इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Real Estate Service

Cat and Mouse Tale A Political Story - कभी मित्र कभी घोर शत्रु एक चूहे बिल्ली की कहानी Chuhe Billi ki Kahani

कभी मित्र कभी घोर शत्रु  एक चूहे बिल्ली की कहानी - Cat and Mouse Tale A Polotical Story - Chuhe Billi ki Kahani आजकल बहुत बड़ा भोचाल आ...

Sftik Ki Rasaynik Sanrachna Aur Usse Bni Vastuen | स्फटिक की रासायनिक संरचना

स्फटिक की कीमत और उसकी रासायनिक संरचना

स्फटिक क्या हैं.
स्फटिक एक रंगहीन, पारदर्शी, निर्मल और शीत प्रभाव वाला एक उपरत्न हैं. स्फटिक सामान्यतौर पर एक काँच के जैसा लगता हैं किन्तु यह काँच की तुलना में ज्यादा दीर्घजीवी होता हैं. काँच की कटाई की तुलना में इसमें अधिक कोण होते हैं. स्फटिक को हीरे के एक उपरत्न के रूप में भी जाना जाता है.

स्फटिक की रासायनिक रचना -:
स्फटिक की रायायनिक संरचना सिलिकॉन डाइऑक्साइड ( Silicon Dioxide ) रसायन से हुई हैं.

स्फटिक के लिए प्रयोग किये जाने वाले शब्द -
स्फटिक के लिए अनेक शब्दों का प्रयोग किया जाता हैं. इसे सफेद बिल्लौर के नाम से जाना जाता हैं. अंग्रेजी भाषा में इसके लिए रॉक (rock) तथा क्रिस्टल शब्द का प्रयोग किया जाता हैं. अंग्रेजी में स्फटिक के लिए क्वार्टज क्रिस्टल ( Quartz Crystal ), प्योर स्नो ( Pure Crystal ) तथा व्हाइट क्रिस्टल ( White Crystal ) आदि शब्दों का भी इस्तेमाल किया जाता हैं. तो वहीं संस्कृत भाषा में इसके लिए सितोपल, शिवप्रिय, कांचमणि और फिटक आदि शब्दों का प्रयोग किया जाता हैं. इसे फिटकरी के नाम से भी जाना जाता हैं. स्फटिक को बर्फ के पत्थर के रूप में भी जाना जाता हैं तथा यह स्फटिक बर्फ के पहाड़ों के नीचे बर्फ के टुकड़े के रूप में मिलता हैं. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POST ...
Sftik Ki  Rasaynik Sanrachna Aur Usse Bni Vastuen
Sftik Ki  Rasaynik Sanrachna Aur Usse Bni Vastuen 
स्फटिक की कीमत -:
स्फटिक की कीमत 10 से 20 रूपये प्रति कैरेट हैं इसलिए इसे कोई भी व्यक्ति आसानी से खरीदकर धारण कर सकता हैं.

स्फटिक से बनी से बनी वस्तुएं -:
1.       स्फटिक का प्रयोग माला और नग के रूप में किया जाता हैं. परन्तु व्यक्ति इसका प्रयोग माला के रूप में अधिक करते हैं. स्फटिक की माला को लक्ष्मी जी का रूप माना जाता हैं.

2.       स्फटिक कई प्रकार और आकार में मिलता हैं. स्फटिक के मणकों की माला फैशन और हीलिंग पावर्स दोनों के लिहाज से काफी लोकप्रिय हैं.

3.       स्फटिक का प्रयोग शिव की पूजा – अराधना करने के लिए शिवलिंग बनाने के लिए भी किया जाता हैं.

4.       स्फटिक का इस्तेमाल ब्रेसलेट बनाने के लिए भी किया जाता हैं. ब्रेसलेट बनाने के लिए रुद्राक्ष तथा मूंगा का प्रयोग स्फटिक के साथ किया जाता हैं. लोग स्फटिक के ब्रेसलेट को पहनना बहुत ही पसंद करते हैं. स्फटिक के ब्रेसलेट को भय, डर आदि से मुक्त होने के लिए भी पहना जाता हैं.
CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POST ...
स्फटिक की रासायनिक संरचना
स्फटिक की रासायनिक संरचना  


5.       स्फटिक का प्रयोग शंख बनाने के लिए भी किया जाता हैं.

6.       स्फटिक से श्रीयंत्र भी बनता हैं. इसका प्रयोग पूजा अर्चना के लिए किया जाता हैं.

7.       स्फटिक की मूर्तियों का प्रयोग मूर्तियों को बनाने के लिए भी किया जाता हैं.

8.       स्फटिक का प्रयोग पिरामिड बनाने के लिए भी किया जाता हैं.

 स्फटिक बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते है.
स्फटिक से बनी से बनी वस्तुएं
स्फटिक से बनी से बनी वस्तुएं 

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT