इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Real Estate Service

Cat and Mouse Tale A Political Story - कभी मित्र कभी घोर शत्रु एक चूहे बिल्ली की कहानी Chuhe Billi ki Kahani

कभी मित्र कभी घोर शत्रु  एक चूहे बिल्ली की कहानी - Cat and Mouse Tale A Polotical Story - Chuhe Billi ki Kahani आजकल बहुत बड़ा भोचाल आ...

Kamar Dard ka Ayurvedic Ilaaj | कमर दर्द का आयुर्वेदिक इलाज | Ayurvedic Treatment for Back Pain

हमारे शरीर के विभिन्न भागों में अनेक प्रकार की बीमारियां होती रहती हैं. जिसके परिणाम स्वरूप कई बार शरीर में दर्द भी हो जाता हैं. शरीर के किसी भी भाग में दर्द होने पर हमारे शरीर में बेचैनी हो जाती हैं. शरीर के किसी भी भाग में दर्द होने पर हम अक्सर दर्द से राहत पाने के लिए दर्द की टेबलेट (PAINKILLER ) का सेवन करते हैं. जिनका सेवन करने से  कभी – कभी हमारे शरीर पर इन दवाइयों का अतिरिक्त प्रभाव भी पड़ जाता हैं. अधिक पेनकिलर का सेवन करने से हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों जैसे दिल, लीवर व किडनी में रोग उत्पन्न होने की आशंका रहती हैं. आधुनिक चिकित्सा की दवाइयों को खाने से दर्द तो आराम हो जाता हैं. लेकिन एक दर्द को ठीक करने के चक्कर में शरीर में अनेक रोग उपज जाते हैं. जिससे नुकसान हमारे शरीर का ही होता हैं. इसलिए जरूरत से ज्यादा दवाइयों का सेवन नहीं करना चाहिए . अगर आपके शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द हो तो आप उसे ठीक करने के लिए घरेलू उपायों को अपना सकते हैं. घरेलू उपायों को अपनाने से किसी भी प्रकार के अतिरिक्त प्रभाव के शरीर पर पड़ने का भी भय नहीं रहता. कमर, पसली व पीठ के असहनीय दर्द को ठीक करने के लिए भी आप कुछ आसान घरेलू उपायों का प्रयोग करके दर्द से राहत पा सकते हैं.

कमर दर्द को ठीक कैसे करें
अधिकतर कमर दर्द की समस्या दिन भर काम करने वाली ग्रहणियों को होती हैं. लेकिन हम यह बिल्कुल निश्चित होकर नहीं कह सकते. कमर के दर्द की समस्या से आजकल हर उम्र का व्यक्ति परेशान रहता हैं. आजकल बच्चों से लेकर बड़े – बूढों को भी कमर दर्द की शिकायत होती हैं.  CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
Kamar Dard ka Ayurvedic Ilaaj
Kamar Dard ka Ayurvedic Ilaaj
कमर में दर्द होने के कारण
कमर में दर्द होने का कारण अधिक देर तक एक ही अवस्था में बैठकर काम करना भी हो सकता हैं. भारी वजन उठाने के कारण मांसपेशियों में अधिक खिचावं आ जाता हैं. जिससे कमर में दर्द हो जाता हैं. हमेशा ऊँची ऐडी की सेंडिल या जूतों को पहनने के कारण भी कमर में दर्द हो जाता हैं. कभी - कभी अधिक नर्म गद्दों पर सोने से भी कमर में दर्द की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं. अधिक देर तक ड्राइव करने के कारण भी लोगों को कमर में दर्द की शिकायत हो जाती हैं. बुजुर्गों के कमर में दर्द बढ़ती उम्र के कारण हो जाता हैं. जैसे – जैसे वृद्ध लोगों की उम्र बढती जाती हैं. वैसे ही उनके जोड़ों में दर्द, कमर में दर्द तथा पीठ के दर्द की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं. 

कमर के दर्द के लक्षण
ज्यादातर लोगों की कमर के निचले तथा मध्य हिस्से में ज्यादा दर्द होता हैं. कमर का दर्द कई लोगों के कमर के दोनों ओर तथा कूल्हों में भी होता हैं. जिससे किसी भी काम को करने में बहुत ही परेशानी होती हैं.

कमर के दर्द के उपचार
कमर में दर्द होने पर आप कुछ घरेलू उपायों का उपयोग करके इस दर्द से राहत पा सकते हैं. जो की निम्नलिखित हैं – CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
 
कमर दर्द का आयुर्वेदिक इलाज
कमर दर्द का आयुर्वेदिक इलाज
1.    कमर के दर्द को दूर करने के लिए 500 ग्राम धतूरे के पत्तों का रस लें. 15 ग्राम अफीम लें. 5 ग्राम सेंधा नमक लें. अब इन तीनों को मिलाकर एक गाढ़ा मिश्रण तैयार कर लें. कमर के दर्द को दूर करने के लिए इस मिश्रण से दिन में 4 या 5 बार मालिश करें. आपको कमर के दर्द से आराम मिलेगा.

2.    कमर के दर्द से राहत पाने के लिए आप कमल ककड़ी के चुर्ण का भी प्रयोग कर सकते हैं. इसके लिए 100 ग्राम कमल ककड़ी का चुर्ण लें. अब एक बर्तन में दूध डाले और उसे उबालने के लिए रख दे. अब कमल ककड़ी के चुर्ण को दूध में डालकर थोड़ी देर पका लें. अब दूध का सेवन करें. इस दूध का सेवन करने से कमर के दर्द में काफी राहत मिलेगी.

3.    सोंठ और गोखरू का प्रयोग करने से भी कमर का दर्द ठीक हो जाता हैं. कमर के दर्द को ठीक करने के लिए गोखरू और सोंठ की बराबर – बराबर मात्रा लें और इनका क्वाथ बना लें. अब इस क्वाथ का सेवन करें. सोंठ और गोखरू से बने क्वाथ को दिन में दो बार पीने से कमर का दर्द ठीक हो जायेगा.

4.    सोंठ और अरंड मूल का क्वाथ बनाकर पीने से भी कमर का दर्द ठीक हो जाता हैं. कमर के दर्द को ठीक करने के लिए सोंठ और अरंड मूल का क्वाथ बना लें. फिर इसमें पीसी हुई हिंग और काला नमक डालें और इन्हें अच्छी तरह मिला लें. अब इसका सेवन करें. सोंठ और अरंड मूल के क्वाथ का सेवन करने से आपको कमर के दर्द से छुटकारा मिलेगा.

5.    अजवायन और गुड़ का उपयोग करके भी कमर के दर्द से राहत पाई जा सकती हैं. इसके लिए 200 ग्राम अजवायन लें और उसे पीस लें. अब 200 ग्राम गुड़ लें और उसे भी पीस लें. अब एक डिब्बा ले और उसमें इन दोनों के चुर्ण को डालकर रख दें. रोजाना एक चम्मच चुर्ण का सेवन करें. कमर के दर्द को जल्दी दूर करने के लिए इस चुर्ण का दिन में दो बार सेवन करें.

कमर के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप खजूर और मेथी के दानों का प्रयोग कर सकते हैं. कमर के दर्द को दूर करने के लिए 10 ग्राम खजूर को पानी में डालकर उबाल लें. अब 4 ग्राम मेथी लें और उसे पीस लें. उबले हुए खजूर के पानी में मेथी के चुर्ण को मिलाकर इसका सेवन करें. खजूर और मेथी के मिश्रण को पीने से कमर दर्द ठीक हो जायेगा.
 
Ayurvedic Treatment for Back Pain
Ayurvedic Treatment for Back Pain


 Kamar Dard ka Ayurvedic Ilaaj, कमर दर्द का आयुर्वेदिक इलाज, Ayurvedic Treatment for Back Pain, Back Pain Reason Symptom Remedies, Kamar Dard ke karan lakshan or Deshi upchaar, कमर दर्द के लक्षण कारण और देशी उपचार.



YOU MAY ALSO LIKE 

शुभ बिल्वपत्र के उपाय और औषधीय गुण
वास्तुशास्त्र के अनुसार कब क्या और कैसे करें
- क्रोध या गुस्से को नियंत्रित करने के मनोवैज्ञानिक तरीके
- गाने डाउनलोड कैसे करें
- घरेलू परेशानियों के सरल उपाय
- परिवार की मुख्य समस्याओं के समाधान

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

  1. Thanks for sharing your post.You can try herbal supplement like hashmi painazone capsule. It is both safe and effective.

    ReplyDelete

ALL TIME HOT