इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Amrit Hai Gaay ka Purana Ghee | अमृत है गाय का पुराना घी | The Old Ghee of Cow is Nectar Amrita

गाय के घी के फायदे ( Benefits of Cow Ghee )
बेशक आज की युवा पीढ़ी आधुनिकरण की वजह से अपने ऋषि मुनियों के द्वारा दिए ज्ञान को भूल चुका हो किन्तु आज भी उनके ज्ञान का महत्व और उपयोगिता उतनी ही है. इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जिस बीमारी का इलाज आज का विज्ञान नहीं खोज पाता उसे हजारों साल पहले ऋषि मुनियों के आयुर्वेदिक उपायों से ठीक किया जा सकता है. यहीं नहीं हर वैज्ञानिक इस बात को मानता है और प्रमाणित करता है कि उनके द्वारा बताएं गए उपाय अतुलनीय और पुर्णतः लाभदायी है.

हमारे उन्ही पूर्वजों ने प्रकृति की मदद से ही हर रोग का निदान खोजा है और हमारे जीवन का आधार रखा है. आज हम आपको उनके दवा बताएं गए गाय के घी के महत्व, लाभ के बारे में बतायेंगे. ऐसे बहुत ही कम लोग है जो गाय के घी की गुणवत्ता से परिचित है किन्तु ये हमारे जीवन में खासा महत्व रखता है. CLICK HERE TO KNOW अदभुत अतुल्य गाय का घी ... 
Amrit Hai Gaay ka Purana Ghee
Amrit Hai Gaay ka Purana Ghee
§ गाय के घी से आहुति ( Offering by Cow Ghee ) : जब भी यज्ञ किये जाते है तो उसमें गाय के घी का ही इस्तेमाल किया जाता है इसका कारण ये है कि गाय के दूध से आहुति दी जाने से पर्यावरण शुद्ध होता है. वहीँ अगर गाय के घी में चावल मिलाकर आहुति दें तो इथिलीन ऑक्साइड और फाममोल्डिहाइड नाम की दो ऐसी यौगिक गैसें निकलती है जिनसे प्राण वायु की शुद्धि होती है. इस तरह ये दोनों गैस जीवाणुओं का नाश करती है और हमे स्वस्थ रखती है.

अगर आप हवन नहीं करा रहे और फिर भी वातावरण को शुद्ध रखना चाहते है तो आप किसी कटोरी में गाय के गोबर से बने उपले पर थोड़ी सामग्री और गाय का घी डालकर आहुतियाँ देकर भी घर और आसपास के वातावरण को साफ़, स्वच्छ और रोगाणुमुक्त बना सकते हो. जितनी दूर तक इसका धुँआ जाता है उतनी दूर तक सारा वातावरण कीटाणुओं से मुक्त हो जाता है. CLICK HERE TO KNOW स्वस्थ शरीर पाने के लिए ध्यान दें ... 
अमृत है गाय का पुराना घी
अमृत है गाय का पुराना घी
आज के समय में तो वैज्ञानिक वर्षा कराने के लिए तरह तरह की गैसों का इस्तेमाल करते है और खेतों की सिंचाई के लिए भूमि के जल का इस्तेमाल किया जाता है जबकि प्राचीन समय में इस तरह समय समय पर हवन होते रहते थे जिसके कारण वर्षा भी अपने आप ही होती रहती है. ये प्रदुषण को भी साफ करता है, जिससे रेडियोंधर्मी विकरणों से होने वाले दुष्परिणाम भी कम होते है. गाय के घी की एक ख़ास बात ये भी है कि जब 1 चम्मच गाय के घी को अग्नि में डाला जाता है तो उससे 1 टन ऑक्सीजन बनती है.

§ रोगों में गाय का घी ( Cow Ghee in the Disease ) : जिस तरह पुराना गुड अधिक लाभदायी होता है ठीक उसी तरह से पुराना गाय का घी भी अधिक फायदेमंद होता है. इस तरह उसके गुण बढ़ जाते है और वो सुनने की शक्ति, नेत्र शक्ति बढ़ता है. साथ ही वो ज्वर, खांसी, संग्रहणी, मस्तक रोग, मूर्छा, विष, उन्माद इत्यादि रोगन से बचाता है. अगर घी दस साल पुराना हो जाएँ तो उसे कोंच कहते है वहीँ इसके ग्यारह साल पुराने होने पर इसे महाघृत कहा जाता है.
The Old Ghee of Cow is Nectar Amrita
The Old Ghee of Cow is Nectar Amrita
§ स्मरण शक्ति ( Improve Memory Power ) : विद्यार्थियों के लिए गाय का घी बहुत लाभदायी होता है और ये उनकी स्मरण शक्ति को बढाने में काम आता है. इसलिए जब वे रात को सो जाएँ तो आप गाय के घी को गुनगुना गर्म करें और उसकी 2 बूंदें उसकी नाक में डाल दें. इस तरह घी उनके दिमाग को प्राणवायु देता है और सोचने समझने और तर्क करने की शक्ति को बढाता है. इस तरह मस्तिष्क चार्ज होता है

§ श्वास मार्ग खोलें ( Opens Breathing Path ) : वहीँ उपरलिखित उपाय को नियमित रूप से अपनाने पर श्वास के प्रवाह में कोई बाधा उत्पन्न नहीं होती. इससे रक्तस्त्राव, नाक रोग जैसे साइनस, शुष्कता, नाक से खून आना इत्यादि भी दूर होते है. इसके अलावा आप अपनी नाभि में भी थोडा सा घी अवश्य लगाए और हल्की मालिश करें. ये आपको त्वचा रोगों और बालों के झड़ने से बचाता है.

§ जवान बनाएं ( Keeps You Young ) : अगर आपको कोई देशी काली गाय मिल जाए तो उसके दूध का घी खाना आरम्भ कर दें क्योकि ये बुद्धे व्यक्ति में भी जवानी फूंक देता है और उसके चेहरे पर ऐसा तेज लाता है कि देखने वाला उसे जवान बताता है. इसीलिए कुछ लोग गाय के घी को रासायन भी मानते है. अगर रात को सोने से पहले घी से पैरों के तलवों की मालिश की जाएँ तो उससे शांत और अच्छी नींद भी आती है.
गौ के घी के अतुलनीय लाभ
गौ के घी के अतुलनीय लाभ
§ कैंसर से लड़े ( Fights with Cancer ) : क्योकि गाय के दूध में ब्यूट्रिक एसिड, बीटा कैरोटिन, वैक्सीन एसिड जैसे माइक्रोन्यूट्रीएंट्स होते है तो इसका सेवन शरीर में एक ऐसी शक्ति को उत्पन्न करता है जो कैंसर से लड़ने में सक्षम होती है. साथ ही ये शक्ति अन्य रोगों से लड़ने के भी काम आती है.

§ स्वर्ण छार ( Contain Gold Ash ) : आपको बता दें कि गाय के घी में स्वर्ण छार भी पाया जाता है. जो इसे एक अदभुत औषधीय गुण प्रदान करता है. तो जो भी व्यक्ति गाय के घी का सेवन करता है उसका शरीर बलशाली, रोगमुक्ति हो जाता है, साथ ही उसका दिमाग तीव्र और आँखों की रौशनी बनती है.

अदभुत अतुल्य लाभदायी गाय के घी के अन्य लाभ फायदे और रोगों में इसके प्रयोग के बारे में जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Adbhut Atulya Gaay ka Ghee
Adbhut Atulya Gaay ka Ghee

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT