व्यक्तियों में बाँट दें.
Lord Hanuman Reveal
Lord Hanuman Reveal
यह बात आपको पहले भी बता दी गयी है कि सारे दिन मौन धारण करना है और मौन रखते हुए हनुमान जी का ध्यान करना है. इसके अलावा किसी भी प्रकार के गलत विचार या बात अपने से दूर रखें. इसके अलावा दिन में एक बार आपको ऐसे खाने का सेवन करना है जिसमे हल्दी और नमक ना हो. यह सब आपको 11 दिनों तक दोहराना है ऐसा करते रहे और अपना अनुष्ठान पूरा करें. जब आपका अनुष्ठान पूरा हो जाता है और सब काम नियमो के अनुरूप हुए है तो आपको हनुमान जी के दर्शन हो जायेंगे चाहे वे कोई दुसरे रूप में आपको दर्शन दें. तो आप इस साधना और ध्यान द्वारा हनुमान जी के दर्शन कर सकते है.

श्री हनुमान जी के साक्षात दर्शन करने या पूजन विधि को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.
बजरंग बली को कैसे जगायें
बजरंग बली को कैसे जगायें

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

10 comments:

  1. kripya pratakshya darshan ki vidi bataye vaibhavkpr57@gmail.com

    ReplyDelete
    Replies
    1. Ambrish Garg Ji,

      Upar Post mein Hanuman Pratyaksh Darshan Hetu Saadhna Vidhi or Mantra Donon Diye Gaye Hai, Agar aapko usmein kuch smajh nahi aa rha to aap vistar se batayen, aapki puri sahayta ki jaayegi.

      Sampark ke liye Dhanyavaad
      Jagran Today Team

      Delete
  2. Hi,
    Kya 11 dino tak Mon Rahna hai ya sirf Pahle din Mon rah kar, baki din apna kaam kr skte hai.
    Rojana 151 Jaap hone k baad kya kiya jaan chahiye. Pooja sthal se uthne ka koi niyam h ya Sidha uth skte hai.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Balwant Ji,

      Aapko 11 Dinon tak Maun Rahna hai, ye ek Vrat tpasya ki trah hai or 151 bar mantra jap ke baad aapko kuch der hanumaan ji ke dhyaan mein baithnaa hai, fir sabhi ko prasad baant kar Hanumaan Ji ko naman karke poojaa Smaapt Karni hai.

      Agar iske baad bhi aapko koi doubt rahta hai to aap dobara comment avashya karen.

      Sampark ke Liye Dhanyavaad
      Jagran Today Team

      Delete
  3. Replies
    1. Ji Haan Jaroor kar sakti hai Female bhi ...

      Delete
  4. Sir 11 din mon vrat rakhna padta hai kya. mai har samay pareshani me rahati hu, koi kam nahi banta mera har samay badhaye ati hai, paisebhi hat me nahi tikte ate hai jate hai. bahot problem me rahati hu padhai bhi nahi kar pati hu sir padhaime mann nahi lagta hai,muze mera sapna pura karna hai sir, bahot sochti hu par hotahi nahi, har samay jindagime mere takliff ati hai, mai roj hanuman chalisa padhti hu ratko sote samay sarsoka diya jalati hu, hanumanjiko sindur, chamelika tel,kevdeka attar, sab karti hu par koi marg nahi dikh raha hai, meri rashi kumbha hai sir, muze kya karna hoga bataiye mere problem pure khatam hone chaiye. app muze upay bataiye sir please mai karungi app jo upay batayenge wo thanku

    ReplyDelete
  5. किसी भी हालत में प्रत्यक्ष दर्शन साधना नहीं करनी चाहिए.कोई भी विधि संसार के सबसे पुजनीय देवता को उनकी इच्छा के बिना बाध्य नही कर सकती.सिर्फ भक्ति ही उनको प्रत्यक्ष करवा सकती है.मुर्ख और अज्ञानी लोगों के चक्कर मे अपनी जान ना गवांये.जय सियाराम

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका सुझाव बहुत ही कीमती और सत्य है साधक जी, बहुत श्रेष्ठ बात कही है आपने ....

      Delete
  6. Agar sankalpa lete waqt hum hanumanji ko ek brahman ki swaroop mein kisi mandir ya kisi sthan par darshan dene ke liye request karenge toh bhi kya jaan jane ka khatra hota hai?Please clarify

    ReplyDelete

ALL TIME HOT