इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Credit Card ko Karen Lock Unlock Seedhe Apne Mobile Phone Se | क्रेडिट कार्ड को करें लॉक अनलॉक सीधे अपने मोबाइल फ़ोन से

फ़ोन से करें अपने डेबिट कार्ड को ऑन या ऑफ
हम सभी क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड इस्तेमाल करते है और अपने डेबिट कार्ड को अपनी जान से भी ज्यादा संभाल कर रखते है क्योकि डेबिट कार्ड से ही हम पैसे निकाल पाते है या अपनी बाकी पेमेंट कर पाते है. ऐसे में जब कभी हमारा डेबिट या क्रेडिट कार्ड खो जाता है तो उसे जल्द से जल्द बंद कराना पड़ता है, जिसके लिए हमे जल्द से जल्द बैंक जाना पड़ता था ताकि कोई आपके पैसे ना निकाल ले या आपके डेबिट कार्ड का गलत इस्तेमाल ना कर लें.  CLICK HERE TO KNOW भविष्य में आने वाली गजब की 8 तकनीक ...
क्रेडिट कार्ड को करें लॉक अनलॉक सीधे अपने मोबाइल फ़ोन से
क्रेडिट कार्ड को करें लॉक अनलॉक सीधे अपने मोबाइल फ़ोन से
धोखाधड़ी से मिलेगा छुटकारा :
लेकिन इसी तरह की धोखाधड़ी से बचने के लिए एक नयी सेवा और टेक्नोलॉजी को तैयार किया गया है जिसके जरिये आप खुद जब चाहे तब अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड को बंद या ऑन कर सकते हो वो भी अपने मोबाइल से. इस टेक्नोलॉजी के आने के बाद ना तो आपको अपने डेबिट कार्ड के खोने की चिंता सताएगी और ना ही पैसे निकाले जाने की.

बनाई गयी है एक एप्लीकेशन :
अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड को मोबाइल से ऑन या ऑफ़ करने के लिए आपको बस अपने फ़ोन में एक मोबाइल एप्लीकेशन को इनस्टॉल करना होगा. जिसके बाद आप अपने मोबाइल या उसके थ्रू वौइस् कॉल करके भी इस सेवा का इस्तेमाल कर सकते हो.
Credit Card ko Karen Lock Unlock Seedhe Apne Mobile Phone Se
Credit Card ko Karen Lock Unlock Seedhe Apne Mobile Phone Se
हाल ही में एटीएम टेक्नोलॉजीज ने एक आंकड़ा साझा किया है जिसके अनुसार 21 दिसम्बर 2017 तक क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड से धोखाधड़ी के 25,800 मामले दर्ज हुए थे और इन सभी मामलों में कुल मिलाकर 179 करोड़ रुपये की लूट हुई थी. यही वजह है कि बहुत सारे लोग डिजिटल तरीके से भुगतान करने से कतराते है.

कैसे बनी ये तकनीक :
इस तकनीक को एक ऑस्ट्रलियाई प्रोद्योगिकी कंपनी के साथ मिलकर तैयार किया गया है और इसका नाम ई-शील्ड रखा गया है. ये तकनीक भारत में पहली बार अपनाई जायेगी. जिसमें अगर आपने 1 बार कार्ड को ऑफ़ कर दिया तो ना तो आप इंटरनेट बैंकिंग यूज कर पाओगे, ना ही ATM, ना POS मशीन और ना ही कोई अन्य पैसों के भुगतान का माध्यम. और अगर आपको इनमे से किसी भी सुविधा को यूज करना है तो आपको अपने कार्ड को दोबारा से ऑन करना पड़ेगा, तभी आप उसका इस्तेमाल कर पाओगे.

एटम टेक्नोलॉजीज के मुख्य श्री देवांग नेरल्ला ने इस तकनीक को सभी के लिए विशेष बताया. उनके अनुसार ये तकनीक ना सिर्फ हमे धोखाधड़ी करने वालों से बचाएगी बल्कि ग्राहकों को सशक्त भी बनाएगी और बैंकों की जिम्मेदारी को भी काफी कम करेगी. इससे सुरक्षा पर होने वाली लागत में भी कमी आएगी. इस तरह देखा जाए तो ये तकनीक कई मामलों में हमारे और बैंकों के लिए फायदेमंद होने वाली है. बस अब इंतजार है तो सिर्फ इसके अप्लाई होने का.
Apne Credit Card ko Apne Phone se Karen On Aur Off
Apne Credit Card ko Apne Phone se Karen On Aur Off


Apne Credit Card ko Apne Phone se Karen On Aur Off, Ab Mobile App se Band Ya Chalu Karen Apne Credit ya Debit Card ko, Ab Nahi Rahega Debit Card ke Khone ka Dar, E-Shild Application for Debit Card

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT