इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

America mein Shree Yantra Jiska Rahasya Koi Nahi Jaan Paya | अमेरिका में श्री यंत्र जिसका रहस्य कोई नहीं जान पाया

एलियंस ने बनाया अमेरिका में श्री यंत्र
दोस्तों अमेरिका विश्व में सबसे अधिक विकसित और आधुनिक देश है और यहाँ रोजाना नयी नयी खोजें और एक्सपेरिमेंट होते रहते है, इसीलिए अमेरिका से जुडी न जाने कितनी ही विचित्र ख़बरें आती रहती है. कभी खबर आती है कि यहाँ एलियन मिला है, तो कभी यहाँ एलियंस का स्पेस शिप ही मिल जाता है, कभी कोई आदमी गायब हो जाता है तो कभी पूरी वैज्ञानिक की टीम. इसके अलावा अमेरिका के कई हिस्सों में जमीन पर कुछ ऐसे डिजाईन भी मिले है जिनकी बनावट सबको हैरान कर देती है. ऐसा ही एक डिजाईन अमेरिका में मिला है, जो दिखने में हुबहू हिन्दुओं के पवित्र श्री यंत्र के जैसा है, ये डिजाईन वहाँ कैसे आया या किसने बनाया ये अभी भी एक अनसुलझी पहली है. लेकिन चलिए इसके बारे में विस्तार से जानते है कि आखिर ये है क्या.  CLICK HERE TO KNOW ऐसे झूठ जिनपर हम आज भी विश्वास करते है ...
अमेरिका में श्री यंत्र जिसका रहस्य कोई नहीं जान पाया
अमेरिका में श्री यंत्र जिसका रहस्य कोई नहीं जान पाया
अमेरिका में मिला श्री यंत्र :
10 अगस्त सन 1990 में इडाहो एयर नेशनल गार्ड के पायलेट सर बिल मिलर, प्रशिक्षण के लिए अपनी नियमित उड़ान भर रहे थे. तभी उनकी नजर ऑरेगोन जगह की सुखी झील पर पड़ी और उन्होंने एक विचित्र सी दिखने वाली आकृति देखी. ये आकृति करीब ¼ मील लम्बी और इतनी ही चौड़ी थी, साथ ही वो धरती में 3 इंच की गहराई में धंसी हुई थी. चौकाने वाली बात ये है कि बिल ने बताया कि वो उसी रस्ते थे 30 मिनट पहले भी गए थे लेकिन तब उस जगह वो आकृति नहीं थी. साथ ही रोज ना जाने कितने ही पायलेट उसी रस्ते से जाते है, उन्होंने भी पहले कभी उस आकृति को वहाँ नहीं देखा और वो आकृति इतनी बड़ी है कि कोई पायलेट उसे ना देखे, ऐसा हो नही सकता.

बिल मिलर की रिपोर्ट :
बिल मिलर उस वक़्त सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर भी कार्यरत थे, इसलिए उन्होंने तुरंत एक रिपोर्ट बनाई और अपने उच्च अधिकारियों के पास भेजा. रिपोर्ट में उन्होंने लिखा कि ऑरेगोन इलाके की सिटी ऑफ़ बर्न्स से लगभग 70 मिल की दुरी पर एक झील है जिसकी चट्टानों पर एक चौका देने वाली रहस्यमयी आकृति बनी हुई है. उन्होंने रिपोर्ट में आगे लिखा कि ये आकृति बहुत बड़ी और दिखने में कोई मशीन लगती है क्योकि इसे कई लकीरों से बनाया गया है.

खबर को लोगों से छुपाया गया :
बिल की रिपोर्ट के बाद तुरंत उस इलाके में खोज बीन शुरू हो गयी, लेकिन इस खबर को आम जनता से 30 दिनों तक छुपाकर रखा गया ताकि उस जगह पर लोगों की भीड़ जमा ना हो और उन्हें काम करने में परेशानी ना हो. 12 सितम्बर सन 1990 में आखिरकार प्रेस के जरिये इस खबर को लोगों तक पहुंचाया गया और जैसे ही लोगों ने खबर सुनी, उसी वक़्त उस जगह पर लोगों की भीड़ जमा होने लगी. जब लोगों ने उस रहस्यमयी आकृति को देखा तो उनमे से कई लोगों ने उसे पहचान लिया कि ये आकृति हिन्दूओं के पवित्र श्री यंत्र की है. लेकिन किसी के पास इस बात का जवाब नहीं था कि आखिर इतनी बड़ी श्री यंत्र की आकृति इस जगह कैसे आई, क्यों आई और कब आई?
America mein Shree Yantra Jiska Rahasya Koi Nahi Jaan Paya
America mein Shree Yantra Jiska Rahasya Koi Nahi Jaan Paya
श्री यंत्र की बनावट से सब हुए हैरान :  
जैसे ही मीडिया ने इस खबर को दिखाना शुरू किया तो श्री यंत्र के बारे में चर्चाएँ बढ़ने लगी. कुछ समाचार वालों ने तो इंजिनियरस, पुरातत्वविदों और वास्तुविदों तक को बुला लिया, लेकिन सब इतनी बड़ी श्री यंत्र की आकृति को देखकर हैरान थे. उनका कहना था कि ये आकृति इतनी बड़ी है कि अगर सिर्फ इसका सर्वे भी किया जाए तब भी 1 लाख डॉलर का खर्चा आ जाएगा और जिस तरह इसकी कठिन बनावट व डिजाईन है उसे इस तरह की सुखी झील में और आधे मील के एरिया में बनाने में कई महीने लग जायेगें. लेकिन ये विशाल आकृति अचानक यहाँ कैसे आई इसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता, उन्होंने कहा ये मनुष्य का तो काम नहीं है शायद एलियंस ने ही इसे बनाया होगा.

UFO रीसर्चर्स ने किया श्री यंत्र का दौरा :
जब कोई भी वैज्ञानिक, पुरातत्वविद, प्रोफ़ेसर, आस्तिक और नासिक इस घटना को समझ नहीं पाए और कोई स्टिक जवाब नहीं दे पाए तो उस जगह श्री यंत्र पर रिसर्च करने के लिए UFO रीसर्चर्स को बुलवाया गया. जिनके 2 वैज्ञानिकों ने 15 सितम्बर को उस जगह पर अपनी रिसर्च शुरू की. रिसर्च के बाद उन्होंने अपनी रिपोर्ट तैयार की, जिमसें उन्होंने बताया कि उस जगह पर ना तो किसी मशीन के निशान थे ना ही किसी गाडी के टायर के, ना ही कोई ऐसा सबुत मिला जिससे ये पता लग सके कि इस आकृति को इंसानों ने बनाया हो.

A Symbol on the Oregon Desert :
इसीलिए अंत में इस घटना को एलियंस से संबंधित घोषित कर दिया. इस रिसर्च पर ऑरेगोन यूनिवर्सिटी के डॉक्टर जेम्स देदरोफ ने एक UFO और एलियंस से रिलेटेड पेपर भी लिखा गया जिसका टाइटल  A Symbol on the Oregon Desert दिया गया और इस पेपर को 1991 में प्रकाशित भी क्या गया. अपने पेपर में उन्होंने लिखा कि अमेरिकी सरकार, साइंटिस्ट्स और रीसर्चर्स अंत तक ये पता नहीं लगा पाए कि आखिर श्री यंत्र जैसी दिखने वाली वो आकृति कैसे आई और कैसे बनी. हालाँकि कुछ ऐसे लोग भी थे जो इस खबर को झूठा बताते थे और कह रहे थे कि ये आकृति इंसानों ने ही बनाई थी. अपनी बात को सिद्ध करने के लिए उन्होंने इस आकृति को बनाने की कोशिश भी की लेकिन अपनी पूरी क्षमता, धन, मशीन और आदमी लगाने के बाद भी वे आधे श्री यंत्र की आकृति भी नहीं बना पाए और जितनी भी बनाई वो भी गलत बनाई.
Hindu Shree Yantra America Mein NASA bhi Hairan
Hindu Shree Yantra America Mein NASA bhi Hairan
अमेरिका में मिले श्री यंत्र या उससे जुड़े किसी भी सवाल के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी  हासिल कर सकते हो.



YOU MAY ALSO LIKE



Hindu Shree Yantra America Mein NASA bhi Hairan, America mein Aliens ne Kyo Banaya Shree Yantra, America mein Mila Shree Yantra, A Symbol on the Oregon Desert, Kahan se Aaya USA mein Shree Yantra

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT