इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Prithvi Mudraa or Uske Labh | पृथ्वी मुद्रा और उसके लाभ | Earth Posture and its Benefits

पृथ्वी मुद्रा के चिकित्सकीय लाभ ( Health Benefits of Earth Posture ) :
हर मुद्रा का अपना एक महत्व है ठीक उसी प्रकार पृथ्वी मुद्रा भी सभी मुद्राओं में अहम है क्योकि ये  शरीर के पृथ्वी तत्व का जागरण करने में सहायक होती है. योग के अनुसार हमारे शरीर में दो नाडी होती है पहली सूर्य नाडी और दूसरी चन्द्र नाडी और जब इस मुद्रा को किया जाता है तो सूर्य नाडी और स्वर पर दबाव पड़ता है और वे सक्रिय हो जाते है. जिनके प्रभाव से ये मुद्रा शरीर को रोगों से दूर रखने में सहायक होती है. इस मुद्रा के ऐसे ही कुछ चिकित्सकीय लाभ निम्नलिखित है. CLICK HERE TO KNOW रोज 15 मिनट पृथ्वी मुद्रा से फ्री में वजन बढ़ाएं ... 
Prithvi Mudraa or Uske Labh
Prithvi Mudraa or Uske Labh
§  पाचन शक्ति बढाये ( Increases Digestive Power ) : पृथ्वी मुद्रा के अनेक लाभ होते है किन्तु इसका अभ्यास मुख्यतः शान्ति और वजन बढाने के लिए किया जाता है ताकि शरीर का पोषण हो सके. लेकिन शरीर का पोषण तो तभी होगा ना जब पाचन तंत्र ठीक तरह कार्य करें इसीलिए ये मुद्रा पहले पाचन तंत्र को सही करती है और भोजन को पचाने में सहायक होती है. अगर किसी व्यक्ति को गैस रोग की समस्या हो तो उसे रोजाना 5 मिनट तक इस मुद्रा का अभ्यास अवश्य करना चाहियें.

§  वजन बढाये ( Increases Weight ) : वैसे तो ये मुद्रा कई रोगों में लाभदायी होती है किन्तु अधिकतर लोग इसे करते ही इसलिए है ताकि वजन बढाया जा सके. ना सिर्फ वजन बल्कि शरीर की शुष्कता को दूर करने और ठोस तत्वों को बढाने में भी पृथ्वी मुद्रा को सर्वोत्तम माना जाता है. 

§  आँख, नाक, कान के रोगों से छुटकारा ( Removes Eye Nose and Ear Problems Diseases ) : माना जाता है कि इसके निरंतर अभ्यास से आँखों की रौशनी बढ़ने लगती है और नाक, कान के भी सारे रोग स्वतः ही दूर हो जाते है. CLICK HERE TO KNOW देशी तरीकों से वजन बढायें ... 
पृथ्वी मुद्रा और उसके लाभ
पृथ्वी मुद्रा और उसके लाभ
§  कंठ सुरीला करे ( Make Your Voice Sweet ) : अगर आप इस मुद्रा के दौरान ॐ का जप भी करना आरम्भ कर दें तो आपकी आवाज सुरीली हो जाती है और आपको आध्यात्म की भी प्राप्ति होती है.

§  खराश दूर करे ( Removes Cough ) : ॐ का जप ना सिर्फ कंठ को सुरीला बनाता है बल्कि गले की खराश और गले के अन्य रोगों से भी निजात दिलाने में सहायक होता है.

§  मन शांत करें ( Keeps Mind and Soul Calm and Relaxed ) : शरीर का पोषण कर ये शरीर को बलशाली और ताकतवर अवश्य बनाता है साथ ही इसका अभ्यास आपके मन को एक ख़ास शान्ति और हल्कापन भी महसूस कराता है जिससे आप अपनी ताकत और बल का गलत उपयोग नहीं करते और आवश्यकता पर ही उसका प्रदर्शन करते हो.

§  खुबसूरत बनाएं ( Makes Look Beautiful and Handsome ) : जब पाचन तंत्र स्वस्थ होता है तो वो खाने से सभी पौषक तत्वों को लेता है और ये सभी पौषक तत्व सीधे खून में मिलते है ताकि हर पौषक तत्व खून के साथ शरीर के हर हिस्से तक पहुँच सके और जब शरीर के हर हिस्से को जरूरी पौषक तत्व मिल जाते है तो शरीर स्वस्थ होने के साथ साथ खुबसूरत बेदाग़ और आकर्षक बन जाता है, चेहरे पर एक तेज बन जाता है जिससे लोग प्रभावित होकर आपके समीप रहने लगते है, आपके मित्र बन जाते है.
Earth Posture and its Benefits
Earth Posture and its Benefits
§  स्मरण शक्ति बढ़ाये ( Increase Memory Power ) : जैसाकि हमने पहले भी बताया कि ये मन को शांति प्रदान करता है और जब मन शांत रहता है तो मस्तिष्क पर अधिक दबाव नहीं पड़ता और जब मस्तिष्क पर दबाव नहीं पड़ता तो उसकी ऊर्जा व कार्यक्षमता दोनों बढ़ जाती है जो स्मरण शक्ति बढाने में सहायक होती है.

§  विचारों को उत्तम बनाएं ( Make Your Thoughts Good ) : आप स्वयं देखते है कि पृथ्वी माता हर मौसम ( चाहे वो सर्दी हो, गर्मी या बरसात ) को सहन करती है. हमारा पोषण करती है और हम सब अपने मल मूत्र से उन्हें गन्दा भी कर देते है लेकिन फिर भी माता हम सभी को क्षमा कर देती है. ये उनके सरल और श्रेष्ठ स्वभाव का प्रतिक है. पृथ्वी मुद्रा का अभ्यास करने वाले व्यक्तियों के स्वभाव में भी ऐसे ही गुण शामिल हो जाते है और वे ना सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक रूप से भी विकास करने लगते है.

पृथ्वी मुद्रा से होने वाले अन्य स्वास्थय लाभ और फायदों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.
संयम और सहनशील बनाएं पृथ्वी मुद्रा
संयम और सहनशील बनाएं पृथ्वी मुद्रा

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT